‘मेरे जैसा ना बने मेरा बेटा’- संजय दत्त

1 min


बॉलीवुड के मुन्ना भाई यानी संजय दत्त जेल से बाहर आने के बाद जल्द ही फिल्म ‘भूमि’ से बॉलीवुड में  कमबैक करने वाले हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक संजय दत्त जब जेल में थे तब उन्होंने पत्नी मान्यता को सख्त निर्देश दिए, कि वो कभी बच्चों को जेल न लेकर आएं। मान्यता ने भी पति की बात मानी और वो बच्चों को लेकर कभी जेल नहीं गईं।

बच्चों से बनाती थी ये बहाना

खबरों के मुताबिक संजय के बच्चे जब ये पूछते थे कि पापा कहां हैं? तो मान्यता बच्चों से कहती कि पापा शूटिंग के लिए पहाड़ों पर गए हैं। जिसके चलते वहां नेटवर्क नहीं आता और हमारी बात नहीं हो सकती। संजय दत्त ने कहा, ‘कि आजकल के बच्चे बहुत समार्ट और समझदार हैं, बच्चे अकसर मान्यता से  मुझसे से फोन पर बात करवाने की जिद करते थे।

मुश्किलों भरा था गुजरा वक़्त

संजय के परिवार के लिए ये समय काफी मुश्किलों भरा था। ड्रग्स की लत और कानूनी उलझनों से गुजर चुके बॉलीवुड एक्टर संजय दत्त का कहना है कि ‘एक पिता होने के नाते, वह नहीं चाहते कि उनका बेटा उनके जैसा बने।

SHARE

Mayapuri