सोनी सब के कलाकारों ने इस गणेश चतुर्थी पर मांगा बप्‍पा  का आर्शीवाद

1 min


सोनाली नायक ऊर्फ मैडम सर की पुष्‍पा सिंह :

गणेश चतुर्थी मेरे लिये वाकई में बेहद खास है। हम पिछले 14 सालों से हर साल गणपति बप्‍पा  को हमारे घर लेकर आते हैं। गणेश जी में मेरी बहुत आस्‍था और विश्‍वास है। मुझे गणेश चतुर्थी के दौरान जब बप्‍पा  के लिये कुछ करने का मौका मिलता है, तो मुझे बहुत ज्‍यादा खुशी और संतुष्टि मिलती है। इस साल, हम मेरे होमटाऊन में हमारे अपने नये बंगले में गणपति जी का स्‍वागत करेंगे। मैं इस बात को लेकर वाकई में बहुत खुश हूं।

मैंने कभी भी गणेश जी से कुछ भी नहीं मांगा है, मैं सिर्फ दिल से प्रार्थना करने और उनका स्‍वागत करने में विश्‍वास रखती हूं। मुझे विश्‍वास है कि मुझे जो भी चाहिये उन्‍हें सब पता है। मैं उनकी प्रार्थना करती हूं और उनका आशीर्वाद लेती हूं। हम गणेश जी की इको फ्रेंडली मूर्ति घर लेकर आते हैं। पिछले साल मेरी बेटी ने घर पर ही क्‍ले से उनकी बप्‍पा  की मूर्ति बनाई थी। इसलिये, इस बार भी हमारी योजना कुछ ऐसा ही करने की है। इस बार गणेश चतु‍र्थी पर मैं अपने प्रशंसकों से बस यही कहना चाहूंगी कि अपने प्रियजनों और परिवार के लोगों की सेहत एवं सुरक्षा का ख्‍याल रखें। हम सभी को इस मुश्किल वक्‍त में सावधानियां बरतने की जरूरत है। त्‍योहारों के उल्‍लास में सुरक्षा के नियमों का पालन करना न भूलें। जिस तरह हम किसी भी महत्‍वपूर्ण काम को करने से पहले ‘गणपति बप्‍पा  मोरया’ का जयकारा लगाते हैं, वैसे ही घर पर एवं घर से बाहर किसी भी काम को करने से पहले सुरक्षा के नियमों का पालन करें। मेरी ओर से आप सभी को गणेश चतुर्थी की ढेर सारी शुभकामनायें।

 सायंतनी घोष ऊर्फ तेरा यार हूं मैं की दलजीत बग्‍गा :

गणेश चतुर्थी महाराष्‍ट्र में हमारे द्वारा मनाया जाने वाला एक सबसे बड़ा त्‍योहार है। यह खुशियां, ऊर्जा और सकारात्‍मक उत्‍साह लेकर आता है। गणेश चतुर्थी एक ऐसा त्‍योहार है, जिसे विभिन्‍न समुदायों के लोग मनाते हैं। इसलिये यह साल का एक सबसे खास महोत्‍सव होता है।

यह साल हम सभी के लिये चुनौतीपूर्ण रहा है और महामारी के खिलाफ हमारी लड़ाई अभी भी जारी है। मैं हर किसी से अनुरोध करना चाहूंगी कि जिम्‍मेदार बनें और‍ सुरक्षा संबंधित सावधानियों का पालन करते हुये गणेश चतुर्थी मनायें। यदि भगवान गणेश की इकोफ्रेंडली मूर्ति की बात करें, मैं पूरी तरह से इसका समर्थन करती हूं, क्‍योंकि इससे हमें हमारे पर्यावरण को सुरक्षित रखने में मदद मिलती है। मैं सभी लोगों से अनुरोध करना चाहूंगी कि गणेश जी की इकोफ्रेंडली मूर्तियां घर लेकर आयें। आप उसे क्‍ले से घर पर भी बना सकती हैं, जो आपके पूरे परिवार के लिये एक यादगार ऐक्टिविटी हो सकती है। मैं अपने सभी प्रशंसकों एवं ‘तेरा यार हूं मैं’ के दर्शकों को गणेश चतुर्थी की शुभकामनायें देना चाहूंगी। हमारा शो अब नये समय पर प्रसारित हो रहा है, तो त्‍योहारों के इस सीजन में मोदक एवं अन्‍य स्‍वादिष्‍ट पकवानों का स्‍वाद चखते हुये आगामी एपिसोड्स का आनंद उठायें। मुझे उम्‍मीद है कि गणपति बप्‍पा  सभी को अपना आर्शीवाद देंगे एवं उन्‍हें सौभाग्‍यशाली बनायेंगे।

 आदित्‍य देशमुख ऊर्फ जिद्दी दिल माने ना के स्‍पेशल एजेंट फैजी :

गणेश चतुर्थी मेरे परिवार के लिये एक सबसे बड़ा त्‍योहार है। मेरी परवरिश मराठी ब्राह्मण परिवार में हुई है और इसलिये मेरे घर में हर साल गणेश चतुर्थी बहुत ही धूमधाम के साथ मनाया जाता है। इस त्‍योहार से जुड़ी जो बात मुझे सबसे अच्‍छी लगती है, वह यह है कि गणेश चतुर्थी के दौरान पूरा महाराष्‍ट्र उत्‍सव के रंग में डूब जाता है। हमें पूरे मुंबई में ढेर सारे रंग और खूबसूरत मूर्तियां नजर आती हैं। मुझे इस त्‍योहार के दौरान हमेशा ऐसा लगता है कि हम सभी पर सकारात्‍मकता एवं खुशियों की एक चादर हो। गणपति जब घर पर आते हैं, तो बहुत सकारात्‍मकता का अहसास होता है और हम इसे सकारात्‍मकता का उत्‍सव भी कह सकते हैं।”

हम हर साल बप्‍पा  का घर पर स्‍वागत करते हैं। इस साल, बहुत सादगी के साथ और हमारे परिवार के करीबी लोगों के साथ ही इस त्‍योहार को मनाने का प्रयास करेंगे, जैसा हमने पिछले साल किया था। हम 1.5 दिन के लिये गणपति को घर लेकर आते हैं और हम इस बात ख्‍याल रखेंगे कि इकोफ्रेंडली मूर्ति लेकर आयें। हम पानी की बाल्‍टी में इस मूर्ति का विसर्जन करते हैं और उस पानी को हमारे पौधों में डालते हैं।

चीजें अब बदल गई हैं और इन मुश्किल समय में भीड़भाड़ वाले जगहों पर जाना सुरक्षित नहीं है। इसलिये, हमारा पूरा परिवार बहुत सादगी के साथ सुरक्षा के नियमों का पालन करते हुये इस त्‍योहार को मनायेगा। यदि मुझे इस साल गणेश जी से कुछ मांगने को कहा जाये, तो मैं यही कामना करूंगा बप्‍पा सभी का कल्‍याण करें। मैं भगवान से प्रार्थना करूंगा कि यह मुश्किल दौर जल्‍दी से गुजर जाये और हम सभी का जीवन सामान्‍य हो जाये। मैं अपने प्रशंसकों और ‘जिद्दी दिल’ के दर्शकों से अनुरोध करूंगा कि भीड़भाड़ वाली जगहों पर न जायें, पटाखे नहीं जलायें और जितना संभव हो सके सादगी के साथ इस त्‍योहार को मनायें। इसके साथ ही मुझे यह भी उम्‍मीद है कि गणेया जी इस मुश्किल वक्‍त को दूर करें, ताकि अगले साल हम पूरे धूमधाम के साथ उनका स्‍वागत करें और इस त्‍योहार को मनायें।

अंजू जाधव ऊर्फ वागले की दुनिया की कियारा :

खुशियों का उत्‍सव आ गया है। मेरे लिये गणेश चतुर्थी का अर्थ है आनंद एवं उम्‍मीद। मुझे हमेशा ही इस त्‍योहार का इंतजार रहता है और मेरे उत्‍साह की कोई सीमा नहीं रहती, क्‍योंकि ये 10 दिन मेरे प्रियजनों को एकसाथ लेकर आते हैं।

 मैंने अपने घर को फूलों और लाइट्स से सजाने की योजना बनाई है और घर पर एक पूजा भी रखूंगी। मैं अपने दोस्‍तों के साथ मंदिर भी जाती हूं। ऐसा लग रहा है लोगों ने बदलते समय के साथ खुद को ढाल लिया है। पारंपरिक रूप से त्‍योहार मनाने का तरीका तो बदल गया है, लेकिन इससे उत्‍सव के उत्‍साह पर कोई असर नहीं पड़ा है। इन बदलावों में पंडालों में सीमित लोगों के आने के साथ ही घरों पर ही उत्‍सव का आनंद उठाना शामिल है। हालांकि, सेलीब्रेशन का हमारा तरीका बदल गया है, लेकिन इससे भगवान गणेश के लिये हमारे प्‍यार और गणेश चतुर्थी के लिये हमारे उत्‍साह में कोई कमी नहीं होनी चाहिये। आप अभी भी घर पर और डिजिटली तरीके से इस त्‍योहार को पूरे उत्‍साह के साथ मना सकते हैं।

मुझे उम्‍मीद है कि ‘वागले की दुनिया’ का हमारा परिवार और दर्शक इस जश्‍न के लिये तैयार हैं। मैं कामना करती हूं कि यह त्‍योहार आप सभी की जिंदगी में खुशियां और प्‍यार लेकर आये। मैं भी दूसरे लोगों की तरह मोदक का आनंद उठाने के लिये उत्‍साहित हूं। मेरी तरफ से मेरे सभी प्रशंसकों को गणेश चतुर्थी की ढेर सारी शुभकामनायें।

दिलजोत छाबड़ा ऊर्फ जिद्दी दिल-माने ना की स्‍पेशल एजेंट संजना :

मेरा ताल्‍लुक एक पंजाबी परिवार से है और मैंने कभी भी गणेश चतुर्थी का त्‍योहार नहीं मनाया था। लेकिन लगभग 4 साल पहले मुंबई आने के बाद से यह मेरा सबसे प्‍यारा त्‍योहार बन गया है। गणेश चतुर्थी के दौरान इस शहर का उत्‍साह देखने लायक होता है। पूरा शहर रौशन रहता है और जश्‍न के लिये सभी को एकसाथ देखकर बहुत अच्‍छा लगता है। अभी समय ऐसा नहीं है कि हम भीड़भाड़ के बीच इस त्‍योहार को मना पायें। लेकिन पिछले साल हमने साबित कर दिया है कि हम किसी भी स्थिति में खुद को ढाल सकते हैं और छोटे रूप में भी इस त्‍योहार को उसी उत्‍साह के साथ मना सकते हैं। मैं सभी लोगों से अनुरोध करतीता हूं कि सुरक्षित रहें और सुरक्षा संबंधित सा‍वधानियों का ध्‍यान रखते हुये ढेरों प्रसन्‍नता के साथ जश्‍न मनायें। इस साल मैं दुनिया की शांति के लिये प्रार्थना कर रही हूं। मेरा कामना है कि गणपति बप्‍पा सभी के लिये सुख और समृद्धि लेकर आयें।

मैं इस साल सभी लोगों को इकोफ्रेंडली गणेश के मूर्तियां उनके घर लाते हुये देखने के लिये उत्‍साहित हूं। दिलजोत और साथ ही आपकी प्‍यारी स्‍पेशल एजेंट संजना की ओर सभी लोगों को गणेश चतुर्थी की हार्दिक शुभकामनायें।

गुल्‍की जोशी ऊर्फ सोनी सब के मैडम सर की हसीना मलिक

इस त्‍योहार के दौरान जो उत्‍साह देखने को मिलता है, वह कमाल का है और हम सौभाग्‍यशाली हैं कि इस साल बप्‍पा हमारी सोसायटी में पधार रहे हैं। इस त्‍योहार का उत्‍साह सभी को एकजुट कर देता है। हालांकि, इस बार अपने दोस्‍तों एवं रिश्‍तेदारों के पास जाकर बप्‍पा  का दर्शन करना एवं जश्‍न में शामिल होना संभव नहीं है, लेकिन मैं उसी उत्‍साह और आनंद के साथ वर्चुअली बप्‍पा के दर्शन करने के लिये कनेक्‍ट करुंगी। भाप में पकाये गये गरमागरम मोदकों का मुझे इस त्‍योहार में हमेशा से ही इंतजार रहता है और इस साल मैं खुद से घर पर मोदक बनाने की सोच रही हूं। इस बार गणेश चतुर्थी पर मेरी कामना है कि सभी लोग स्‍वस्‍थ एवं समृद्ध हों।”

SHARE

Mayapuri