कंगना के कंगन अब खूब खनकेंगे!

1 min


मेरे बहोत सारे ज्ञानी दोस्तों का ये कभी ये कहना और मानना था कि कंगना राणावत जो पहाड़ो से जमीन पर उतरी थी और मुंबई पहुंची थी फिल्मों में नाम, धाम और शाम के खोज में कभी अपनी ख्वाहिशो को पूरी नहीं कर पाएगी, और मेरा दिल और दिमाग दोनों उनकी बातो को मानने के लिए बिलकुल तैयार नहीं थे | जब मैंने उनकी पहली फिल्म गैंगस्टर देखी थी तो मुझे ऐसा लगा कि मैं मेरे दोस्तों के साथ मिलु और जैसे वोह सोचते थे कंगना के बारे में वैसे मैं भी सोचु, लेकिन कंगना ने आगे आगे ऐसा ऐसा काम किया कि मुझे खुद अपने आप पर ख़ुशी महसूस हुयी |
2c7e60c9-a109-4339-8f84-162e672be30cWallpAutoWallpaper2
एक के बाद एक फिल्में जिसमे कंगना खनकती थी उसके अंदर का कलाकार उभर के आता था और मुझे ऐसा लगता था कि ये जो लड़की है वो इतना बेहतर काम कैसे कर लेती थी | कभी उसकी पर्सनल जीवन कि कहानिया मेरी उत्साह को कम कर देती थी , लेकिन जब भी ऐसा ख्याल आता था कंगना एक बार फिर एक अच्छे और ख़ूबसूरत कलाकार बनकर मेरे सामने और खाश कर दुनिया के सामने आ जाती थी और साड़ी नेगेटिव कहानियो को पॉजिटिव रूप में बदल देती थी | कंगना का कलाकार कंगना राणावत पर हावी हो जाता था और लगता था वो एक ऐसी कलाकार बन जाती थी कि उसको बार बार अच्छे अच्छे किरदारों में देखने का दिल करता था |
Happy Birthday Kangana Ranaut!
पहली बार जब कंगना ने दुनिया को दिखा दिया कि वो कितनी अच्छी कलाकार थी जिसको लोगों ने अभी पहचाना नहीं था वो था जब उसने एक मॉडल का किरदार निभाया मधुर भंडारकर कि फिल्म फैशन में | वो एक ऐसी मॉडल थी फैशन में जो सही रास्ते से अलग चल रही थी जिसके वजह से वो पूरी बर्बाद हो गयी थी उसका मुकाबला प्रियंका चोपड़ा के साथ था जिसका ट्रेलर मेड रोले था लेकिन फिर भी कहीं दृश्यों में कंगना ने प्रियंका को साफ़ मात दिया था उस फिल्म में और जब कंगना को उसके किरदार को निभाने के लिए नेशनल अवार्ड फॉर बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस मिला था , तो वो उसके लिए एक बहोत बड़ी जीत थी | वो जैसे थी अवार्ड उसके दिमाग को जैसे कहते है खराब भी कर सकती थी, लेकिन ये काबिल ये तारीफ़ बात थी कि कंगना उसके बाद और भी बेहतर कलाकार बनती गयी ….

kangana_storysize_650_032314033728
और एक बार फिर जब उसने जब अपने अंदर के कलाकार को चैलेंज किया नेगेटिव रोल करने के लिए “कृष ३” में तो फिर ऐसा लगा कि वो ऐसे क्यों कर रही है जब उसका हुनर और भी अच्छा काम करने का था ….
लेकिन जो भी उसको कामयाबी से दूर देखना चाहता था उसके लिए कंगना के पास एक छोटी सी लेकिन जबरदस्त जवाब था | एक ऐसी फिल्म आई जिसके लिए किसी के दिल में कोई दिलचस्पी या कोई उम्मीद नहीं थी | वो फिल्म थी “क्वीन” एक बार फिर मेरे ज्ञानि दोस्तों ने कंगना के लिए “द एंड” लिख दिया था |
267579-tanu-weds-manu

और मैं सिर्फ ये देखने के लिए “क्वीन” देखने गया कि फिल्म में क्या खास बात थी जिसके लिए कंगना ने उसमे काम करने के लिए हा कि थी | मैंने एक छोटे से अंधेर गली में एक मल्टीप्लेक्स में क्वीन देखी और उसके बाद उसी मल्टीप्लेक्स में मैंने क्वीन तीन बार तीन दोनों में देखी| कारण एक ही था | कंगना राणावत का कमाल का काम | मैंने जितनी भी शर्तें जो मैं लगा सकता था वो सब लगा दी कि अगर सच्चाई कि जीत होगी तो सारे अवार्ड कंगना जीतेगी और अपने आप में एक एक्टिंग कि क्वीन बनेगी| और अब बात बिलकुल साफ़ है | कंगना ने न सिर्फ देश का हर अवार्ड जीता है क्वीन के लिए बल्कि विदेश में भी |
Krrish 3 Hindi Movie HD Wallpapers (2)
ऐसा वक़्त था कि कंगना कामयाबी के नशे में आकर कोई भी फिल्म शाइन कर कर सकती थी, लेकिन कंगना ने ऐसा कुछ भी नहीं किया और इस बार लोगों ने उसको फिर पागल घोषित कर दिया | अब ऐसा वक़्त आ गया है कंगना के करियर में कि उसके पास सिर्फ एक फिल्म है जो रिलीज़ के लिए तैयार है और वो है “तनु वेदड मनु २” पहले वर्शन में सिर्फ एक तनु थी जिसने लोगो का दिल जीत लिया था |

kangana-ranaut-queen
अब कंगना एक नहीं , दो तनु के रूप में दिखाई देगी| कंगना का इस सीक्वल को करने का पागलपन में कोई तो मेथड होगा , ये मैं मानता हूँ| और मेरी बात को सच या झूठ साबित करना होगा कंगना को , क्यूंकि आज के जमाने मैंने किसी एक्ट्रेस के टैलेंट को इतना सीरियसली लिया नहीं है और किसी भी आज के एक्ट्रेस पर मैंने कोई शर्त भी लगायी नहीं है और मेरे चालीस साल के करियर को दांव पर लगाया नहीं है, न करूंगा मेरी इस उम्र में ….
हां, कंगना खनकेगी और जैसे जैसे वक़्त आगे चलेगा कंगना के कंगन और भी खनकेंगे |


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये