जब रूप कुमार राठौड़ ने अपना मेहनताना दिया सुधाकर शर्मा को

1 min


कितना अच्छा लगता है जब एक कलाकार दूसरे कलाकार की कला का सम्मान करते हुए, उसे अपना मेहनताना ही समर्पित कर दे । हाल ही में ऐसा वाकया हुआ जब गायक रूप कुमार राठौड़ को गीतकार सुधाकर शर्मा द्धारा लिखा गीत इतना मार्मित कर गया कि उन्होंने गीत गाने की एवज में मिला अपना मेहनताना सुधाकर शर्मा को उपहार स्वरूप दे दिया ।
IMG-20150226-WA0024
हाल ही में फिल्म ‘ क ख ग 21 सेन्चुरी’ का एक गीत जिसे सुधाकर शर्मा ने लिखा था और उसे कंपोज किया म्युजिक डायरेक्टर पी समीर फातेकर ने । गाने के बोल थे ‘बोझ बन के रह गई है, जिन्दगी अब जिन्दगी पर’। ये गीत गाते हुये रूप कुमार राठौड़ कई बार भावुक हुये । गीत खत्म होने के बाद रूप कुमार ने मेहनताने स्वरूप मिले चैक को सुधाकर शर्मा को देते हुए कहा इतना सुंदर गीत मैने अभी नहीं गाया , इसलिये मेरे जैसे छोटे से कलाकार की तरफ से ये तुच्छ सी भेंट स्वीकर करें । ये सब अचानक होते देख पहले तो सुधाकर जी को समझ ही नहीं आया कि वे क्या कहें या क्या करें ।और जब समझ आया तो वे भी भावुक हुए बिना नहीं रहे ।

IMG-20150226-WA0023

चुनरी फेम गीतकार का तमगा हासिल कर चूके इस गीतकार ने अभी तक सिर्फ चुनरी षब्द पर ही 175 गीत लिख डाले हैं । बीते वर्श उन्होंने पांच राजस्थानी फिल्मों के गीत लिखे । राजस्थानी भाशा में अभी तक तीन बार बन कर हिट हो चुकी फिल्म‘ नानी बाइरो मायरो ’जो अब चोथी बार बन रही है का स्क्रीनप्ले डायलाॅग तथा फिल्म के तरह गीत सुधाकर षर्मा लिख रहे हैं ।ये उनकी पंदरहवी राजस्थानी फिल्म है । इसके अलावा नाटक ‘ सामानांतर’के तीन गीत लिखने वाले इस गीतकार को इस नाटक के मचंन पर बतौर मेहमान आस्ट्रेलिया आमंत्रित किया गया है । नाटक में एकमात्र अभिनेत्री रोहिणी हटगंढी अभिनय कर रही है उनके अलावा सारे कलाकार विदेशी हैं । नाटक के प्रोडयूसर डायरेक्टर है प्रशांत तुपे जो पर्थ में रहते हैं ।

SHARE

Mayapuri