स्टार प्लस लेकर आया ‘रिश्तों का चक्रव्यूह‘, एक मां-बेटी के बीच असाधारण ‘द्वेषपूर्ण‘ कहानी

1 min


‘‘जिंदगी से हमें जितने भी उपहार मिले हैं, उनमें से मां सबसे अच्छा तोहफा है।‘‘ – यह एक सशक्त कहावत है। ‘मां‘ का महत्व सारी दुनिया में एकसा है, नहीं? जब वे कहते हैं कि ‘प्यार‘ की शुरूआत और अंत मातृत्व के साथ होता है, तो क्या आपने कभी मां-बेटी की ऐसी जोड़ी की कल्पना की है, जिनके बीच ‘प्यार‘ की कोई भावना ही नहीं है।

Narayani Shastri

स्टार प्लस एक नया ड्रामा ‘रिश्तों का चक्रव्यूह‘ लेकर आ रहा है, जोकि मां सतरूपा और उसकी बेटी अनामी के बीच के टकराव को दिखाता है। शाही पृष्ठभूमि पर आधारित यह शो एक अमीर औद्योगिक परिवार पर केंद्रित है, जोकि एक भव्य लाल महल में रहता है। यह लाल महल कई षड़यंत्रों का घर है। इस शो में सत्तावादी महिला सतरूपा और उसकी बेटी अनामी की कहानी दिखाई गई है।

Mahima Makwana

इस दिलचस्प जोड़ी के बीच हमेशा विवाद रहता है। आखिर उन्हें किसने अलग किया है? क्या यह परिवार में होने वाला आम झगड़ा है, जो समय के साथ ठीक हो जाता है? अथवा यह एक स्थायी दरार है जिसका उत्पत्ति द्वेष से भरे अतीत के कारण हुई? एक मां और बेटी का रिश्ता बेहद पवित्र माना जाता है, यह इतना द्वेषपूर्ण कैसे हो सकता है?

Anju Mahendru

सतरूपा की भूमिका बहुमुखी अदाकारा नारायणी शास्त्री निभा रही है। सतरूपा एक दृढ़ इच्छाशक्ति वाली कामयाब बिजनेस वुमेन है। वह अपने माता-पिता की अकेली लड़की होती है और बहुत कम उम्र से ही बिजनेस की जिम्मेदारी अपने कंधों पर उठा लेती है। वह आज जिस मुकाम पर है, वहां तक पहुंचने के लिए उसने जिंदगी में काफी बलिदान किये हैं। लाल महल की डोर पूरी तरह से सतरूपा के हाथों में हैं।

Ajay Choudhary

इस कटु संबंध के दूसरी ओर एक आत्मविश्वासी, निडर और जिंदादिल अनामी है, जिसका किरदार महिमा मकवाना निभा रही है। 17 वर्षीय अनामी बनारस की रहने वाली है और दंबग रवैये के साथ एक विद्रोही है। वह अपनी खुद की बॉस है और अपने फैसले खुद से लेती है। अत्यधिक क्रोध करने वाली अनामी हमेशा सही के पक्ष में खड़ी रहती है और अपनी किस्मत खुद से लिखने में यकीन करती है। उसका लुक उसे सबसे अलग करता है। निर्भीक अनामी अपने भारी-भरकम तकियाकलाम के लिए जानी जाती है – ‘हमारे बारे में ज्यादा मत सोचिये दिमाग ब्लास्ट मार देगा‘‘ और ‘दिल गंगा और दिमाग में पंगा‘‘। अपने उग्र स्वभाव के बावजूद, वह एक शिष्ट लड़की है जो अपने सिद्धांतों में विश्वास करती है। वह पक्के इरादों वाली लड़की है।

Ram Gopal Anju Mahendru Mahima Makwana, , Ajay Choudhary, Narayani Shastri, Karishma

‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी‘ के बाद स्टार प्लस पर अपनी वापसी को लेकर उत्साहित नारायणी कहती हैं, ‘‘इस शो के साथ यह घर आने जैसा है।‘‘ इस शो के साथ पर्दे पर निभाये जाने वाले अनूठे ‘संबंध‘ के बारे में उनका कहना है, ‘‘हम बच्चे अपनी मां के हमेशा करीब होते हैं। खासतौर से बेटियां, जो अपनी बढ़ती उम्र में अपनी मां पर सबसे अधिक विश्वास करती हैं। इस धारणा के विपरीत, ऐसे शो में काम करना काफी रोचक है जिसमें एक मां-बेटी की जोड़ी के बीच लड़ाई को दिखाया गया है।‘‘

Ram Gopal Anju Mahendru Mahima Makwana, Neeraj Shukla, Bhupinder Singh, Sanjot Kaur, Ajay Choudhary, Narayani Shastri, Karishma

महिमा, जो इस शो में एक दबंग किरदार निभा रही हैं, काफी खुश हैं और उन्होंने कहा, ‘‘जंग लोहे में लगता है मिट्टी में नहीं, और हमारा इरादा मिट्टी का है! यह कुछ ऐसे दमदार डायलॉग्स हैं जिन्हें मैं शो में बोलूंगी। मैं शो में इस शक्तिशाली भूमिका को अदा करने के लिए वाकई में उत्साहित हूं।‘‘ उन्होंने आगे बताया, ‘‘असली जिंदगी में मैं अपनी मां के बहुत करीब हूं और उनका खूब सम्मान करती हूं। लेकिन इस शो में मैं एकदम उलट किरदार अदा करूंगी। और इस शो में मेरी मां सतरूपा के प्रति मेरा जो रवैया है,वह एक साधारण मां-बेटी के संबंधों से एकदम विपरीत है। खैर यह घृणा के ‘लेनदेन‘ का समीकरण है जिसे हम आपस में साझा करते हैं। इस शो में एक और दिलचस्प चीज है ‘लाल महल‘, यह एक घर नहीं है बल्कि षड़यंत्रों का जाल है, आप तब आश्चर्य करेंगे जब यहां से छुपे गहरे राज बाहर निकलकर आयेंगे।‘‘

Mahima Makwana and Narayani Shastri

मां और बेटी की इस शानदार अनोखी जोड़ी के अलावा, इस शो में कई और दमदार कलाकारों को भी देखने का मौका मिलेगा। इसमें संगीता घोष और प्रणीत भट्ट निगेटिव किरदारों में दिखाये जायेंगे। अंजू महेन्द्रू और टॉम आल्टर भी मुख्य भूमिकाओं में होंगे।
सतरूपा और अनामी के बीच आखिर इतनी दूरियां क्यों बन गईं, क्या वे कभी शांति से रह पायेंगी?इसे जानने के लिए देखिये ‘रिश्तों का चक्रव्यूह‘ 7 अगस्त से, शाम 6 बजे सिर्फ स्टार प्लस पर।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये