एक स्टार और उसके फैन की अजीब और गजब की कहानी एक ऐसा शाहरुख खान जो पहले कभी ना था

1 min


अली पीटर जॉन

यह एक ऐसा रिश्ता है कि जिसे सबसे बड़े मनोवैज्ञानिक, मनोचिकित्सक तक समझने का प्रयास कर रहे हैं लेकिन कोई भी इसे गहराई से समझने में सफल नहीं हो पाया है। लेकिन यह रिश्ता एक सच है व फिल्मों में जीवन के बारे में एक बुनियादी सच्चाई है। स्टार कभी स्टार, सुपरस्टार, मेगास्टार नहीं होता प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से समर्थन के बिना और उन गुमनाम चेहरों जिसमें कुछ जीवित है व कुछ की मृत्यु हो गई। उन पुरुषों और महिलाओं का भी हाथ है जो स्टार के लिए दीवाने रहे, अपने स्टार की एक झलक पाने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं। कुछ तो ऐसे भी रहे जिन्होंने अपने स्टार की पूजा भी की व कुछ प्रशंसकों ने तो अपने स्टार को कष्ट देने की भी कोशिश की। कुछ ऐसी घटनाएं भी हुई है जिसमें प्रशंसक अपने स्टार के लिए अपनी जान की बाजी भी लगा देते हैं। साथ ही कुछ घटनाओं में तो स्टार की तुलना अलग-अलग भगवान से भी की गई।

2012071813426121371645692766

ऐसी बहुत सी कहानियां है साबित करने के लिए कि मैं क्या कहना चाहता हूं। मैंने इन प्रशंसकों का पागलपन देखा है व बहुत से साधारण पुरुषों व महिलाओं को देखा है जिनकी फैन फॉलोइंग ने उन्हें एक बड़ा स्टार बनाया। कई बार प्रशंसकों की वजह से स्टार्स खुद को बनाते हैं। क्या होता है जब प्रशंसक अपने स्टार के साथ होते हैं ? व क्या होता है जब प्रशंसक अपने स्टार का साथ छोड़ देते हैं। मैं नहीं जानता कि क्यों मुझे अचानक राजेश की कहानी याद आ रही है। जो फिल्म इंडस्ट्री की गलियों में चले गए। यह प्रशंसक ही थे जिन्होंने राजेश खन्ना को यह अहसास कराया कि प्रशंसकों के लिए वह किसी भगवान से कम नहीं है। उनके प्रशंसक उनकी कार को चूमते थे, उनके बंगले को फ्लाइंग किस देते थे। जहां भी विभिन्न स्थानों पर राजेश खन्ना शूटिंग पर जाते वहां उनके प्रशंसक उन्हें देखने पहुंच जाते। लड़कियां राजेश खन्ना के बंगले ‘आशीर्वाद’ के बाहर राजेश खन्ना की एक झलक पाने के लिए सूरज की गर्मी में घंटों खड़ी रहती थी। यहां तक कि लड़कियां अपने खून से राजेश खन्ना को प्रेम पत्र लिखा करती थी, पत्र के साथ ही डॉक्टर का प्रमाण पत्र भी लगा होता था। जिससे राजेश खन्ना को यह पता लग सके कि यह प्रेम पत्र उन्होंने अपने खून से लिखा है। सभी उम्र की लाखों महिलाएं अपने तकिए के नीचे राजेश खन्ना की तस्वीरें रखा करती थी। उन्हें यह विश्वास था कि ऐसा करने से राजेश खन्ना रोमांटिक अंदाज में उनके सपनों में आएंगे। हजारों युवक राजेश खन्ना की तरह हेयरस्टाइल रखा करते थे। साथ ही वह राजेश की तरह कुर्ता पहना करते जो सामान्य रूप से एक राष्ट्रीय पोशाक बन गई थी।

bigbmovie-big

इस तरह का पागलपन कुछ वर्षों तक चला जब तक उनकी फिल्में हिट हुआ करती थी। लेकिन कुछ वर्षों के बाद राजेश खन्ना की फिल्में बुरी तरह फ्लॉप होने लगी। इसके बाद एक समय ऐसा आया जब एक नए स्टार का आगमन हुआ वह स्टार और कोई नहीं बल्कि बॉलीवुड के शंहशाह अमिताभ बच्चन थे। मुझे वह एक दृश्य आज भी याद है जब एक पांच सितारा होटल में जहां राजेश खन्ना अपने प्रशंसकों के बीच खड़े थे अचानक से वहां अमिताभ बच्चन की एंट्री हुई जो महिलाएं राजेश खन्ना के पास खड़ी थी वह राजेश खन्ना के हाथ से ऑटोग्राफ बुक छीनकर नए स्टार अमिताभ बच्चन की तरफ दौड़ी। उस रात राजेश खन्ना अपने बंगले ‘आशीर्वाद’ की छत पर चढ़े व उन्होंने ड्रिंक की व रोते हुए आसमान में देखते हुए चिल्लाते हुए बोले ‘वाए मी, ओह गॉड’ अमिताभ बच्चन स्टार के रूप मे प्रसिद्ध होते चले गए तो वहीं स्थिति ऐसी भी आयी जब राजेश खन्ना के जन्मदिन पर उन्हें शुभकामाएं देने वाला भी कोई नहीं था।

Rajesh Khanna with Amitabh Bachchan
Rajesh Khanna with Amitabh Bachchan

ऐसी बहुत सी कहानियां हैं जो यशराज फिल्म्स की ‘फैन’ के ट्रेलर देखने के बाद मेरे दिमाग में आ रही हैं। मैं ‘फैन’ फिल्म के निर्देशक मनीष शर्मा को बेहतरीन विषय व फिल्म के ट्रेलर की सफलता के लिए बधाई देना चाहता हूं। फिल्म की कहानी वास्तविकता में एक स्टार व प्रशंसक के बीच के रिश्ते को दर्शाती है।

मुझे लगता है कि इस फिल्म में उनका किरदार सबसे कठिन व चुनौतीपूर्ण भूमिकाओं में से एक रहा। शाहरुख खान ने निर्दयी, निगेटिव व रोमांटिक भूमिकाएं निभाई थी। साम्राज्य के राजा ‘देवदास’ से लेकर शाहरुख ने ‘राहुल’ तक के किरदारों को बखूबी निभाया व उन्होंने किसी भी किरदार को निभाने से कभी भी मना नहीं किया। फिल्म ‘फैन’ के ट्रेलर को देखने के बाद उनके प्रशंसको के बारे में लगभग स्पष्ट रूप से पता चल जाता है। यहां तक कि उनके आलोचकों और प्रतिस्पर्धियों ने भी उनकी फिल्म ‘फैन’ का ट्रेलर देखा। जो इससे पहले उन्होंने कभी नही देखा।

FAN-Teaser-2-Shahrukh-Khan-Look

फिल्म के ट्रेलर की बात करूं तो ‘फैन’ एक सुपरस्टार आर्यन व खतरनाक क्रेजी फैन गौरव की कहानी है। एक फैन किस तरह स्टार का फैन बन जाता है। किस प्रकार वह अपने स्टार के प्रति अपना प्यार दिखाता है। जो उसने ना ही किसी और व्यक्ति के प्रति दिखाया और ना ही भगवान के प्रति। लेकिन एक समय ऐसा आता है जब वही प्रशंसक स्टार के लिए खतरा बन जाता है। ट्रेलर के कुछ दृश्य शाहरुख की कुछ फिल्में- ‘अंजाम’, ‘दीवाना‘, ‘डर’ में शाहरुख खान द्वारा निभाए गए नेगेटिव किरदार की याद दिला देता है। एक स्थिति ऐसी भी आ जाती है जब फैन व स्टार टकराते व ‘करो व मरो’ की स्थिति उत्पन्न हो जाती है। यह देख विश्वास करना मुश्किल हो जाता है कि एक फैन इस हद तक भी बदल सकता है। जब स्नेह और पूजा अस्वीकार की परिस्थितियों में बदल जाती है तो क्या होता है।

Fan-Shah-Rukh-Khan

फिल्म में ऐसी स्थितियां भी हैं जिसे दिमाग वास्तविक जीवन में स्वीकार नहीं कर पाता लेकिन फिल्म में इसे वास्तविक जीवन में स्वीकार किया जाना दिखाया है। मुझे यकीन है कि शाहरुख खान ने अपनी दोनों भूमिकाओं को जुनून के साथ निभाया होगा। शाहरुख हर स्थिति, दृश्य, डायलॉग को विश्वसनीय बनाने के लिए लिए जाने जाते हैं।

फिल्म ‘फैन’ में शाहरुख खान की उम्र 48 दिखाई गई है तो वहीं उनके फैन की उम्र 27 दिखाई गई है। फिल्म निर्देशक मनीष शर्मा व उनकी टीम शाहरुख खान के साथ यह करने में कामयाब रहे होंगे। प्रशंसक इस फिल्म की उत्सुकता से प्रतीक्षा कर रहे हैं। जिस तरह फिल्म की रिलीज डेट पास आती जा रही है लोगों की उम्मीदें व कल्पना बढ़ती जा रही है। यह भी एक सच है कि जो किरदार शाहरुख खान ने फिल्म फैन में निभाया वह किसी भी स्टार ने इस तरह के दो किरदारों को निभाने की कोशिश नहीं की।

shahrukh-khan-events-wallpapers-10_1427959427_725x725

फिल्म में शाहरुख खान दो बहुत ही अलग किरदार की भूमिका में हैं तो वहीं फिल्म में दो अन्य अभिनेत्रियां वलुस्चा डीसूजा व श्रेया पिलगांवकर ने अलग-अलग किरदार निभाया।

फिल्म में दो अलग किरदारों, जीवन के अलग पड़ाव, उम्र को दर्शाना एक बहुत ही बड़ा टास्क रहा। लेकिन फिल्म के निर्देशक मनीष शर्मा ने सभी प्रकार की सावधानियों को मद्देनजर रखा। जैसे कि शाहरुख खान व उनके फैन के किरदार को किये जाने वाला मेकअप सर्वश्रेष्ठ मेकअप विशेषज्ञों द्वारा किया गया। फिल्म में स्पेशल इफेक्ट व वीएफएक्स इफेक्ट सबसे ज्यादा आकर्षक का केन्द्र रहेगी जो कि 2016 की प्रमुख फिल्म होगी।

फिल्म यशराज फिल्म्स के बैनर तली बनायी गयी जिसे आदित्य चोपड़ा ने निर्मित किया व फिल्म में विशाल-शेखर ने संगीत दिया। फिल्म 15 अप्रैल को रिलीज होगी।

shah-rukh-khan_650_101314064858

फिल्म ‘दिलवाले’ को लेकर शाहरुख खान प्रशंसकों की आशाओं पर खरे नहीं उतर पाए। ‘बादशाह खान’ आसानी से हार मानने वालो में से नहीं है व अपना जादू चलाने के लिए एक बार फिर तैयार है। लेकिन इस बार दो शाहरुख खान अपना जलवा दिखाने को तैयार हैं। यह देखना काफी दिलचस्प रहेगा कि दुनिया में जितने भी शाहरुख खान के प्रशंसक है व शाहरुख खान द्वारा उठाए गए इस साहसिक कदम के लिए किस प्रकार कि प्रतिक्रिया व्यक्त करते हैं।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये