कागज़ तक पहुँचने का शानदार सफ़र बताया सतीश कौशिक ने

1 min


सोचिये एक दिन में कितनी बार आपको किसी के सामने ये साबित करना पड़ता है कि आप सांस ले रहे हो?
मुश्किल सवाल है न? ऐसे ही मुश्किल से सवाल का जवाब ला रही है पंकज त्रिपाठी  अभिनीत, सतीश कौशिक द्वारा निर्देशित और सलमान खान प्रोडक्शन द्वारा निर्मित फिल्म ‘कागज़’

जब सतीश ने खोले बीती यादों के कागज़

kaagaz   फिल्म कागज़ के प्रमोशन के लिए जब सतीश कौशिक और पंकज त्रिपाठी कपिल शर्मा के शो में पहुँचे हंसी की फुहार के साथ-साथ कुछ यादों के पैन भी खुल गए। सतीश कौशिक अनुपम ख़ैर के साथ आए थे।  सतीश ने बताया कि कैसे उन दोनों ने ही अपना सफ़र नेशनल स्कूल ऑफ़ ड्रामा दिल्ली से शुरु किया था। उन दिनों की तस्वीरें भी साझा कीं। सतीश कौशिक ने कपिल को बताया कि कैसे वो अंग्रेज़ी फिल्मों के नाम जानकार उसके पोस्टर बनाया करते थे और उन पोस्टर्स पर directed by सतीश कौशिक ही लिखा करते थे।

बीती यादों में जाने के बाद सतीश कौशिक और अनुपम ख़ैर ने और भी कई किस्से साझा किए।

जब अनुपम ख़ैर से जलने लगे सतीश कौशिक

Kapil sharma show – Source – Twitter account of Kapil

सारांश की शूटिंग के वक़्त की बात है, सतीश कौशिक अनुपम ख़ैर से ख़ुद को ऊपर बताते हुए कहते हैं कि “हम दोनों ही मुंबई में थोड़ा बहुत काम कर रहे थे। अनुपम सारांश की शूटिंग में व्यस्त थे और मैं (सतीश कौशिक) तब जोशीले में असिटेंट डायरेक्टर था और हम शूट के लिए लद्दाख जा रहे थे।” जोशीले शेखर कपूर की फिल्म थी, सतीश उसमें खुद भी एक रोल कर रहे थे। ख़ुद सतीश के शब्दों में “मैंने सोचा ये गंजा आदमी (अनुपम ख़ैर के लिए मज़ाक में) आख़िर क्या कर लेगा, बाप वगैरह के रोल करता रहेगा कोई बात नहीं, मैं तो इतनी बड़ी फिल्म करने जा रहा हूँ।”

फिर सतीश बड़े मज़ाहिया लहजे में बताते हैं कि “जब मैं २ महीने की शूटिंग ख़त्म करके आया तो मैंने देखा कि अनुपम तो स्टार बन चुका है। मेहबूब स्टूडियो में ‘कर्मा’ का महूरत चल रहा है जहाँ सुभाष घई, दिलीप कुमार, जैकी श्रॉफ, श्रीदेवी, लक्ष्मीकांत प्यारे लाल, अनिल कपूर, नसीरुद्दीन शाह हैं और मैं स्टेज के नीचे ऐसे (हाथ बांधें) खड़ा हूँ।

सतीश कौशिक के बोलने का अंदाज़ ऐसा था कि सबकी हँसी छूट गयी। अनुपम ख़ैर ने उस वक़्त चुटकी लेते हुए कहा “बस उस दिन से इनको लगा कि मुझे दोस्त बना लेना चाहिए”

सतीश कौशिक ने ये भी बताया कि जब अनुपम ख़ैर की गाड़ी निकलती थी और उस वक़्त उनके पास गाड़ी नहीं थी; तो वो हीन भावना से ग्रस्त होकर छुप जाया करते थे। पर साथ ही ये भी जोड़ा कि इस बात से उनको इंस्पिरेशन भी मिली कि जब ये कर सकता है तो हम क्यों नहीं कर सकते?

सतीश कौशिक ने जब करनी चाही ख़ुदकुशी तो उसमें भी उनके साथ कॉमेडी हो गयी

‘रूप की रानी चोरो का राजा’ उस दौर की सबसे महंगी फिल्म थी और सतीश कौशिक ने बहुत मन से, बहुत दिल से वो फिल्म बनाई थी। फिल्म में अनिल कपूर थे, श्रीदेवी थीं और अनुपम ख़ैर भी थे। सतीश बताते हैं कि उसके नौ प्रीमियर हुए थे और नौवें प्रीमियर तक आते-आते सिर्फ बोनी कपूर, अनिल कपूर और ख़ुद सतीश कौशिक रह गए थे। उस वक़्त हैदराबाद में सतीश कौशिक ने अपनी पत्नी को फोन कर कहा कि वो सुसाइड कर रहे हैं।

इस बात से बड़ा हड़कंप मचा और सब उनको बचाने के लिए होटल पहुँचे लेकिन सतीश कौशिक अपने अलग ही अंदाज़ में अपना किस्सा बताते हैं कि वो जब खिड़की से कूदने के लिए पहुँचे तो याद आया ये तो फर्स्ट फ्लोर है और नीचे खाना लगा हुआ है।

 

बात जब कागज़ के बनने पर आई

सतीश कौशिक की फिल्म कागज़इसी शो में जब पंकज त्रिपाठी को बुलाया गया तो सबसे पहले अनुपम ख़ैर ने उनकी तारीफ की और कहा कि “पंकज बहुत अच्छा काम करते हो आप, बहुत अच्छा”

ऊपर जो तस्वीर है जिसमें सतीश कौशिक और अनुपम ख़ैर ड्रामा स्कूल में हैं वो सं 1975 की है। पंकज त्रिपाठी ने भावुक होकर बताया कि जिस वक़्त आप लोग ड्रामा स्कूल में थे उस वक़्त बिहार के एक छोटे से गाँव में मैं पैदा हुआ था।

सतीश कौशिक ने बताया कि इस फिल्म के लिए जब वो पंकज त्रिपाठी के पास पहुँचने से पहले उन्होंने पंकज की बहुत सी फ़िल्में देखीं और उन्हें हर फिल्म देखकर लगा कि ये कितना कमाल का एक्टर है। उन्हें ये बताते बहुत ख़ुशी हुई कि पंकज त्रिपाठी ने स्क्रिप्ट पढ़ते ही इस रोल के लिए हाँ कर दी और उन्हें उनका करैक्टर ‘बिहारी लाल मृतक’ मिल गया।

सतीश कौशिक ने बताया कि सोने पे सुहागा तब हो गया कि जब भारत फिल्म की शूटिंग करते वक़्त सलमान खान के साथ माल्टा में बैठे थे तो सलमान ने सतीश कौशिक से पूछ लिया कि आप नेक्स्ट क्या ला रहे हो? सतीश ने कागज़ के बारे में बताया, उन्हें याद था कि वो दोनों पहले ‘तेरे नाम’ में साथ काम कर चुके थे सो उन्होंने यूं ही कह दिया कि आप इसे प्रेजेंट कर दो, शूटिंग तो मैं कुछ रोज़ में शुरु करने ही वाला हूँ। सलमान खान भी बड़े दिल के आदमी, उन्होंने उसी वक़्त डन कर दिया और इस तरह सलमान खान भी इस बेहतरीन और अनोखे सब्जेक्ट पर बनी फिल्म का हिस्सा बन गए।

सतीश कौशिक की फिल्म कागज़अब सोचिए, 2019 से सतीश कौशिक इस फिल्म को बनाने में लगे थे और लॉकडाउन की परेशानी की वजह से दो साल बाद, 2021 में ये फिल्म रिलीज़ हो पा रही है।

हाल ही में इस फिल्म का ट्रेलर लांच हुआ है, इस ट्रेलर में एक डायलॉग है जिसे सुनकर आपको हंसी भी आयेगी और उसी वक़्त आप सोचने पर भी मजबूर हो जायेंगे।

पंकज त्रिपाठी एक चाय की दुकान पर बैठते हैं तो उनके साथ बैठा आदमी उनके पास से उठकर सामने बैठ जाता है, वो पूछते हैं
“हम क्या अछूत हैं?”

सामने से जवाब आता है “नहीं तुम भूत हो!

इसमें एक ऐसे किसान की कहानी है जो सरकारी कागज़ों में मृत घोषित किया जा चुका है और अब उसका सारा संघर्ष ख़ुद को ज़िंदा साबित करने के लिए हो रहा है। ये फिल्म आगामी साल के पहले हफ्ते यानी, 7 जनवरी 2021 को रिलीज़ होगी। ये फिल्म ZEE5  के ओटीटी प्लेटफॉर्म पर पब्लिश होगी।

सिद्धार्थ अरोड़ा ‘सहर’

SHARE