सांसद, सहायक पुलिस आयुक्त और बॉलीवुड हस्तियां विले पार्ले ईस्ट में शिवा’ज़ के सैल्यूट सैलून के उद्घाटन पर पहुंचीं

1 min


मुम्बई के बांद्रा में हाल ही में सैल्यूट सैलून के सफल लॉन्च के बाद, शहर के एक और बेहतरीन इलाके विले पार्ले (पूर्व) में नई थीम वाले शिवा’ज़ सैलून की ओपनिंग हुई। नए सैलून का उद्घाटन 31 अगस्त, 2021 को महाराष्ट्र सरकार के सहायक पुलिस आयुक्त श्री अविनाश धर्माधिकारी ने किया। यहां कई फिल्मी हस्तियां भी शरीक हुईं।

पुरस्कार विजेता फिल्म निर्देशक मधुर भंडारकर, सांसद श्री राहुल शेवाले और दिनेश्वर गनोरे इस लांच के अवसर पर मुख्य अतिथि थे। जाने-माने साउथ फिल्म स्टार सौरभ भंडारी, फिल्म निर्माता सुरेश भंडारी और मीडिया निर्देशक व फिलहाल टी-सीरीज के लिए फीचर फिल्मों का निर्देशन कर रहे राजीव खंडेलवाल भी यहां मौजूद रहे।

इस अवसर पर मुंबई में शिवा ज़ के सैल्यूट सैलून ने भारतीय सशस्त्र फोर्सेस और शहीदों को श्रद्धांजलि पेश की जिन्होंने देश के लिए अपने प्राणों की आहुति दी। इस सैलून को अनोखे ढंग से सजाया गया है। सैल्यूट सैलून के मेन दरवाजे के हैंडल पर राइफल की प्रतिकृति के गन बैरल पर फूल सजे हुए है। यह ऐसे समय में शांति का संदेश देता है जब अफगानिस्तान के हालात को देखते हुए दुनिया हिंसा और बड़े पैमाने पर युद्ध के खतरे को देख रही है।

आपको बता दें कि भारतीय फ़ौजियों की वीरता और बहादुरी को श्रद्धांजलि देने के रूप में सैलून का नाम सलूट रखा गया है। अंदरूनी हिस्से यहां आने वालों को यह दिखाने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं कि एक विशिष्ट सेना बैरक कैसा दिखता है और कठिन परिस्थितियों में दिन और रात बिताना फोर्सेस के लिए कितना कठिन होता है।

एसीपी अविनाश धर्माधिकारी ने इस अनूठे कॉन्सेप्ट के पीछे हेयर स्टाइलिस्ट, प्रोपराइटर शिवा के प्रयासों की प्रशंसा की और कहा कि वह भारत के फौजियों को सैलून समर्पित करने के उनके प्रयासों के लिए उन्हें सलाम करते हैं। इस अवसर पर, शिवा ने कहा कि सैल्यूट शब्द तुरंत ही वर्दी में हमारे फौजियों के प्रति गर्व की भावना पैदा करता है। सैलून में इंटर करते ही देशभक्ति की भावनाएं भी जागती है।

सैलून के अंदरूनी हिस्से को इस तरह सजाया गया है जैसे एक बैरक में किसी फौजी का जीवन होता है। ईंट की दीवारें जो ऊबड़-खाबड़ दिखती हैं, उनमें पुराने स्टाइल के छोटे आईने हैं जिनका उपयोग सेना के लोग शेविंग करते समय करते हैं। विंटेज इलेक्ट्रिक स्विच, जो अब उपयोग में दुर्लभ हैं, इंसान को दूसरे युग में ले जाते हैं। मिलिट्री बक्से, किट, बुलेट बॉक्स, लकड़ी के लॉग, बैज, हेलमेट, एक सैन्य विमान का पुराना मॉडल और एक मोटरबाइक यहां हैं।

वर्दी में नेताजी सुभाष चंद्र बोस का एक विशेष फोटो फ्रेम में भी है। दिलचस्प बात यह है कि दीवार की सजावट हरे रंग की पोशाक से मेल खाती है, जो फौजियों के परिधानों से मिलती जुलती है। हरे रंग का कोट पहने शिवा ने यहां घोषणा की कि मुनाफे का एक हिस्सा सेना कल्याण कोष में जाएगा।

आपको बता दें कि पूरे मुम्बई में शिवा के 23 सैलून की एक श्रृंखला है। वे पहले से ही ग्लैमर, फैशन, शो बिजनेस और कॉर्पोरेट जगत के कस्टमर्स के साथ एक जाना माना नाम हैं। शिवा के सैल्यूट में, हेयर स्टाइलिस्टस को विशेष रूप से मिलिट्री शैली के बाल काटने और ओवर आल मिलिट्री लुक प्रदान करने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है। यह युवा पीढ़ी को यह याद दिलाने का एक प्रयास है कि कैसे भारतीय सेना हमेशा हमारी सीमाओं की रक्षा के लिए चौबीसों घंटे सतर्क रहती है और सभी आपदाओं के दौरान भारत के लोगों को अमूल्य सहायता प्रदान करती है।

SHARE

Mayapuri