सोनिया साहनी और योगिता बाली परेशान

1 min


104339

 

 

मायापुरी अंक 13.1974

जिस वितरक ने धर्मेन्द्र की फिल्म ‘पाकेटमार’ के तामिलनाडू के लिए वितरण-अधिकार खरीदे, उसकी बम्बई के एक पॉकेटमार ने जेब काट ली (यह पॉकेटमार धर्मेन्द्र नही था) सोनिया साहनी तथा योगिता बाली इन दिनों परेशान है पूछिये, क्यों कारण जरा लम्बा है और टेढ़ा भी प्यारे साहब केशर सिंह राना को मीसा के आधीन गिरफ्तार किया गया राना की कम्पनी इंगलैण्ड तथा अन्य यूरोपीय देशों में सब्जी का एक्सपोर्ट करती रही है और वह भी टोकरों मे राना साहब फिल्में भी बाहर भेजते रहे (कस्टम अधिकारी इसी बीच क्या सो रहे थे ) इस तरह उन्होनें इंगलैण्ड में लाखों पौंड की विदेशी मुद्रा इकट्ठी कर ली। इस मुद्रा से उन्होनें ‘अंगार’ फिल्म की शूटिंग पूरी की। अब अधिकारी जांच-पड़ताल करेगें कि अंगार की शूटिंग के लिए विदेशी मुद्रा कहां से आई? (इसे कहते ह गड़े मुर्दे उखाड़ना) फिल्म के प्रमुख कलाकार है, किरण कुमार, योगिता बाली और सोनिया साहनी। बताते है, राना का योगिता और सोनिया ‘घनिष्ठ’ सम्बधं रहा है पुलिस राना से सम्बंधित प्रत्येक व्यक्ति पर ‘नजर’ रख रही है। अब तो आप जान ही गये होगे कि क्यों मैडम सोनिया और मैडम योगिता परेशान है। हाय रे मीसा तूने किस किस को पीसा

निर्देशक ए. सलाम ने अपनी फिल्म ‘आखिरी दांव’ के लिए लक्ष्मी कांत-प्यारेलाल को संगीतकार लिया और साथ ही पाबंदी लगा दी कि गीत हसरत जयपुरी से लिखवाये जाये। (लक्ष्मी-प्यारे अपने गीत आनन्द बख्शी से लिखवाते है.) गीतकार-संगीतकार की यह नई जोड़ी दो गीत तक तो निभ गई। तीसरे गीत पर जाकर मामला गड़बड़ा गया। अब हालत यह है कि लक्ष्मी-प्यारे को हसरत का लिखा गीत पसन्द नही आ रहा और हसरत जी कहते है कि लक्ष्मी प्यारे की बनाई ट्यून में दम नही है, लक्ष्मी-प्यारे ने हसरत को साफ-साफ बता दिया है कि अब आपकी प्रतिभा खलास हो गई है, इंडस्ट्री को अपने हाल पर छोड़ कर छुट्टी कीजिए इस अपमान से तिल-मिलाकर हसरत जयपुरी का मामला मनमोहन मल्होत्रा और निर्देशक ए. सलाम के कोर्ट में घसीट लाए। फिल्म की यूनिट के सभी सदस्य इस कोशिश में लगे है कि यह झगड़ा रफा-दफा हो तो फिल्म की शूटिंग आगे खिसके


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये