“निजी जीवन में मैं भी नंदिनी की ही तरह आजाद हूं” – ऋृचा राठौर

1 min


‘कुमकुम भाग्य’,‘दिव्य दृष्टि’, ‘नागिन’ और ‘राधा कृष्ण’ जैसे सीरियलों में अपने अभिनय का जलवा विखेरने के बाद ऋचा राठौर इन दिनों निर्माता सोनाली जाफर और आमिर जाफर के ‘स्टार प्लस’पर प्रसारित हो रहे टीवी सीरियल ‘‘आपकी नजरों ने समझा’’को लेकर काफी चर्चा में है। इसमें वह नंदिनी रावल के किरदार में नजर आ रही हैं। – षान्तिस्वरुप त्रिपाठी

 

अपने किरदार की चर्चा करते हुए ऋचा राठौर कहती हैं-‘‘नंदिनी गुजरात के गांव की लड़की है। वह भोली है फिर भी स्मार्ट और स्नेही है। वह अपनी बहन से बिल्कुल प्यार करती है। नंदिनी स्वतंत्र हैं, अपना खुद का व्यवसाय चलाती हैं। जैसे-जैसे कहानी आगे बढ़ती है, उसका संघर्ष लोगों के सामने आता है और दर्षक उससे कुछ सीखता है। इतना ही जीवन की उसकी यात्रा दर्शक के लिए उसके प्यार को हमेशा के लिए बदल देता है। एक तरह से मैं नंदिनी जैसी ही हॅॅू। निजी जीवन में मैं भी नंदिनी की ही तरह आजाद हूं और अपने परिवार को दुनिया की किसी भी चीज से ज्यादा प्यार करती हूं।’’

नंदिनी के चरित्र और शो को अब तक मिली सकारात्मक प्रतिक्रिया के बारे में ऋचा राठौर कहती हैं-“लोग नंदिनी की मासूमियत को पसंद करते हैं। हमें जो फीडबैक और संदेश मिले हैं, उससे मैंने यही समझा है।मुझे उम्मीद है कि हम आने वाले समय में दर्शकों को नंदिनी के प्रदर्शन और कहानी से जोड़े रखने में सक्षम होंगे… कई बार अनकही बातें हमारी आंखों से हो जाती हैं। प्यार में दो लोग बिना एक शब्द बोले भी एक दूसरे को समझते हैं। मेरा मानना है कि इसी भावना से एक गहरे रिश्ते की शुरुआत होती है। इस सीरियल का शीर्षक और सार मेरे लिए यही मायने रखता है। और चाहती हॅूं कि यही सार दर्शकों के साथ गूंजता रहे। ”

ऋचा ने इस सीरियल की सफलता का श्रेय इसके निर्माताओं सोनाली जाफर और आमिर जाफर को देते हुए कहती हैं-‘‘सोनाली मैम और आमिर सर के साथ काम करना परिवार के साथ काम करने जैसा लगता है। वह हम में से हर कलाकार व तकनीषियन की देखभाल अपनों की तरह करते हैं। कोई भेदभाव नहीं है, सेट पर सिर्फ प्यार और मस्ती है। वह दोनों दयालु और सहायक हैं। मुझे बहुत खुशी है कि मैं उनके साथ यह सीरियल कर रही हॅू।मैंने एक नायिका के रूप में इस सीरियल से अपनी यात्रा शुरू की है।’’

ऋचा राठौर अगर अभिनय व षोबिज से न जुड़ी होती,तो आज वह इंजीनियर होती।जी हाॅ!यह कटु सत्य है।अभिनय से जुड़ने से पहले ऋचा राठौर ने पहले बायजूस और इंफोसिस जैसे संगठनों में काम किया।वह कहती हैं-‘‘मनोरंजन उद्योग की सबसे अच्छी बात इसकी व्यापक पहुंच है। ऐसे बहुत से लोग हैं जिनके लिए टीवी उनके सांसारिक जीवन से पलायन प्रदान करता है और नाटक, रोमांच और मस्ती का अनुभव करते हुए उनका मनोरंजन करता है। यह इन सभी लोगों को खुश करने के बारे में है जो हमारे उद्योग को खास बनाता है। इस उद्योग के बारे में एक और अच्छी बात यह है कि यह बदलते समय के साथ खुद को बदलते हुए तालमेल बिठाता है।अब टीवी भी अच्छी सामग्री, प्रस्तुति और दृष्टिकोण के मामले में विकसित हो रहा है।’’

कोविड के मामलों में वृद्धि के बीच षूटिंग करने के सवाल पर ऋचा राठौर ने कहा-‘‘कोविड के दौरान शूटिंग की चुनौतियां लगातार बढ़ रही हैं। नए स्थानों पर जाने के साथ, व्यक्ति का ध्यान भटकना तय है, और निश्चित रूप से, हर दिन समाचार सुनने से केवल बदतर चीजों के बारे में सोचना मुश्किल हो जाता है, लेकिन हम अच्छी तरह से प्रबंधन कर रहे हैं। सेट पर सभी प्रोटोकॉल का पालन किया जाता है। बायो बबल सेटअप ने सभी के लिए एक सुरक्षित वातावरण को सक्षम किया है।’’


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये