बाल दिवस पर ‘‘बच्चों की दौड़’’

1 min


राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने आज बाल दिवस के मौके पर प्रमुख स्वयंसेवी संगठन प्रयास जुवेनाइल एड सेंटर (जेएसी) सोसायटी के तत्वाधान में उनसे मिलने आये समाज के कमजोर वर्गों के 10 बच्चों से कड़ी मेहनत करने का आह्वान किया ताकि भविष्य में राष्ट्र निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकें।

Randeep Hooda, Amod Kanth other Personalities with children

रणदीप हुड्डा ने बढ़ाया बच्चों का उत्साह

इससे पूर्व इन बच्चों ने बाल दिवस के मौके पर वंचित बच्चों के अधिकारों एवं उनके हितों के लिये काम करने वाले प्रमुख स्वयंसेवी संगठन प्रयास जुवेनाइल एड सेंटर (जेएसी) सोसायटी की ओर से ‘‘बच्चों के लिए दौड़ (रन फॉर चिल्ड्रेन)’’ में हिस्सा लिया तथा विभिन्न आयु वर्गों की प्रतिस्पर्धाओं में जीत हासिल की। इन बच्चों ने बाद में राष्ट्रपति भवन जाकर राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद से मुलाकात की। विभिन्न आयु वर्गों के बच्चों के लिए ये दौड़ प्रतिस्पर्धाएं आज सुबह साढ़े सात बजे से केन्द्रीय सचिवालय मैदान से शुरू होकर लीला होटल होते हुये हयात होटल के पास पहुंची। इसके बाद महात्मा गांधी फ्लाइओवर से वापस होते हुए केन्द्रीय सचिवालय मैदान पहुंच कर समाप्त हो गयी। बच्चों की हौसला आफजाई के लिए अभिनेता रणदीप हुडा, बॉक्सर विजेन्द्र बेनिवाल, दिल्ली के पुलिस कमीशनर श्री अमुल्य पटनायक, गायिका हमसिका अयैर, पूर्व पुलिस अधिकारी एवं स्वयंसेवी संस्था प्रयास के संस्थापक अध्यक्ष आमोद कंठ ने बच्चों का उत्साह बढ़ाया। इस दौड़ में 10 से 18 वर्ष आयु वर्ग के समाज के विभिन्न वर्गों के चार हजार से अधिक बच्चों ने हिस्सा लिया।

Randeep Hooda, Amod Kanth

बच्चों की दौड़ के अलावा केन्द्रीय सचिवालय मैदान में करीब चार घंटे तक चले सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन हुआ जिसमें प्रयास की विभिन्न परियोजनाओं से जुड़े बच्चों, विभिन्न स्वयं सेवी संगठनों एवं सरकारी स्कूलों के बच्चों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किये।

Randeep Hooda

इस मौके पर प्रयास के महासचिव और बाल अधिकारों के संरक्षण के लिए दिल्ली आयोग के पूर्व अध्यक्ष श्री आमोद के. कंठ ने कहा, ‘‘जैसा कि हम 14 नवम्बर को बाल दिवस के रूप में मनाते हैं, ‘रन फाॅर चिल्ड्रेन’ इसमें भाग लेने वाले हर प्रतिभागी के लिए बाल अधिकारों के बारे में जागरूकता पैदा करने की अद्भुत शक्ति और अनुग्रह के साथ हमारे समाज के सुविधाओं से वंचित वर्गों और विभिन्न स्कूलों के बच्चों के साथ 4 किलोमीटर की दौड़ के अनूठे आनंद का अनुभव करने के लिए अद्भुत मौका था।

प्रयास दिल्ली के स्कूलों और गैर सरकारी संगठनों के बच्चों, कॉर्पोरेट और अन्य संगठनों तथा कम सुविधा प्राप्त बच्चों के साथ दिल से जुड़ने वाली प्रमुख हस्तियों के साथ मिलकर काम कर रहा है।’’

Vijender Singh

रणदीप हुडा ने कहा कि आज का दिन बच्चों का दिन है और उन्हें बच्चों के बीच आकर बहुत अच्छा लग रहा है। उन्होंने प्रयास के अध्यक्ष श्री आमोद कंठ का आभार जताया कि वह हर साल उन्हें बच्चों के बीच आने तथा उनसे घुलने-मिलने का मौका देते हैं।

प्रयास जुवेनाइल एड सेंटर सोसायटी के बारे में:

प्रयास जुवेनाइल एड सेंटर सोसायटी, एक राष्ट्रीय स्तर का मानवतावादी, लैंगिक रूप से संवेदनशील और बच्चों के विकास पर केंद्रित संगठन है। इसकी स्थापना 1988 में हुयी और 14 नवम्बर, 2015 को इसकी स्थापना के 27 साल पूरे हो रहे हैं। इसके देश में 09 राज्यों / संघ षासित क्षेत्रों में बच्चों के लिए 46 गृहों/आश्रयों सहित 242 केंद्र हैं जो सीधे तौर पर सुविधाओं से वंचित करीब 50 हजार बच्चों, युवाओं और महिलाओं को अपनी सेवाएं प्रदान करता है और उनके कई मुद्दों का समाधान करता है और बाल सुरक्षा और किशोर न्याय, बच्चों और महिलाओं की तस्करी, व्यावसायिक और जीवन कौशल प्रशिक्षण, स्वयं सहायता समूहों और आय सृजन कार्यक्रमों के माध्यम से महिलाओं के सषक्तिकरण, उद्यमषीलता को बढ़ावा देने, बैंकों के आपसी संबंधों के द्वारा ऋण की सुविधा और सूक्ष्म वित्त संचालन से संबंधित कार्यक्रमों का संचालन करता है। लगभग 27 वर्षों से, प्रयास सार्थक, विकास संचालित पहल में शामिल रहा है, जो दिल्ली के राश्ट्रीय राजधानी क्षेत्र, बिहार, गुजरात, असम, अरूणाचल प्रदेश, हरियाणा, झारखंड और सुनामी से तबाह अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में सैंकड़ों मलिन बस्तियों / गांवों के समाज के कमजोर तबकों के जीवन की गुणवत्ता को प्रभावित करता है।

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये