‘भाभी जी घर पर है’ में इस एक्टर ने निभाया है ‘शहंशाह’ का किरदार

1 min


भाभी जी घर पर है

प्रदीप सरकार के निर्देशन में फिल्म ‘मर्दानी’ में अभिनय करने के बाद अभिनेता सानंद वर्मा ‘सब टी’ के हास्य सीरियल ‘‘भाभी जी घर पर है ’’ से जुड़ गए। वह अभी भी इस सीरियल में अभिनय कर रहे हैं। जबकि इसी बीच उन्होंने ‘रेड’, ‘पटाखा’ और ‘छिछोरे’ जैसी फिल्में, ‘एक नई उम्मीद रोशनी’ व ‘गुपचुप’ जैसे सीरियल तथा ‘‘अपहरण’’ और ‘‘सेक्रेड गेम्स’’ जैसी वेब सीरीज में भी अभिनय किया।

भाभी जी घर पर है

बिनैफर कोहली और संजय कोहली के सीरियल ‘‘भाभी जी घर पर  है’’ में सानंद वर्मा अलग अलग लुक व गेटअप वाले किरदार निभाते रहते हैं। अब उन्होंने इस सीरियल ‘भाभी जी घर पर’ है में अमिताभ बच्चन का फिल्म ‘शहंशाह’ का किरदार निभाया है। खुद सानंद वर्मा कहते हैं-‘‘यह एक लाजवाब अनुभव था। उस 15 किलो की पोशाक पहनना परम था। मैंने खुद को शहंशाह की तरह महसूस किया। मैं वास्तव में टीवी के राजा की तरह महसूस करता था क्योंकि किसी ने भी उस तरह की वेशभूषा को कभी नहीं आजमाया है। यह बहुत भारी था। मैंने अपनी पोशाक में बहुत सारे लोहे के पत्थरों को डाला, ताकि मुझे एक तेज लुक मिले क्योंकि मेरे शरीर का एक पतला ढांचा है और मैं उस भद्दे लुक को चाहता था,इसलिए मैंने इसे ऊपर कर दिया। मैंने पोशाक के अंदर बहुत सी अलग-अलग धातुएँ रखी हैं। बहुत अच्छा लग रहा था। मैं शहंशाह और अमिताभ बच्चन की तरह महसूस कर रहा था! ”

Saanand-Verma

सानंद हमेशा से अमिताभ के प्रशंसक रहे हैं। “अमिताभ बच्चन और उनका काम वास्तव में जीवन से बड़ा है। जिस तरह का काम उन्होंने किया है वह है जबड़ा गिराना। उनके जीवनकाल में उन्होंने जिस तरह का पराक्रम हासिल किया, उसे कोई नहीं दोहरा सकता। वह हर गुजरते दिन के साथ मजबूत होते जा रहे हैं। आज भी इस उम्र में कोई भी उसके व्यक्तित्व और ज्ञान से मेल नहीं खा सकता है। वह एक अविश्वसनीय कलाकार हैं।वह वास्तव में सहस्राब्दी के सुपरस्टार है। और मुझे लगता है कि वह वास्तव में एक और केवल किंवदंती है, जिसके साथ मैं गहराई से जुड़ा हुआ महसूस करता हूं।’’

Saanand Verma

फिल्म ‘‘शहंशाह’’ के संग सानंद वर्मा के लगाव की कहानी काफी पुरानी हे। वह बताते हैं-‘‘मैंने कई बार शहंशाह को देखा है। जब मैं सोनी मैक्स में काम कर रहा था, तो मैं प्रोमो काटता था और मैंने कई बार शहंशाह के प्रोमो में कटौती की है। मैं उस फिल्म से प्यार करता था और मैं हमेशा उस प्रोमो को काटता और चला जाता था। जब वह कहते हैं,रिश्ते में तो हम आपके हैं कौन, नाम है शहंशाह। तो मैं अमित जी के संवादों का आनंद लेता था।फिल्म में उनका दोहरा चरित्र अद्भुत है। इस फिल्म में अमिताभ बच्चन जी ने वह एक ऐसे व्यक्ति की भूमिका निभायी है,जो भ्रष्ट है, तो वहीं दूसरी तरफ वह एक मसीहा का किरदार निभाते है। यह दोहरी भूमिका नहीं है, बल्कि दोहरा प्रदर्शन हैं, इसके अलावा यह अविश्वसनीय है कि वह गोलियों को अपने हाथ से कैसे मारते है, एक भ्रष्ट पुलिस वाले के रूप में भी, उन्होंने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया। फिल्म में कई अविश्वसनीय तत्व हैं।

वह आगे कहते हैं- “ फिल्म ‘अग्निपथ’ भी मेरी पसंदीदा फिल्म है। यह किसी भी फिल्म समीक्षक के अनुसार एक शानदार फिल्म है। मेरे विचार में अमित जी ने ‘अग्निपथ’ में एक अभूतपूर्व अभिनय प्रतिभा का प्रदर्शन किया है।यहां तक कि उनके पुराने दिनों से लेकर ‘अमर अकबर एंथनी’जैसी फिल्में भी कमाल की हैं। यदि आप केवल गीत में चित्रांकन देखते हैं,तो मेरा नाम एंथोनी गोंसाल्वेस है, जिस तरह का प्रदर्शन उन्होंने दिया है वह अल्टीमेट है। अभिमान में उनकी भूमिका भी बहुत गहरी है, वह जया बच्चन के चरित्र के साथ एक महान रसायन विज्ञान साझा करते हैं। वह अभिनेताओं के एक अलग तरह के वर्ग से हैं। ‘‘


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये