Review: फरार संदीप और पिंकी को ढ़ूढ़ना वाकई में है मुश्किल

1 min


Review

फिल्ममेकर दिबाकर बनर्जी की फिल्म हो और कुछ अलग न हो ऐसा तो हो ही नहीं सकता। फिल्म का सबसे बड़ा ट्विस्ट तो यही है की जो फिल्म में संदीप है वो परिणीति चोपड़ा है और पिंकी, अर्जुन कपूर है। दोनों ही अलग अलग बैकग्राउंड से बिलोंग करते हैं। संदीप(परिणीति चोपड़ा) एक बैंकर होती है और पिंकी(अर्जुन कपूर) एक हरयाणी पुलिस ऑफिसर होता है। दोनों कुछ कारणों की वजह से घर से भाग जाते है और फिल्म की कहानी कई अप्स एंड डाउन्स और कॉमेडी के साथ आगे बढ़ती है।

कहानी

Review

फिल्म में दो अलग वर्ग के लोगों को एक साथ लाकर उनके मुश्किलों को दिखाया गया है। पिंकी एक संसपेंड पुलिस ऑफिसर है जो संदीप की उसके बॉस से जान बचाता है। इस दौरान उनका कुछ गुंडो से सामना होता है और वह जान बचाकर भागते हैं। फिल्म के पहले पार्ट में सस्पेंस को पकड़कर रखा गया है जो काफी रोमांचित है तो दूसरी तरफ फिल्म इंटरवल के बाद स्लो होती नजर आती है।

एक्टिंग:

Review

बात करें एक्टिंग की तो लीड एक्ट्रेस परिणीति चोपड़ा ने अपने किरदार को निभाने की काफी कोशिश की है। फिल्म में उनके कई शेड्स नज़र आये हैं। तो वहीं अर्जुन कपूर अपने बाकि किरदार से काफी अलग नजर आए। कहा जा सकता है कि उन्होंने अपने कम्फर्ट जोन से बाहर निकलकर कुछ अलग करने की कोशिश की है।

Review

फिल्म में अन्य किरदार जैसे कि नीना गुप्ता, रघुवीर यादव को एक्टिंग के लिए महनत करने की जरूरत नहीं है। उन्हें जैसा किरदार दिया जाता है वो उसमें अपना हंड्रेडपरसेंट ही देते है। बात करे जयदीप अल्हावत की तो उनका किरदार एक टॉप कप का था लेकिन उन्हें फिल्म में ज़्यादा कुछ करने को नहीं मिला।

सांग

Review

फिल्म में सिर्फ एक गाना है जिसे अनु मलिक ने लिखा है और गाया है। साथ ही गाने में म्यूजिक भी उनका है। लेकिन गाना सुनकर ऐसा लग रहा है की अगर फिल्म में एक भी गाना नहीं होता तो कोई फर्क नहीं पड़ता।

ओवरऑल फिल्म काफी इंटेर्निंग है। ऑडियंस को बाँध कर रख सकती है। फिल्म में सस्पेंस को बरक़रार रखा गया है। फर्स्ट हाफ में फिल्म में क्या हो रहा है? कैसे हो रहा है? क्यों हो रहा है? दिखाया जाता है तो वहीं इंटरवल के बाद फिल्म इतनी स्लो हो जाती है कि आप चाहे तो एक नींद भी ले सकते हैं।

Rating: 3.5/5

 

SHARE

Pragati Raj