‘इंसान के तौर पर मुझमें बदलाव आया है- शाहरुख खान

0 27

Advertisement

शाहरुख खान फिल्म नहीं बल्कि छोटे पर्दे पर वापसी करने के लिए बिल्कुल तैयार हैं। किंग खान टीवी पर ’टेड टॉक इंडियाः नई बात’ नाम का एक टॉक शो ला रहे हैं। टॉक शो का पहला सीजन बीते साल ऑनएयर हुआ था। इस शो में समाज से जुड़े कुछ वक्ता शामिल होंगे, जो अपने भावनाओं को साझा करेंगे। टेड टॉक्स में जिंदगी को प्रभावित करने वाले विषय जैसे- स्वास्थ्य, पर्यावरण और यौन शोषण पर बातचीत होगी। इस टॉक शो को अंग्रेजी और हिंदी में एक साथ फिल्माया जायेगा। इसके साथ ही यह शो तमिल, तेलुगु और बंगाली भाषा में भी देखने को मिलेगा। इस सीजन को दर्शक स्टार प्लस के साथ ही हॉट स्टार पर भी देख सकते हैं। शाहरुख द्वारा एंकर किये जाने वाले इस शो के लॉन्च के मौके पर एक बार फिर शाहरूख से उनकी अगली फिल्म के बारे में भी कुछ सवाल पूछे गये ।

आपकी अगली फिल्म कब आ रही है ?

इंशाअल्लाह, में जल्दी कोई फिल्म करूंगा। मैं कुछ स्क्रिप्ट पढ़ रहा हूं और जल्दी कुछ घोषणा करूंगा। इतनी सारी अटकलों के साथ मुझे अब अच्छे विचार मिले हैं… जैसे टार्जन और जेन। यही वह प्लेटफार्म है जहां मैं अपनी फिल्म की घोषणा करना चाहता था।

किन टॉक्स ने आपको ज्यादा प्रभावित या पसंद किया?

किसी नजरिये को पसंद करने या न पसंद करने के हमारे अपने कारण होते हैं। जैसे, ताहिरा ने अपने टॉक में बताया कि उन्होंने कैसे इंटरनेट और सोशल मीडिया का यूज़ किया, उस बारे में बात करने के लिए, जिस हालात से वह गुजर रही थीं। हालांकि मैं इससे खिलाफ हूं। मैं इसमें यकीन नहीं करता। मेरा मानना है कि ऐसा करना बिलकुल गलत है। किसी को ऐसा नहीं करना चाहिए। कम से कम मैं ऐसा नहीं करता। यहां तक कि कई बार लोग कहते हैं कि तुम कलाकार हो, तो अगर तुम इस बारे में लिखोगे, तो इससे बदलाव आयेगा। मैं यह नहीं मानता। मेरे हिसाब से कुछ चीजें ऐसी होती हैं, जो पर्सनल हैं, उन्हें वैसे ही रखना चाहिए, लेकिन जब ताहिरा ने बात की, तो कम से कम मैं उनके नजरिये को समझ पाया। हालांकि, मैं अब भी उससे सहमत नहीं हूं, लेकिन ऐसी चर्चा, जिससे मैं शायद सहमत नहीं हूं, दिमाग को खोलने वाली होती है और याद रह जाती है, क्योंकि हमें एक नया नजरिया सुनने को मिलता है।

पैरेंट्स और बच्चे इस शो से क्या सीख सकते हैं?

हमें ऐसी कहानियां दिखानी हैं जो प्रेरित करें। पैरेंट्स और बच्चों को सोचने के लिए मजबूर कर दें कि हम आगे क्या कर सकते हैं। यह एंटरटेनमेंट की डैपिफनेशन को चैलेंग करेगा। लोग सोचते हैं कि केवल गाना-नाच ही एंटरटेनमेंट है, ऐसा नहीं है, हमारा सबसे बड़ा एंटरटेनमेंट यह है।

इस शो के बाद आप इंसान के तौर पर कितना बदले हैं?

एक 13 साल की बच्ची गीतांजलि ने पानी में लेड की मात्रा पता लगाने वाली मशीन बनाई है। जबकि मैं 13 की उम्र में लेड निकालने के लिए केवल पेंसिल छीला करता था। बहुत सारे लोग खुद बहुत अंडरप्रिविलेज्ड हैं, फिर भी दूसरों की जिंदगी में बदलाव लाना चाहते हैं। ऐसे बहुत से स्पीकर्स हैं, जिनसे मैं इंप्रेस हुआ। उनकी बातों ने मुझे एक इंसान के तौर पर बदला है।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.

Advertisement

Advertisement

Leave A Reply

Your email address will not be published.