INTERVIEW: ‘‘मुझे उस वक्त पता लगा जब लोग मेरी कॉमेडी पर हंसने लगे’’ – सुनील ग्रोवर

1 min


सुनील ग्रोवर को दर्शक सिर्फ कपिल शर्मा कॉमेडी शो के तहत ही जानते हैं वरना अभी तक उसने करीब एक दर्जन फिल्में तथा इतने ही शो टीवी पर किये हैं। इसके अलावा रेडियो पर उसका हंसी के फव्वारे नामक शो अच्छा खासा लोकप्रिय हुआ था। उसकी इसी सप्ताह रिलीज होने वाली फिल्म का नाम है ‘कॉफी विद डी’। पिछले दिनों इस फिल्म को लेकर सुनील से हुई श्याम शर्मा की बातचीत।

आप फिल्म में किस तरह का किरदार कर रहे हैं ?

मैं यहां एक ऐसे जर्नलिस्ट का किरदार निभा रहा हूं जो कैसे भी अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद का इन्टरव्यू करना चाहता है। इसके लिये वो ऐसे ऐसे काम करता हैं जिससे मजबूर हो दाउद को इन्टरव्यू के लिये उसे बुलाना ही पड़ता है ।coffee-with-d

आपने एक नामचीन जर्नलिस्ट अर्नब के नाम का सहारा लिया ,क्यों ?

ऐसी कोई खास बात नहीं थी। क्योंकि अर्नब एक मशहूर नाम है लोग बतौर जर्नलिस्ट इस नाम से अच्छी तरह वाकिफ हैं इसलिये निर्देशक ने ये नाम रखा ताकि मेरा किरदार जल्दी रजिस्टर्ड हो जाये । वरना ये उनके उपर आधारित किरदार नहीं है ।

आप इस किरदार के लिये अपनाये गये मैनेरीजम को लेकर क्या कहेगें ?

ऐसी बात नहीं है । मैने देखा है उन सारे जर्नलिस्टों का एक जैसा ही लहजा होता है जो संशेनल खबरें पढ़ते हैं । कोई खास बात नहीं, मैने बस वो दिशा ही पकड़ी है ।

इस रोल के लिये क्या कुछ तैयारियां की थी ?

देखिये जिस प्रकार आप न्यूज देखते हैं मैं भी देखता हूं, तो मुझे अपना कुछ नहीं करना पड़ा, क्योंकि मैने अपने आपको निर्देशक के हाथों में सौंप दिया । बाद में वो जैसे कहते गये मैं करता गया ।

फिल्म के डायरेक्टर विशाल से कैसे मिलना हुआ ?

विशाल मेरे एक फ्रेंड के फ्रेंड हैं। उसने मुझे कई बार कहा कि विशाल से मिल लो, उसके पास एक बेहतरीन स्क्रिप्ट है। मैं उनसे मिला तो मुझे उनका वीजन काफी अच्छा लगा। इसके बाद मैने कहा चलो साथ काम करते हैं ।sunil-grover-coffie-with-d

आप अभी तक एक दर्जन से ज्यादा फिल्म कर चुके हैं, फिर भी आपका हर फिल्म में डेब्यू ही होता रहा है ?

मुझे भी नहीं पता कि क्यों पिछले पंदरह सालों से लोग बाग मेरा डेब्यू करवाने में लगे हैं यानि मैं इतने दिनों से उभरता हुआ सितारा ही बना हुआ हूं। रही इस फिल्म की बात तो यंहा भी मैने ऐसा कुछ नहीं कहा । निर्देशक शायद इसलिये ऐसा कह रहे हों क्योंकि फिल्म में मेरा सैंट्रल रोल है। लेकिन उन्हें लिखना चाहिये डेब्यू इन जैनुइन मेन कॅरेक्टर ।

सुनील इससे पहले फिल्मों में अलग अलग किरदार कर चुके हैं । इसके अलावा एंकरिंग तथा गुत्थी, भाभी और डा. मषूर गलाटी आदि रोल्स कर रहे हैं ?

दरअसल मेरे भीतर पता नहीं कब से क्या कुछ भरा हुआ था। आप कह सकते हैं कि बहुत अरसे से बहुत कुछ दबा हुआ है मेरे भीतर। मुझे अभी बहुत सारा कुछ करना है, बहुत सारी एक्टिंग करनी है मुझे लगता है कि अभी मैं सिर्फ उसका एक पार्ट ही कर पाया हूं। कुछ किरदारों से लोग जुड़े भी हैं आगे भी मैं ढेर सारे अलग अलग किरदार करना चाहता हूं । अगर कॉमेडी की बात की जाये तो थियेटर में मुझे कॉमेडी करने का अवसर ही नहीं मिल पाया,क्योंकि मैं उन दिनों सिर्फ सीरियस रोल्स ही किया करता था । जब मैने पहली बार कॉमेडी की, उसे देखकर लोगों को मजा आने लगा तो मेरा उत्साह भी बढ़ता गया । आज मैं कह सकता हूं कि मुझे कॉमेडी करना अच्छा लगता है ।coffee-with-d-will

आपको पहले से पता था कि आप कॉमेडी कर सकते हैं ?

मुझे बिलकुल पता नहीं था कि मैं कॉमेडी कर सकता हूं । मुझे तब पता लगा जब मेरी कॉमेडी पर लोग हंसने लगे । हालांकि इससे पहले मैने रेडियो भी किया लेकिन जब से टीवी पर कॉमेडी शो करने शुरू किये तो उसके बाद लोगों दिये गये रिस्पांस को देख कर हैरानी भी हुई और खुशी भी । मुझे संतोष हुआ कि मैं अच्छा काम कर रहा हूं जिससे लोगों को खुशी मिल रही है और मुझे पैसे ।

कपिल का शो आपके लिये माइल स्टोन साबित हुआ । फिल्म को लेकर क्या कहेगें ?

कपिल का शो मेरे लिये ही नहीं बल्कि सारी टीम के लिये कमाल का अनुभव साबित हो रहा है । रही फिल्म की बात तो फिल्म अभी रिलीज हुई है । अपने लिये मैं कह सकता हूं कि बतौर एक्टर मेरी इस फिल्म के बाद एक ग्रोथ हुई है, एक अलग अनुभव हुआ है।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये