जिओसावन रुदवपिसजमतदमीं सीजन 5 पार्ट 2 पर नेहा धूपिया के साथ सोनू सूद को  गुफतगू करने का मौका मिला!

1 min


sonu sood

ज्योति वेंकटेश

सोनू सूद का मोगा से फिल्मों तक का सफर और कैसे हुआ!

जब मैं पहली बार नागपुर गया था, उस समय पंजाब आतंकवाद से बुरी तरह प्रभावित था, और सभी को लगा कि पंजाब रहने के लिए सुरक्षित जगह नहीं है, किसी और शहर में जाने के लिए बेहतर है। इसलिए, मैं अपनी इंजीनियरिंग के लिए नागपुर गया। मैंने इलेक्ट्रॉनिक्स में बी. की। मैं वहां मॉडलिंग करता था, वो शौकिया फैशन शो था। लेकिन, फिर आप जानते हैं कि मैंने सोचा कि क्यों फिल्मों में भी अपनी किस्मत आजमाई जाए और वहीं से पूरी यात्रा शुरू हुई और मैं फिल्म सिटी गया और मुझे लगा कि मुझे अपना बड़ा ब्रेक मिल गया है। जब मैं फिल्म सिटी पहुंचा, तो 30 अन्य मॉडल थे, एक ही बिल्ट, पूरे शरीर के साथ, वो सोलो विज्ञापन नहीं था। मुझे लगा की सोलो ऐड है, स्टार बन गया हूँ मैं, मेरे जैसे 25-30 लोग और बॉडीफिट टीशर्ट पहने खड़े थे और मुझे भी कहीं किसी कोने में खड़े करके पीछे मैं ड्रम बजा रहा हूँ, ट्राइबल बना कर और मैं ऐड में कहीं दिखाई भी नहीं दिया आज तक, मैंने बोला बॉस जिन्दगी की जो स्ट्रगल है बहुत मुश्किल होने वाली है यह कुछ लाइफ इतनी आसन नहीं है, पर मैं एक बात बताना चाहूँगा की जो 3-3.5 साल मैंने लगातार ऑडिशन दिए, एक भी आज तक मुझे ऐड नहीं मिली और आज टेक के भी नहीं मिली तो मुझे लगा कि यार यह जिंदगी में कुछ और करना पड़ेगा।

 

इस लॉकडाउन में सोनू सूद ने कितने विज्ञापनों की शूटिंग की?

मुझे पता नहीं पर मैंने 10-12 तो कर ही लिए होंगे, 15 शायद कर लिए होंगे, अभी और 10-15 आने वाले है, घर से निकला भी तो मैं था स्ट्रगल करने के लिए।

जब सोनू सूद ने अपनी पहली फिल्म का प्रस्ताव साझा किया!

मुझे याद है, ऑडिशन तो पता नहीं मुझे लगता था अच्छी ऑडिशनस ही देकर रहा हूँ लेकिन जब काम ही नहीं मिलता था, तो लगता था, की यह शायद वेस्ट ही है, लोगों के लिए, तो मैं तो बड़ी अच्छी एक्टिंग करके आता था मुझे लगता था, कि देख मैं क्या काम करके आया पर कभी कुछ हुआ नहीं, लेकिन मैं आपको बताता हूँ, कि मुझे जब फस्र्ट फिल्म मिली थी साउथ की, मेरी मदर ने मुझे एक किताबहाउ टू लर्न तमिलदी थी, मैं रास्ते भर पढ़़ता गया, पानी को थान्नी बोलते है, इधर आने को यह बोलते है, सब नोट्स वोट्स लेके गए, विजय वाहिनी स्टूडियो था वहाँ पे चेन्नई में, तो एक ने बोला आप जाके बेठिये हम आते है वहा पे, तो मैं बैठ के अकेला थोडा फील सा लिया एक्टर का कि क्या मैं अच्छा लग रहा है यहाँ पर चेयर पे बैठके यहाँ पे जिन्दगी शुरू होने वाली है, निर्देशक और निर्माता अंदर आते हैं और वे कहते हैं, “की अच्छा सोनू जी बहुत अच्छा, वेलकम टू चेन्नई, आपकी बॉडीवोडी अच्छी है आप टीशर्ट उतार के दिखा सकते है क्या? मैंने बोला अच्छा सर उतार सकते है, मैंने फटाफट टीशर्ट उतारी, हां सर, अच्छा है, आप हमारी फिल्म कर रहे हैं, प्लीज। तो मैंने फटाफट जितने मेरे पेजर थे लोगो ने, मेरी मदर ने बोला था की बधाई हो तेरा हो जाएगा सबकुछ और, इसलिए, मैं सिर्फ एसटीडीपीसीओ गया और मैंने सबको फोन करके बताया की मैंने फिल्म साइन की और यह था, मुझे अभी भी याद है, उस दिन बारिश हो रही थी, चेन्नई मैं और वह एक दिन था जिसे मैं कभी नहीं भूल सकता। मैंने उन सब लोगो को फोन किया जिनसे मैंने शायद कभी बात भी नहीं की होगी पर उनको बताने के लिए की मैं फिल्म कर रहा हूँ, अभी मैं फिल्मो में गया हूँ, लेकिन, मुझे लगता है कि एक अभिनेता के रूप में यात्रा वहां से शुरू हुई और अभी भी मीलों चलना है।

सोनू सूद बॉलीवुड के साथ अपने शुरुआती दिनों की याद दिलाते हैं!

आप जानते हैं, ‘भगत सिंहमेरी पहली फिल्म थी, और इकबाल सिंह ढिल्लों उसके प्रोड्यूसर थे, और जब मैंने वो फिल्म साइन की, मुझे याद है, मेरे दादा भगत सिंह के साथ लाहौर के नेशनल कॉलेज में पढ़ते थे। मैंने बचपन में किस्से सुने थे और हिस्ट्री मेरी अच्छी थी, बहुत पढ़ा था मैने भगत सिंह के बारे में। मुझे याद है कि मैं जब हम संवाद बोलते थे और बात करते थे की भगत सिंह इस असेंबली में इस तारीख को उन्होंने बम फेके थे, और यह किया यहा वो किया था, मुझे वैसे ही याद था। मैं जब संवाद बोलता था ओह मेरा डायरेक्टर बोलता था अरे नहीं सर एक मिनट, आपने कुछ गलत बोला। ये ऐसा नहीं हुआ था, ऐसा हुआ था और मैं क्या सर नहीं नहीं ऐसा हुआ था आप पढके देखिये और जब वो देखता था वो बोलता था नहीं नहीं सर बिल्कुल ऐसे ही हुआ था, वैरी गुड, बहुत अच्छा है, सर, बहुत अच्छा। मुझे लगा वो एक बड़ा स्पेशल एक्सपीरियंस था मेरे भगत सिंह का और उस समय तीन भगत सिंह फिल्म आए और तीनो भगत सिंह में जब आपस में क्लैश हुई, बॉक्स ऑफिस पर, एक ही दिन, एक ही साथ तीनो पोस्टर लगे हुए थे, मैंने बोला बॉसपंगा बड़ा ले लिया लाइफ के अन्दर लेकिन मुझे लगता है कि वहां से वास्तव में, पूरी यात्रा शुरू हुई। मणिरत्नम ने भगत सिंह को देखा था और उन्होंने मुझे युवा के लिए कास्ट किया, फिर जोधा अकबर बनी, आशिक बनाया आपने भी बनी और फिर मेरा बड़ा ब्रेक हमने शीशा के साथ रहा।

सोनू सूद ने फिट और स्वस्थ रहने पर अपने रहस्य को साझा किया!

मुझे लगता है कि मैंने अपने कॉलेज के दिनों में या अपने संघर्ष के दिनों के दौरान जो कुछ भी किया था, उससे मुझे उस तरह की मानसिकता बनाने में मदद मिली थी जैसे कि यार ही मिलेगा नाही कुछ होगा। मैं न आज तक लाइफ में किसी को घर पर नहीं बोला कि मेरे लिए क्या बनाना हैं। जो सामने रख दिया ठीक है, दाल देदी दे दी, दी सही। अब रोटी वगैरह बंद कर दी, क्योंकि जागरूकता ज्यादा चुकी है की कार्ब्स होते है, प्रोटीन। पहले कुछ पता नहीं था, देसीढंग से एक्सरसाइज करते थे, वर्कआउट करते थे, भागदौड़ करते थे। अभी थोडी ज्यादा ज्ञान गया है, ज्यादा अनुशासित हो गए है, तो इस लिए थोडा फर्क जरुर पड़ा है जिन्दगी में। लेकिन, जैसे मैंने कहा कि अगर हम अपनी दिनचर्या में आप अनुशासित हैं, तो आप क्या खाते हैं, मुझे लगता है कि आप फिट रह सकते हैं। आपको वास्तव में उन अतिरिक्त घंटों की कसरत और सभी करने की आवश्यकता नहीं है। आपको बस जीवन भर अनुशासित रहने की जरूरत है कि सिर्फ एक फिल्म के लिए।

जब सोनू सूद अपने कॉलेज के दिनों में फिल्म जैसी लड़ाई के सीक्वेंस में आए!

मैं नागपुर में वाईसीसी में अपना बीई इन इलेक्ट्रॉनिक्स कर रहा था। तो मेरे जितने भी दोस्त थे, वे थोड़े कुख्यात थे, झगडा करना, मारते हैं, मार धाड़ करना, थोड़े इस तरह के लोग थे। तो मैं उनको हमेशा समझाता था की झगडा मत करो, कुछ नहीं रखा इस में, यहाँ पर पढ़ाई करने आए हैं, माँबाप का नाम रोशन करने आए है इसलिए इन सब में मत पड़ो। लेकिन फिर भी उनका कुछ ना कुछ पंगा और उनके झगड़े ऐसे होते थे, कि तलवार निकल जाती थी, और तलवार निकल गई और वे देसी पिस्तौल लेके आते थे वहा पे। उस तरह के कॉलेज था , जैसे हम फिल्मस में देखते थे वैसा माहौल होता था। और, मुझे याद है कि एक बार कुछ बहुत बड़ा झगडा हो गया और मैं, क्योंकि मैं शांति निर्माता था तो मैं अपने हॉस्टल मैं बैठा हुआ था और हम लगभग 150 लोग थे जो हॉकी स्टिक लेकर हॉस्टल में आए थे और मेरा रूम नंबर 10 था उन्होंने खोला और मुझे देखा की मैं कैरम खेल रहा हूँ और मेरे साथ एक और लड़का था तो उन्होंने ऐसे ही देखा कि, मैंने पलटके देखा की यह लोग है और मुझे एहसास हुआ कि वहाँ कुछ भी सुरक्षित नहीं है जो हॉस्टल में हो रहा था और फिर वो लोग चले गए और मुझे एक लड़का ढुढ़ते हुए आया की यार मेरे रूम के सामने लडको की बहुत पिटाई कर रहे हैं हॉकी स्टिक से, सोनू आप जाओ बचाने के लिए, जैसे ही मैं वहा गया, तो वो बोला आप जूनियर हो आपको रेस्पेक्ट करना नहीं आताआपको 90 डिग्री तक झुक के सलाम करना हैं, तो मैंने बोला वो तो नहीं करुंगा और उस आदमी के हाथ में एक हॉकी स्टिक थी और उसने पूरी ताकत से मेरे फेस पर हॉकी स्टिक मारा, जैसे ही मारा, मेरी आँख से खून आने लगा और मैंने एकदम ऐसे पलट के देखा, मिरर था सामने और मुझे लगा पूरा फेस मेरा ब्लड से भर गया और मैंने कहा इसने तो चेहरा खराब कर दिया मेरा अब तो जिन्दगी खराब हो गई, और मैं एकदम मरने लग गया और वे सभी 20-30 लोग उस कमरे में आए और उन्होंने दे दना दन हॉकी स्टिक पकड़ के खूब मारा मुझे, और मैं बोला बेटा अभी छोडूगा नहीं, एग्जाम था, और मुझे याद है कि मैं अगले दिन अपनी परीक्षा देने से चूक गया और मैंने 150 लोग रात को इकट्ठे किए और बाइक पर बैठ गए ओर हमने एक एक जो दूसरे ग्रुप वाले लड़के थे एक एक को हमने निकाल निकाल के पिटा और वहां से सब भागे और अगले दिन पुलिस ढूढ़ रही थी हम लोगो को की बॉस किधर गया, तो हम लोग 5 दिन वहा पर नहीं आए और वह कमाल था।

जब नेहा धूपिया के साथ शूटिंग के दौरान सोनू सूद ने एक स्टंट फॉक्स पास शेयर किया!

