किसके लिये धड़कता है कमसिन श्रद्धा का दिल ?

1 min


shraddha-kapoor.gif?fit=650%2C450&ssl=1

आज की युवा नायिकाओं को अपनी युवावस्था के शौक पूरा करने में कोई हिचक नही है, आज की नायिकाएं उन पुराने जमाने की हीरोइन्स की तरह नही है जो फ़िल्म तारीका होने की कीमत ऊँची ऊँची चारदीवारी के अंदर अपने आम शौक को दफना कर, मन मारकर जीती थी। अब तो यह तारिकाएं वो करने से नही हिचकती जो वो करना चाहती है। अब कमसिन श्रद्धा कपूर को ले लीजिये। दो साल पहले अपनी एक फ़िल्म के लिये उन्होंने मोटर बाइक चलाना क्या सीखा कि उन्हें तो हो गया प्यार खुले आसमान के नीचे, लंबे रास्तों मे, फुर्र से बाइक चलाने से। फ़िल्म तो बनके रिलीज़ भी हो गयी और हिट भी हो गयी (एक विलन) लेकिन बाइक का चस्का श्रद्धा के जवान मन को ऐसे लग गया कि कोई भी बाइक हाथ लगते ही वे उसकी सवारी में दीन दुनिया भूल जाती हैं। अपने दोस्तों और सहेलियों के मोटर बाइक्स पर श्रद्धा ने पहले तो खूब प्रैक्टिस की फिर अपनी खुद की मोटर बाइक खरीदने का इरादा किया, लेकिन यहाँ बात कुछ गड़बड़ हो गयी। श्रद्धा के पापा शक्ति कपूर और माँ शिवांगी ने मुम्बई की सड़कों पर टू व्हीलर के खतरों को देखते हुए श्रद्धा को बाइक खरीदने की इजाजत देने से साफ़ मना कर दिया। गुड गर्ल श्रद्धा अपनी मम्मा पापा को मनाने मे जी जान से जुटी हुई हैं। अपनी खुद की टू व्हीलर खरीदने और मुम्बई की सड़कों पर सुर्र से उड़ने की जबरदस्त चाहत के चलते उन्हें पूरी उम्मीद है कि मम्मी पापा एक दिन मान जायेंगे। जब श्रद्धा ने अपनी पहली कार खरीदी थी तब भी मम्मी पापा की इजाजत और पसंद से ही खरीदी थी।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये