सिनेमाघरों से हटाई गई ‘संता बंता’

1 min


फिल्म ‘संता बंता प्राईवेट लिमिटेड’ की रिलीज के खिलाफ लोगों ने अपना विरोध दर्ज करवाया है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो इस फिल्म को सिनेमाघरों में दिखाने पर पाबंदी लगाने के लिए सिख संगठनों के उच्च पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री के नाम पर एसडीएम डीएसपी को मांग पत्र सौंपा है। मांगपत्र में कहा गया है कि सिख एक बहादुर कौम है, जो कि देश की आजादी और उससे जुड़े सुख दुख के हर मामले में अहम रोल अदा करती है।

खबरों की मानें तो सिख समुदाय के लोगों का कहना है कि सिख समुदाय का मजाक बनाने के लिए इस तरह के हथकंडे बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि अगर आगे भी इस तरह से सिख समुदाय का मजाक बनाने का प्रयास किया जाएगा तो उसका विरोध जताया जाएगा। बता दें कि पूरे देश में इस फिल्म का विरोध किया जा रहा है। हालांकि वहां के सिनेप्लेक्स ने भी फिल्म न दिखाने का आश्वासन उन्हें दिया है। वहीं दिल्ली में भी फिल्म के खिलाफ प्रदर्शन जारी है, दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी तथा शिरोमणी अकाली दल दिल्ली इकाई की ओर से पांच स्थानों पर प्रदर्शन किया गया। इस विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर दिल्ली के सभी सिनेमाघरों से फिल्म को हटा दिया गया।

22 अप्रैल को रिलीज हुई इस फिल्म में बोमन इरानी, वीरदास, नेहा धूपिया और लीजा हेडन मुख्य भूमिकाओं में है और फिल्म का निर्देशन किया है आकाशदीप ने और फिल्म की निर्माता हैं शीबा।

SHARE

Mayapuri