कभी-कभी मेरे दिल में ख्याल आता है कि…कमल हसन

1 min


कभी-कभी मेरे दिल में ख्याल आता है कि...कमल हसन4

छाया मेहता

फिल्म क्षेत्र में कदम रखकर प्रंसिद्धि पाते ही व्यक्ति चर्चाओं के घेरे में घिर जाता है, यह जैसे अनिवार्य है। पहले चर्चित होता है व्यक्ति आम लोगों के बीच और वहीं से उसी चर्चाओं की रेलगाड़ी पत्रपत्रिकाओं के स्टेशनों से गुजरती हुई पब्लिक तक पहुँचती है। और इस तरह वह व्यक्ति एक बार जोर से यूज में जाता है। उसके बारे में तरहतरह की धारणा की जाती है, अच्छीबुरी, झच्चीझूठी बातें फैलती है, उसके नित चर्चायें प्रेमप्रकरण के भी चर्चे शुरू हो जाते हैं ऐसे उचित व्यक्ति की चर्चाओं के आधार पर हम उसको पूछे जाने लायक प्रश्न तैयार करते हैं और अवसर मिलते ही उसके आगे हम अपने सारे प्रश्न रख देते हैं जिसके वहउत्तर देता हैइसे हम इन्टरव्यू कहते हैं। प्रस्तुत है ऐसा ही एक इन्टरव्यू कमल हसन का

कभी-कभी मेरे दिल में ख्याल आता है कि...कमल हसन

एक रोज पहले ही हमारे पत्रकार मित्र श्री जे. एस. श्रीवास्तव की ओर से हमें कमल हसन की मुंबई में उपस्थिति की जानकारी प्राप्त हो चुकी थी। फिल्सनम तेरी कसम के प्रीमियर पर खास तौर से उपस्थित रहने के लिए वे चंद घंटों के लिए ही मुंबई आये थें। दूसरे रोज सुबह दस बजे की फ्लाइट से वे मद्रास रवाना हो रहे थे। वे होटलहॉलीडेइन में ठहरे हुए थे जहाँ उनसे फोन पर बात हुई….

इस वक् तो कछ मेहमान बैठे हैं और आधे घंटे बाद तो मैं प्रीमियर पर जा रहा हूँ। कल सुबह दस बजे की फ्लाइट से मद्रास जाना है अब तो अगली बार ही मुलाकात हो सकती है। सॉरीउन्होंने लाचारी व्यक्त की। वह अगली बार कब आयेगे पता नहीं। इस बार अगर चूक गये तो फिर जाने कब मुलाकात होगी कमल हसन से क्योंकि बम्बई में उनका आनाजाना इसी तरह होता है। जल्दीजल्दी मुंबई आते हैं और लौट जाते हैं। यही सब सोचकर मैंने उनसे निवेदन किया…. यदि आपको आपत्ति , हों तो हम जल्दी सुबह जाते हैं, बीसपच्चीस मिनट तो दे ही सकते हैं ?

कभी-कभी मेरे दिल में ख्याल आता है कि...कमल हसन2

वे बोलेठीक है आप कोशिश करके देख लीजिए, मुझे एतराज नहीं पर किन््हीं कारणों से अगर हम बैठ पाये तो मुझे माफ कर दीजिएगा। अपना कार्ड हमें दे दीजिएगा सो अगली बार हम आते ही आपको इत्तला दे देंगे। कमल का बोलने का ढंग हमें अच्छा लगा। उनका सहयोगी स्वभाव सराहनीय है।

दूसरे रोज सुबह साढ़े आठ बजे हमने उनके कमरे का दरवाजा खटखटाया जिसे श्रीमती कमल हसन (वाणी) ने खोला। उन्होंने अपरिचित निगाहों से हमें घूरा और हमने तुरंत ही अभिवादन के साथ अपना परिचय दिया। जिस पर वे बोलींवे रात बहुत लेट सोये हैं, साढ़े तीन बजे। अभी नहाने गये हैं। कुछ नये प्रोड्यूसर्स भी आकर बैठे हुए हैं। आप ऐसा कीजिए कि नीचे कॉरिडोर में ठहरिये वे वहीं मिलेंगे आपसे। और हम कॉरिडोर में मुलाकातियों के लिए रखे सोफे पर बैठे कमल हसन का इन्तजार करने लगे। सवा नौ बजे कॉरिडोर में कुछ हलचल हुई। कमल हसन लिफ्ट से निकले और सीधे रिसेप्शन काउंटर पर गये वहाँ से निबट कर वे जैसे ही मुड़े हमने हाथ बढ़ाकर अपना परिचय दिया।

“’आईए बैठ जाते हैं। वे बोले और हम सोफे पर पासपास बैठ गये।

अतिव्यस्त होना कभीकभी खलने लगता है। आपको तो नींद भी गंवानी पड़ रही है। यह व्यस्तता क्या खंलती नहीं? मैंने सर्वप्रथम यही पूछा जिस पर वे बोलेइसी व्यस्तता के लिए तो संघर्ष किया है। इस व्यवस्तता में खोना कम और पाना अधिक है बल्कि इस व्यस्तता को ही मैं एक उपलब्धि समझता हूँ। ऐसे अवसर तो कभीकभी ही आते हैं

जब सोने तक का समय नहीं रहता। वरना आवश्यक 6 घंटे नींद तो मिल ही जाती है। बस यह ख्याल कभीकभी आता है कि इस कैरियर में सफल होने के बाद हमने आम आदमियों वाली खुशियाँ खो दी है। पर इससे ज्यादा बहुत ज्यादा पाया ही है। मुझे यह व्यस्तता नहीं खलती क्योंकि मैं गधे की तरह काम नहीं करता। काम मैं सोचविचार कर, अपनी क्षमतानुसार ही लेता हूँ। मैं अतिव्यस्त नहीं हूँ।

आपके इस अतिव्यस्त होने के ख्याल की वजह से ही आपने शायद हिन्दी की अच्छीअच्छी फिल्में गंवायी है वरना आप भी रति अग्निहोत्री की तरह मुंबई में स्थायी हो चुके होते क्यों?”

यह सुनकर वे बोलेस्थायी तो मैं हूँ ही। मुंबई में स्थायी होने का कोई क्रेज नहीं है मुझे मद्रास में मेरी प्रॉपर्टी है घर है वहाँ के दर्शकों में भी मेरी अच्छी खासी मांग है। मेरे कैरियर में हिन्दी फिल्मों का सिलसिला तो अभी शुरू हुआ है। मैं अपने दोनों ही ने इस फिल् में काम करने की कैरियर के प्रति बहुत सजग हूँ इसीलिए हिन्दी फिल्मों के चंद ऑफर्स रिजैक्ट करने पड़े क्योंकि मेरे विचार अनुसार वैसी फिल्में मेरे लिए लाभदायक नहीं है। फिल्में साइन करने के मामले में मैं बहुत चूजी हूँ।

पर हमने तो सुना है कि आप हिन्दी संवाद ठीक से बोल नहीं पाते यही कारण है कि आपको साइन करने का रिस्क निर्माता नहीं लेते। लोग यहाँ तक कहते रहे हैं कि ‘‘सनम तेरी कसम’’ में रीना। रॉय के साथ आपको नायक के रूप में लेकर बरखा ने बहुत बड़ा रिस्क लिया हैमैंने कहा (पाठकों की जानकारी हेतु मैं यह बता दूँ कि इस बातचीत के दरम्यान कमल हसन अधिकतर अंग्रेजी में ही बोल रहे थे।)

कभी-कभी मेरे दिल में ख्याल आता है कि...कमल हसन5

मेरी बात का जवाब देते हुए वे बोले…. आपनेसनम तेरी कसम देख ? देखिये और फिर बताईए कि मैं हिन्दी संवाद अच्छी तरह बोल पाता हूँ या नहीं। हिन्दी संवाद मैं ठीक से नहीं बोल पाता यह झूठी बात है। हाँ, बरखा रॉय ने मुझे हीरो लेकर रिस्क उठाया यह बात मैं मानता हूँ क्योंकि उसने जब मुझे साइन किया तबएक दूजे के लिए रिलीज भी नहीं हुई थी। इसके लिए मैं उनका अहसान मंद हूँ।

पर आप पर तो अहसान फरामोशी का आरोप है?” मैंने कहा जिस पर वे चैंकेक्योंक्यों?”

अभी पिछले दिनों आपने फिल्जरा सी जिंदगी साइन की जिसमें आपके साथ नायिका के रूप में अनिता राज है। रीना रॉय और रति अग्निहोत्री ने भी उत्सुकता दिखायी थी पर आपने इस फिल्म के निर्दंेशक को यह समझया कि रीना रॉय आपसे बड़ी लगती है और रति के बारे में आपने यह कहा कि उसके साथ तो मैं काम कर ही चुका हूँ किसी दूसरी टैलेन्टेड लड़की को लीजिए। क्यों आपने ऐसा नहीं किया?”

मैंने पूछा तो वे बोलेनंबर एक तो सही है। नंबर दो इसमें अहसान फरामोशी की बात ही कहाँ आती है। रति और रीना के साथ अगर मैंने फिल्मों में काम किया है तो इसका मतलब यह नहीं कि मुझे लेकर फिल्म बनानेवाला हर निर्मातानिर्देंशक मेरे साथ नायिका के रूप में रति या रीना को ही ले। यह चॉइस तो निदेशक की है। मुझे वास्ता है सिर्फ अपने काम से अपने रोल से निर्देशक ने किस हीरोइन को क्यों लिया यह सब मैं नहीं देखता। यह मेरा काम ही नहीं है।

हिन्दी फिल्म की सफलता ने आपके व्यक्तिगत जीवन को प्रभावितकिया हैं?”

मेरे पूछे गये प्रश्न को दोहराते हुए वे बोलेहिन्दी फिल्मों की सफलता ने मेरे व्यक्तिगत जीवनः को प्रभावित किया है पता नहीं। कहकर वे मुस्कराये फिर कुछ सोंचकर बोलेकिया भी है और नहीं भी। किन्हीं अर्थों में हिन्दी फिल्मों की मेरी सफलता ने मेरे व्यक्तिगत जीवन को प्रभावित किया भी है और किन्हीं अर्थों में नहीं भी. इसे सही शब्दों में स्पष्ट करने के लिए थोड़ा समय चाहिए जो इस वक् मेरे पास नहीं है। वे कहते हुए सोफे पर से खड़े हो गये और होटल के दरवाजे पर खड़ी एम्बेसेडर गाड़ी का दरवाजा खोलते हुए बोलेबाकी बातें दूसरी मुलाकात में कर लेंगे अभी मैं जल्दी में हूँ।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये