पुण्यतिथि: संजीव कुमार के जीवन संघर्ष पर जल्द आ रही है किताब

1 min


फिल्म अनामिका, दस्तक और कोशिश के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार जीतने वाले लेजेंड अभिनेता संजीव कुमार के जीवन पर लेखिका रीता गुप्ता किताब लिख रही हैं। उसका सहलेखन संजीव कुमार के भतीजे उदय ज़रीवाला कर रहे हैं। आज उनकी 34वीं पुण्यतिथि है। आज ही के दिन 6 नवंबर 1985 को संजीव कुमार ने 47 साल की उम्र में इस दुनिया को अलविदा कह दिया था।

किताब के संदर्भ में रीता ने बताया कि, संजीव कुमार जी के जीवन पर एक किताब लिखा जाना बेहद जरूरी था। मैं अक्सर सोचती थी कि उनके निधन के 34 साल बाद भी आखिर क्यों उनके जीवन पर कोई किताब अबतक नहीं लिखी गई। अगर हम इतिहास को दस्तावेजों में नहीं सहेजते तो आगे की पीढ़ियां उस इतिहास को भूल जाती हैं।

कुछ ऐसे लोग भी होते हैं, जो जिंदगी में एक मिसाल कायम कर जाते हैं। संजीव कुमार एक ऐसी शख्सियत हैं, जिनकी सोच उस दौर के अभिनेताओं की तुलना में काफी अलग थी। आज के एक्टरों में अलग-अलग तरह के किरदार निभाने का साहस होता है, लेकिन इसकी शुरुआत बलराज साहनी और संजीव कुमार जैसे कलाकारों से ही हुई थी।

रीता ने कहा, मैं आज और आने वाली पीढ़ियों के लिए इस कहानी को पुनर्जीवित करना चाहती हूं। फिलहाल इस किताब को शुरु कर दिया गया है। ये काम पिछले 4 महीनों से चल रहा है। अभी हमने इस किताब का शीर्षक तय नहीं किया है। लेकिन हम ‘टाइमलेस’ शीर्षक पर विचार किया जा रहा है। वैसे ये अभी फाइनल नहीं हुआ है।

किताब में संजीव के जीवन संघर्ष का जिक्र होगा। दरअसल, संजीव कुमार की पारिवारिक स्थिति अच्छी थी। अचानक उनके पिताजी की मौत के बाद उन्होंने बहुत बुरा समय देखा। उस समय उनकी उम्र महज़ 11 या 12 साल की ही थी। मुश्किल समय में उन्हें अपने काम की शुरुआत सी ग्रेड फिल्मों से करनी पड़ी। इस तरह से हम किताब में उनके कुछ व्यक्तिगत और पेशेवर संघर्षों को बताएंगे।

इसके लिए हमने फिल्म इंडस्ट्री के काफी लोगों से जानकारियां एकत्र की हैं। संजीव कुमार जी के भतीजे उदय ज़रीवाला इस किताब को लिखने, तस्वीरें और कई अहम जानकारियां इकट्ठा करने में मदद कर रहे हैं। इससे पहले उन्होंने संजीव कुमार जी के जीवन पर डॉक्यूमेंट्री बनाई थी। जिसमें गुलज़ार साहब, तनुजा और प्रेम चोपड़ा ने संजीव कुमार के बारे में बताया था।

हम भी इन हस्तियों से संपर्क बनाने की कोशिश कर रहे हैं। हमारी योजना इस किताब को अगले साल 6 नवंबर को संजीव जी की 35वीं पुण्यतिथि पर किताब लॉन्च करने की है।

और पढ़ें- INTERVIEW!! तीस रुपयों से लाखों रुपये पाने वाला सिपाही…

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡

 आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.

Like it? Share with your friends!

Sangya Singh

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये