भारत की इन 7 महिलाओं ने वैश्विक स्तर पर बनाई खास पहचान

1 min


वैश्विक स्तर पर अपनी एक अलग पहचान बनाना अपने आप में ही बड़ा मुकाम हासिल करना है। अतंर्राष्ट्रीय पटल पर पहचान बनाना कोई आम बात नहीं होती। दुनिया भर में खुद को एक अलग पहचान दिलाने के लिए कड़ा संघर्ष और सच्ची मेहनत की जरूरत होती है। खासकर जब महिलाएं संघर्ष करके आगे आती हैं तब यह और भी ज्यादा उत्प्रेरक बन जाता है क्योंकि हमारे देश में आज भी कई जगहों पर महिलाओं की स्थिति बेहद दयनीय है ऐसे में उनका दुनिया भर में अपना नाम रोशन करना वाकई गौरव की बात है। बीबीसी ने हर साल की तरह इस साल भी विश्व राजनीति, विज्ञान और मनोरंजन जगत में अग्रणी भूमिका निभाने वाली महिलाओं के साथ साथ कुछ कम प्रसिद्ध 100 महिलाओँ की सूची जारी की है। इस सूची में शामिल 7 भारतीय महिलाएं भी है जिन्होंने खुद की एक अलग पहचान बनाई।

asha

आशा भोंसले

आशा भोंसले भारत में एक जाना पहचाना नाम है बॉलीवुड की प्लेबैक सिंगर आशा भोंसले बीते कई सालों से  फिल्मों में अपनी आवाज का जादू बिखेर रही हैं। 82 साल की आशा को सिंगिंग लीजेंड कहा जाता है। करीब एक हजार फिल्मों और सैकड़ों एक्ट्रेसेस को अपनी आवाज से नवाज चुकी हैं आशा जी। आशा भोंसले का नाम गिनेस बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में भी ‘संगीत के इतिहास में सबसे ज़्यादा गीत रिकॉर्ड करने वाले कलाकार’ के रूप में दर्ज है। आशा को उनके करियर में कई पुरस्कारों से सम्मानित किया जा चुका है।

kamini

 

कामिनी कौशल

कामिनी कौशल बीते जमाने की मशहूर अदाकारा रह चुकी हैं और उन्होंने 100 से ज्यादा फिल्मों में काम किया। इतना ही नहीं उनकी फिल्म ‘नीचा नगर’ को 1946 में कान्स फिल्म फेस्टिवल में बेस्ट फिल्म का अवॉर्ड मिला था और साल 2014 में कामिनी को ‘लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड’ से नवाजा गया, वही आखिरी पर स्क्रिन पर ‘चेन्नई एक्सप्रेस’ में नजर आई। कामिनी बीते जमाने की कई फिल्मों में अपने अभिनय का जौहर दिखा चुकी हैं।

kanika

कनिका टेकरीवाल

27 वर्षीय कनिका को 20 साल की उम्र में कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से जुझना पड़ा लेकिन उन्होंने अपनी जिंदगी में कभी हार नहीं मानी बल्कि उन्होंने अपने तमाम प्रयासों से कैंसर जैसी बीमारी पर जीत हासिल की। बता दें कि कनिका जेयसेटगो कंपनी की को – फाउंडर और सीईओ हैं। उन्होंने साल 2014 में जेटसेटगो की शुरुआत की, जिसके जरिए प्रइवेट एयरक्राफ्ट, हेलिकॉप्टर और एयर एंबुलेंस की आसानी से बुकिंग की जा सकती हैं। कनिका भारत में आज एक जाना माना नाम है क्योंकि उन्होंने शायद दृढ़संकल्प लिया था वो विश्व भर में खुद की एक अलग पहचान बनाएंगी।

sania mirza

सानिया मिर्जा

सानिया मिर्जा ने मार्टिना हिंगिस के साथ मिलकर विंबलडन और अमेरिकी ओपन में महिला डबल्स का खिताब जीता है सानिया मिर्जा महिला डबल्स में दुनिया का नंबर वन टेनिस प्लेयर हैं और इन्होंने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कई बार भारत का नाम रोशन किया है। बता दें कि सानिया ने 15 साल की उम्र में पहली बार 2002 में एशियाई खेलों में लिएंडर पेस के साथ मिक्स्ड डबल्स में कांस्य पदक जीता। सानिया को अर्जुन और पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका हैं।
mumtaz shaeikh

मुमताज शेख

समाजसेवी और प्रचारक मुमताज शेख को महिलाओं के ‘लघुशंका के अधिकार’ के लिए किए गए उनके प्रयासों के लिए जाना जाता है। ये उन्ही के अथक प्रयायों का नतीजा है जिनकी बदौलत मुंबई में आज महिलाओं के लिए 96 मुफ्त टॉइलेट्स बनाए गए हैं। इन सब के पीछे मुमताज का संघर्ष ही था जिसकी वजह से सरकार ने मुंबई में सिर्फ महिलाओं के लिए टॉइलेट्स बनाने के लिए 50 करोड़ रुपये आवंटित किए।

smriri nagpal

स्मृति नागपाल  

स्मृति नागपाल लैंगेवज एक्सपर्ट हैं साथ एंट्रप्रेन्यूर भी है बता दें कि स्मृति गूंगें-बहरे लोगों की मदद के लिए ‘अतुल्यकला’ नाम की संस्था चलाती और वह साइन लैंग्वेज के जरिए हजारों लोगों की मदद कर रही हैं। साइन लैंगवेज की दुनिया में जाना पहचाना नाम हैं स्मृति। 25 साल की उम्र में स्मृति ने जो कुछ लोगों है लोगों के लिए वो वाकई मिसाल है।

bhw

रिम्पी कुमारी

रिम्पी एक किसान परिवार से ताल्लुक रखती हैं राजस्थान में उनके पास 32 एकड़ जमीन है। अपने पिता की मृत्यु के बाद रिम्पी ने अपनी बहन के साथ सब कुछ संभाला राजस्थान की रहने वाली रिम्पी 32 साल की है और आज भी गांव में अपना खेती बाड़ी का काम संभालती है। वाकई रिम्पी बाकी लड़कियों के लिए भी प्रेरणा हैं।

 

 

 

 

 

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये