रिंकू जायसवाल भटकी हुई लड़की हैं – आशा सचदेव

1 min


asha-sachdev-1

मायापुरी अंक 19.1975

वो मैं नही, की सफलता के बाद आशा सचदेव ने फिल्म पार्टियों में कहना शुरू कर दिया है कि यह रोल करने के बाद मैं कह सकती हूं कि रिंकू जायसवाल भटकी हुई लड़की हैं। आशा का कहना है कि मैं अब तक यह समझ नही पायी हूं कि रिंकू ने वह भूमिका क्यों ठुकरा दी। यह भूमिका जितनी मादक थी, उतनी ही महत्वपूर्ण थी। फिर रोल के साथ अपना संबंध जोड़ना भी ठीक नही। यदि यह भूमिका और भी अधिक उत्तेजक होती तो मैं उसे स्वीकार कर लेती क्योंकि मुझे तो भूमिका करनी थी। मैं समझती हूं कि रिंकू जायसवाल को अपनी सारी धारणों से मुक्त होकर फिल्मों में काम करना चाहिए वर्ना उन्हें किसी से शादी कर लेना चाहिए। फिल्मों में ग्लैमर रोल करना इतना आसान नही है और मैं इस दिशा में किसी का भी मुकाबला करने को तैयार हूं क्योंकि उस रोल के लिए जो कुछ चाहिए वह सब मेरे पास है।


Mayapuri