पद्म्रश्री सुरेश वाडकर ने हनुमान जयंती के मौके पर लॉन्च किया ‘सुरेश वाडकर भक्ति’ चैनल

1 min


भजन से लेकर अभंग, मंत्र, शबाद, स्तोत्र तक पद्मश्री प्राप्त सुरेश वाडकर आध्यात्मिक चेतना जगानेवाले सभी तरह के भक्ति गीतों के गायन के लिए दुनिया भर में अपनी अलग पहचान रखते हैं.
 
अब हनुमान जयंती के खास मौके पर सुरेश वाडकर ने ‘सुरेश वाडकर भक्ति’ नामक एक यूट्यूब चैनल लॉन्च कर दिया है. इसके माध्यम से उनकी पहली पेशकश है मारूति स्त्रोत. मारूति स्तोत्र का गायन जहां सुरेश वाडकर ने किया है तो वहीं इसे संगीतबद्ध उनसे गायन सीखनेवाले छात्र पद्मनाभन ने किया है. इस चैनल को मंगलवार को दोपहर 12.00 बजे लॉन्च कर दिया गया.
 
मारूति स्त्रोत अथवा हनुमान स्त्रोत महाराष्ट्र से ताल्लुक रखनेवाले 17वीं सदी के नामी संत समर्थ रामदास जी द्वारा ईश्वर की स्तुति में लिखे गये गीत हैं. इन गीतों में मारूति नंदन उर्फ़ भगवान हनुमान के जीवन के विभिन्न व अद्भुत पहलुओं को उभारा गया है.
 
इस भक्ति चैनल के लिए सुरेश वाडकर अपने छात्रों और अन्य कम्पोजरों द्वारा संगीतबद्ध किये गये गीतों को गाएंगे. उल्लेखनीय है सुरेश वाडकर के आजीवासन साउंड्स ने समानांतर रूप से ‘आजीवासन भक्ति’ और ‘आजीवासन साउंड्ज़’ नामक दो और चैनल लॉन्च किये हैं. इस चैनल का मकसद उभरते हुए गायकों के गीतों को प्रमोट करना और ऐसे प्रतिभाशाली गायकों को मौका देना है.
सुरेश वाडकर इस बात को लेकर बेहद खुश हैं कि अव वो अपने प्रथम प्रेम यानी भक्ति गीतों पर पूरी तरह से ध्यान दे पा रहे हैं. वे कहते हैं, “मैं इसे बहुत पहले ही शुरू करना चाहता था मगर मैं अपनी रिकॉर्डिंग्स, शोज़ और म्यूज़िक एकेडमी में पूरी तरह से व्यस्त हो गया था. अब मेरी पत्नी पदमा आजीवासन के रोज़मर्रा का कामकाज संभालती हैं. इसके अलावा, महामारी के इस दौर में मुझे अपने लिए काफ़ी वक्त मिला और ऐसे में मैंने अपने चैनल को शुरू करने की जद्दोजहद शुरू की. मुझे ख़ुशी है कि आखिरकार हमुमान जी की कृपा से मैं इसे शुरू कर पाने में कामयाब हुआ.”
 
चलिए हम सब मिलकर भगवान हनुमान की वंदना करें!

Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये