आज रेडियो समाज सुधारक की भूमिका में है 

1 min


जब टीवी और इंटरनेट नहीं था तो रेडियो ही था, लोग रेडियो कान पर लगाए न जाने कितने किलीमीटर का सफर तय कर लेते थे, उसमे चाहे गाने हो, खबरे हो या क्रिकेट हर तरह की खबरे उन्हें मिल जाती थी, यहाँ तक की कई चौपालों पर लोग मिलकर रेडियो सुना करते थे। धीरे धीरे रेडियो में विस्तार हुआ कई चैनल्स खुले जिन्होंने मनोरंजन के साथ साथ समाज सुधारक की भूमिका भी अदा की और आज रेडियो जॉकी समाज में अपनी एक अलग पहचान रखते है जहाँ सिर्फ आवाज़ ही उनकी पहचान लोगों के दिलो में पहुँच जाती है यह कहना था विश्व रेडियो दिवस के अवसर पर प्रोफेसर अलोक पुरानिक का, जो ग्लोबल फेस्टिवल ऑफ जर्नलिज्म के दूसरे दिन विश्व रेडियो दिवस के अवसर पर मारवाह स्टूडियो में उपस्थित हुए। इस अवसर पर अगुस्तो मोनटीअल भारत में वेनेज़ुएला के राजदूत, पत्रकार संतोष भारतीय, ओमकरेश्वर पांडे और एंकर श्वेता झा उपस्थित हुए।

अगुस्तो मोनटीअल ने कहा की आज भी मैं जब कार में बैठता हूँ या अकेला होता हूँ तो म्यूजिक या रेडियो चला देता हूँ जिससे यह भी पता चल जाता है की आगे जाम मिल सकता है या नहीं, हिंदुस्तान के आरजे बहुत अच्छी भूमिका निभा रहे है इससे हमे भारत आकर मुझे हमेशा ही अच्छा लगता है और छात्रों से मिलकर मुझे एक नयी ऊर्जा मिलती है।  ओमकरेश्वर पांडे ने कहा की  हम लोग भी अगर कही जाते है तो रेडियो सुनना पसंद करते है और उससे पूरी तरह जुड़ जाते है वो चाहे गीत संगीत की बात हो या शहर में हो रही घटनाओं की। श्वेता झा ने कहा की आज जर्नलिस्म एक अलग तरीके की जद्दोजेहद बन गयी है जहाँ हर एंकर और पत्रकार यही चाहता है की उसे बड़ी से बड़ी ब्रेकिंग न्यूज़ मिले जो पूरे दिन छाए रहे इसलिए वो कई बार मसाला डालने का एडवांटेज ले लेते है जोकि कई जगह गलत भी साबित होता है लेकिन आज हर इंसान कुछ नया देखना चाहता है और उसके लिए हमे तैयार रहना पड़ता है।

इस अवसर पर संदीप मारवाह ने कहा की रेडियो एक शानदार माध्यम है कम शब्दों और चंद सेकण्ड्स में अपनी बात दूर तक पहुँचाने का।  मेरी बहुत खुशकिस्मती है कि मैं इतने बुद्धिजीवी लोगों के साथ बैठकर उनके अनुभव सुनता हूं और कोशिश करता हूं कि मैं और मेरे छात्र उन अनुभवों से वह ज्ञान अर्जित करें जो किसी किताब में नहीं मिलता।

समारोह के अन्य कार्यक्रमों में वर्ल्ड रेडियो डे का पोस्टर लॉन्च, पेंटिंग प्रदर्शनी, फोटोग्राफ प्रदर्शनी, वर्कशॉप और कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया गया। जिसमे छात्रों ने पूरे जोश के साथ भाग लिया।

Sandeep Marwah
Sandeep Marwah
Sandeep Marwah
Sandeep Marwah

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए  www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज Facebook, Twitter और Instagram पर जा सकते हैं.


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये