साकीनाका पुलिस स्टेशन में एक मशहूर मॉडल गैंग रेप की शिकार

1 min


साकीनाका पुलिस स्टेशन में एक मशहूर मॉडल गैंग रेप की शिकार हो गयी उसका कहना है कि पुलिसकर्मियों ने उसकी जिंदगी बर्बाद कर दी है। 3 अप्रैल को मॉडल और उसके बॉयफ्रेंड को पुलिस जबरदस्ती अपने साथ पुलिस स्टेशन ले गई थी, जहां न सिर्फ 3 पुलिसकर्मियों ने मॉडल का गैंगरेप किया बल्कि उससे 9.33 लाख रुपये का सामान भी लूट लिया।

varun (2)

सूत्रों से मालूम हुआ है कि साकीनाका पुलिस स्टेशन के असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर सुनील कटापे (34), सूर्य सूर्यवंशी (36) और हेड कॉन्स्टेबल योगेश पोंडे (36) ने मॉडल का गैंगरेप किया और पैसे लूटने में उनकी मदद की एक लोकल जर्नलिस्ट और पांच अन्य लोगों ने की।
इनमें से आठ आरोपी पुलिस की गिरफ्त में हैं जबकि एक अब भी फरार है।

पीड़ित मॉडल का कहना है कि घटना के बाद से उसके परिवार ने उसे ठुकरा दिया है और अब वो कहां जाए। पीड़िता ने कहा कि ये दिन उसकी जिंदगी का सबसे खराब दिन था और शायद जिंदगी भर वो इसे भुला नहीं पाएगी। मॉडल ने कहा, ‘मैं 3 अप्रैल और मुंबई पुलिस के डरावने चेहरे को पूरी जिंदगी नहीं भुला पाउंगी।’

मॉडल ने कहा, ‘जब पुलिस ने मुझे प्रोस्टिट्यूट कहकर बुलाया तो मैं हैरान रह गई। मैं पुलिस स्टेशन में रो रही थी और पुलिस से भीख मांग रही थी कि वो मुझे छोड़ दें। उन्होंने मुझे और मेरे दोस्त को अलग कर दिया और हमें संघर्ष नगर पुलिस चौकी ले गए, जहां बिना पुलिस की वर्दी में मौजूद पुलिस ने मेरा यौन शोषण किया।’ पीड़िता का आरोप है कि रातभर में उसके साथ पांच बार दुष्कर्म किया गया।

पुलिस ने तीनों आरोपी पुलिसकर्मियों के अलावा जावेद शेख (35), संजय रंगे (46), तनवीर हाशमी (34), आयशा मालवीय (24) और इब्राहिम खान (42) को भी गिरफ्तार कर लिया है। सभी पर रेप, आपराधिक साजिश, जबरन वसूली से संबंधित आईपीसी की धाराएं लगाई गई हैं और उन्हें किल्ला कोर्ट में पेश किया गया। सभी को 29 अप्रैल तक पुलिस रिमांड के लिए भेज दिया गया है। सिकंदर मिर्जा नाम का एक आरोपी अब भी फरार है।

SHARE

Mayapuri