मुझे लगता है, की तेरे साथ ही था, जो तूने किया था, मेरे साथ, क्या आपको याद है? आप इसे कैसे भूल सकते हैं? मैं सबको बताना चाहता हूँ, पूरी दुनिया के सामने कि एक स्टंट था, हम यहशीशानामक फिल्म के लिए कर रहे थे। पूरा हाईवे, बिजी हाईवे था उसमें एक शॉट था, तो उसके अन्दर नेहा की जो गाडी है उसकी ब्रेक फेल हो गई है और वह हाईवे पर है और मैं बाइक पर आता हूँ और मैं बाइक पर कार का पीछा कर रहा हूं और अचानक, बाइक से मैं चलती कार में कूदना चाहता हूं। मैंने अपने निर्देशक और मेरे एक्शन डायरेक्टर से बात की और मैंने कहा कि मैं यह स्टंट करूंगा लेकिन इसमें कोई कटौती नहीं होनी चाहिए। ऐसे नहीं की अचानक जम्प किया तो क्लोज में कट ले लिया ऐसा नहीं। यह एक सिंगल शॉट होगा। कैमरा एक ट्रक पर लगाया गया था, जो कार से आगे बढ़ रहा था, नेहा कार पर है और कैमरा वहाँ है और मैं कार का पीछा करता हूँ और मैं कार के आगे जाता हूँ और मैं कार में कूद जाता हूँ और बाइक हाईवे पर गिर जाती है याद है वो शॉट, नेहा? और, मैं तैयार था और एक्शन और रोल के लिए और नेहा की गाड़ी चल रही है, वह ड्राइव कर रही है, मैं बाइक से फुल स्पीड पर जा रहा हूँ और मैं कूदने के लिए पूरी तरह तैयार हूं। मैंने एक ही चीज बोली है नेहा को की तू गाडी को एक पक्के पर रखना ऐसे हो की मैं जम्प करू और गाड़ी आगे निकल जाए और मैं नीचे गिर जाऊ। तो नेहा जितनी कमाल की ड्राईवर है वो उस दिन मुझे पता चला कि अचानक जैसे मैं जम्प करने लगता हूँ, गाडी आगे निकल रही है, गाड़ी कभी पीछे जा रही है। तो मेरे को लगा कि आज बॉस, नहीं होने वाला है स्टंट। लेकिन, किसी तरह, वह कामयाब हुई और मैंने बाइक से कार में छलांग लगाई और स्टंट शानदार था।

सोनू की पार्टी का लोगो कैसा होगा, अगर उन्होंने बनाया है?

एक डम्बल होगा!

और पार्टी का नाम क्या होगा?

6-पैक पार्टी

सेलिब्रिटीज के सुपरपावर!

फराह खान की सुपरपावर सोनू के अनुसार

उन्हें आप पर चिल्लाने या डांटने के लिए माइक की जरूरत नहीं है। और उनको बोलने के लिए उनकी आवाज जो अगर मुंबई से आवाज देगी तो पंजाब तक गाली सुनाई देगी।

अक्षय कुमार की सुपरपावर सोनू के अनुसार

नोट बड़ी तेजी से गिनते है यार, जितने पैसे कमाते है वो धडाधड और उन्होंने मुझे लगता है काउंटिंग मशीन भी ली होगी, बड़ी स्लो गिनता है, इससे हटाओ पीछे आने दो इसे, पंजाब वाला देसी स्टाइल लगाया ओर तडतड शुरू।  

अनुराग कश्यप की सुपरपावर सोनू के अनुसार

कि वो फिल्म के लिए प्रॉमिस करते है, उसके बाद गायब हो जाते है, मैं उनको बड़ा छेड़ता हूँ, बहुत साल पहले एक फिल्म बन गई थीगुलालउसके अन्दर बड़ा कमाल का रोल दियासोनू यह तू ही कर सकता है, कोई और नहीं कर सकतास्क्रिप्ट आई मेरे पास मैंने बोला बड़ी तैयारी की, उसके बाद अनुराग गायब हो गए, पता लगा गुलाल बन भी गई किसी और के साथ, स्क्रिप्ट यार उनको बोलता हूँ आज भी मेरे पास पड़ी हुई है।

सलमान खान की सुपरपावर सोनू के अनुसार

ट्रेक्टर बड़ा कमाल चलाते है, मुझे इतना पता नहीं था की वो ट्रेक्टर चला लेते है और हाल ही में मैंने उन सभी को एक ट्रैक्टर की सवारी करते हुए देखा, मुझे लगता है की मुझे सलमान भाई के बाजु में बैठके थोड़ी खेतीबाड़ी करनी चाहिए।

शाॅपिंग या एक्टिंगसोनू सूद क्या चुनेंगे

शाॅपिंग का चयन, अभिनय खोना। आपको याद होगा की हम मॉल बंद कराके आते थे, बाकी सब लोग झूठ बोलते है।

फराह या अनुराग इनमे से सोनू सूद किसे चुनेगे?

फराह!

अनुछवि शर्मा


Like it? Share with your friends!

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये