‘इनसाइड एज’ में वेतन समानता की वकालत करती है ऋचा चड्ढा

1 min


इनसाइड एज

अमेज़न प्राइम के हिट शो ‘इनसाइड एज’ ने अपना दूसरा सीजन जारी किया जिसमें निर्माताओं ने आश्चर्यजनक रूप से  लैंगिक तौर पर इसे बैलेंस्ड रखा। क्रिकेट की दुनिया पर आधारित इस शो में पुरुष बनाम महिलाओं के समीकरण को  समान तरीके से पैदा करने की कोशिश की गयी है। आखिर पुरुष महिलाओं से ज्यादा पैसे क्यों कमाते हैं? जवाब आता है कि हर क्षेत्र में महिलाओं को करने के लिए कुछ खास होता नहीं है। लेकिन कंटेंट क्षेत्र में अब महिला पात्रों को बेहतर ढंग से प्रस्तुत करना शुरू कर दिया है, जैसे ‘इनसाइड एज’ में किया गया। इसमें नायिका ज़रीन की भूमिका निभा रही रिचा चड्ढा कहती है, “सदियों से चले आ रहे पुरुष और महिलाओं के बीच पारिश्रमिक की विसंगतियों पर अब प्रश्न उठाया जा रहा है। अब भी बॉलीवुड में महिलाओं को पुरुष एक्टर्स से कम भुगतान किया जाता है। हालांकि मुझे ओटीपी वर्ल्ड में ये बदलाव दिखाई दे रहा है कि अब ऐसी कहानियां लिखी जाने लगी हैं जहां इन मुद्दों पर बहस के जरिए स्थितियों में बदलाव किया जा रहा है। इस शो के दूसरे सीजन में इसी विषय को रेखांकित करते हुए नायिका जरीन के व्यक्तित्व में बदलाव नज़र आता है। मुझे ख़ुशी है कि मैं ऐसे लोगों के साथ काम कर रही हूं जिनका मानना है कि पारिश्रमिक के लिए योग्यता ही एकमात्र पैमाना होना चाहिए।”

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.


Like it? Share with your friends!

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये