‘अपने दोस्तों और अपने डाॅगी के साथ ही होली मनाना पसंद करती हूं’’ – सुजाना मुखर्जी

1 min


एम टीवी के मशहूर शो रोड़ीज से शुरू हो सुजाना मुखर्जी ने बाद में अपने कॅरियर को गंभीरता से लेते हुये टीवी और एड फिल्मों से शुरूआत की । टीवी पर चैनल वी के शो में लीड करते उसने कुछ एड भी किये ।जैसे पिज्जा हट् तथा फेयरलवली आदि। उसकी पहली फिल्म थी ‘ टुट्या दिल’ लेकिन उस फिल्म का ना तो ठीक प्रमोशन हुआ और न ही रिलीजिंग । इसी सप्ताह उसकी दूसरी फिल्म ‘बदमाशियां’ रिलीज हुई जिसमें उसके काम की तारीफ हुई । सुजाना से उसके करियर के अलावा होली को लेकर एक बातचीत ।

sujana mukharji

होली में बचपन से ही देखती आ रही हूं । मैं खुद बचपन से होली मनाती हूं लेकिन सिर्फ अपने बेस्ट दोस्तों और अपने डाॅगी के साथ ही ।होली में हम कोई ऐसा कैमिकल या दूसरे रसायनिक वाले कलर्स यूज नहीं करते ।
अब तो मैं मुबंई में सैटल हूं लेकिन मुझे याद है कि हमारा पूरा परिवार और मेरे कजसं छत्तीसगढ़ दादाजी के घर जाकर सारे मिलकर उनके साथ होली मनाते थे । हमारा परिवार बहुत बड़ा है इसलिये इस त्यौहार पर हम सभी मिलकर एक दूसरे के साथ मस्ती करते थे । उस दौरान बहुत सारे लोग हमारे यंहा मिलने के लिये आते थे ।
मैं कैमिकल्स वाले रंगों से बहुत डरती हूं । अगर दूसरे भी ऐसे कलर यूज करते हैं वह भी मुझे सहन नहीं होता । मैं उन्हें समझाने की कोशिश करती हूं कि ये सारी चीजें जमीन पर गिरने के बाद उसके भीतर जाती हैं । मैं अपने आसपास के लोगों को प्लास्टिक तथा पेपर्स तक को यूज न करने की सलाह देते हुये उन्हें इसके बाद होने वाले नुकसान के बारे में विस्तार से समझाती हूं । बहुत सारे लोग हैं जो इन बातों को मानते हुए इन सारी चीजों से परहेज करते हैं ।
जंहा तक त्यौहरों की बात की जाये तो हमारे तीज त्योहारों की संख्या इतनी है कि हम काम कम करते हैं ओर त्यौहार ज्यादा मनाते हैं । फिर भी ये हमारा कल्चर है हमारी संस्कृति है और इसे फाॅलो करना हमारा फर्ज बनता है ।
मैं बहुत लिबरल फैमिली से हूं । इसलिये जो मैने अपने मां बाप से सीखा है उसे मैं अवाइड नहीं कर सकती ।

sujana mukharji 2

अगर करियर की बात की जाये तो कालेज टाइम में मैने एम टीवी रोड़ीज से शुरूआत की थी । मुबंई आने के बाद मैने टीवी पर वी चैनल के शो से अपने कॅरियर की शुरूआत की, और कुछ विज्ञापन फिल्में भी की जैसे पिज्जा हट् या फेयर लवली आदि । मैने विज्ञापन ज्यादा इसलिये नहीं किये क्योंकि मैं पूरा फोकस फिल्मों पर ही रखना चाहती थी । मेरी पहली फिल्म का नाम था ‘ टुट्या दिल’ इसके डायरेक्टर अमित खन्ना थे । लेकिन उस फिल्म का न तो ढंग से प्रमोशन हुआ और न ही उसे तरीके से रिलीज किया गया । लिहाजा उसके मुश्किल से पंदरह शोज हुये होगें । इसके बाद अमित खन्ना ने मुझे अपनी दूसरी फिल्म ‘बदमाशियां में कास्ट किया । यह फिल्म पिछले सप्ताह रिलीज हुई । इस फिल्म में मेरे काम की तारीफ हुई । इसमें मैने नारी नामक ऐसा किरदार प्ले किया, जिसमें बहुत ही कम षेड्स हैं । इसके अलावा कहीं न कहीं नगेटिव शेड्स भी दिखाई दिये होगें ।
आगे भी मैं अमित खन्ना की एक अनाम फिल्म करने जा रही हूं । ये एक लव स्टोरी है । इसमें मुझे बहुत ही अलग सा रोल निभाने का मौंका मिला है ।

SHARE

Mayapuri