‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में नया हंगामा, दरवाजे से चिपक गए बाबू जी

1 min


गोकुलधाम सोसाइटी में सभी कुछ शांत है और सभी खुश हैं। पर क्या ये कोई तूफान के आने से पहले का सन्नाटा है ?  दिन की शुरुआत करने के लिए भिड़े उस दिन का सुविचार लिखने के लिए जाता है और उसका हाथ बंटाने के लिए सोढ़ी भी उसके साथ जाता है।  पर उन दोनों से क्लब हाउस का दरवाजा नहीं खुलता। सोढ़ी जब ज्यादा जोर लगाता है तो दरवाजा टूट कर  उसके हाथ में आ जाता है। दरवाजे को जोड़ने के लिए भिड़े कारपेंटर बाबू चिपके को बुलाता है। बस वहीं से होती है परेशानी की शुरुआत ।

टापू छक्के पर छक्के लगा रहा था

खूब सारी गोंद लगाकर बाबू चिपके दरवाजे को सूखने के लिए सोसाइटी के कम्पाउंड में छोड़कर खाना खाने चला जाते है। वहां पर टापू सेना बापू जी के साथ क्रिकेट खेल रही थी और टापू छक्के पर छक्के लगा रहा था। उसे आउट करने के चक्कर  में बापू जी गेंद पकड़ने के लिए पीछे भागते हैं और उनके पैर उस गीली गोंद  वाले दरवाजे पड़ते हैं। और हो गया कल्याण। बापू जी के दोनों पैर उस दरवाजे से चिपक जाते हैं।  इसी के साथ हंगामे और हंसी से भरे एक नए हादसे की शुरूआत होगी ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में। क्या होगा बापू जी का? क्या गोकुलधाम के सदस्य उन्हें इस दरवाजे से अलग कर  पाएंगे या रात में भी बापू जी को खड़े खड़े ही सोना पड़ेगा ? बापू जी की इस हास्यास्पद कहानी का प्रसारण सोमवार 11 दिसंबर से रात 8.30 बजे से सब टीवी पर शुरू होगा।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये