एक दिन में तैयार नहीं होते गायक- सोनू निगम

1 min


आशा भोंसले हों या अनु मालिक उन्हें जान लेना चाहिए कि टैलेंट हंट शो में आने वाला प्रतिभाशाली कलाकार एक दिन में किशोर या रफ़ी नहीं बनता. मोहम्मद रफ़ी को पूरी तरह से फॉलो करने वाले गायक सोनू निगम वर्षों के संघर्ष के बाद अब जाकर अपनी स्वतंत्र पहचान बना पाए है. सोनू कहते है, “मैं कभी इस मुगालते में नहीं रहा कि मुझे रफ़ी साहब जैसा बनना है. मेरी आवाज़ रफ़ी साहब से थोड़ी बहुत मिलती है, मैं इसके लिए उपरवाले को धन्यवाद देता हूँ. लेकिन मैंने अपनी आवाज़ को सिर्फ अपना माना है इसलिए शुरू से शास्त्रीय संगीत के प्रति मैं बहुत गंभीर रहा.

Sonu-Nigam-at-Society-Awards-in-Worli-Mumbai-on-19th-Oct-2013

आज ऐसा ही हो रहा है, गायक की तारीफ़ करते समय इस तरह के शो के जज साड़ी मर्यादा भूल जा रहे है. चैनल और पैसे का मोह उनसे कुछ भी करवा रहा है. वरना सचिन देव बर्मन, ओप नय्यर जैसे महँ संगीतकारों के साथ काम कर चुकी नामचीन आशा भोंसले किसी नए कलाकार की तारीफ में अतिशयोक्ति का सहारा हरगिज़ नहीं लेती. उन्हें याद होना चाहिए कि इस महँ संगीतकारों ने किस कदर उनकी आवाज़ को परिपक्व बनाया था. आशा जी यदि आज महान गायिका आशा भोंसले बनी है, तो उसमे उनका वर्षों का संघर्ष छिपा हुआ है.


Mayapuri