सुनने वालों के रौंगटे खड़े हो गए, कुछ इस तरह महिंदर कपूर के बेटे रोहन कपूर ने गाया चंडी चरित्र

1 min


मशहूर पार्श्व गायक महिंदर कपूर के सुपुत्र श्री रोहन महिंदर कपूर ने सिख समुदाय की ओर से कोरोना पेशेंट्स की मदद करने पर कुछ अपने ही अंदाज़ में उन्हें बधाई दी. उन्होंने गर्व से कहा कि उन्हें सिखों पर नाज़ है. जहाँ सारा देश मुसीबत में है वहीं सिख समुदाय के लोग अपनी जान की परवाह न करते हुए एक एक मरीज़ की सेवा में समर्पित हैं. उन्होंने अपने पिता महेंद्र कपूर का गाया चंडी चरित्र, जिसे दसवें गुरु श्री गुरु गोबिन्द सिंह जी ने शबद रुपी उचरा था; दोहराया –

देह सिवा बर मोह इहे
सुभ करमन ते कबहू न टरो
न डरो अरि सौ जब जाए लरो
निश्चय कर अपनी जीत करो

जब आऊ की आउद निदान बने
अत ही रण में तब जूझ मरो

साथ ही इस बीच एक लोकल सिख वालंटियर ने बताया कि जब उसने अपने बच्चों से पूछा कि “बेटा मैं बाहर जा रहा हूँ, लोगों को मदद की ज़रुरत है, हो सकता है तुम्हारे पिता को भी कोरोना हो जाए और जान चली जाए”

तो इसपर उनके बच्चों ने बड़ा हिम्मत भरा और मासूम जवाब दिया कि “पापाजी अगर हमारी जान भी चली जाए तो कम से कम जब वाहेगुरु जी के सामने हाज़िर होंगे तो नजर मिलाकर कह सकेंगे कि जब तक जीवित रहे तबतक अच्छा काम करके आए हैं”

देखिए पूरी वीडियो – 

ऐसा ही जज़्बा पंजाब के हर बच्चे में हैं, हर जवान में है और हर बुज़ुर्ग की भी पहली कोशिश यही होती है कि वो दूसरों के किसी काम आ सके.

सिख समुदाय के वालंटियर्स के साथ-साथ कोरोना राहतकार्य में जुड़े हर स्वयंसेवक को हम मायापुरी ग्रुप की तरफ से नमन करते हैं.

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये