INTERVIEW!! ‘‘यहां तीनों रीयल किरदार नजर आने वाले हैं’’ – तारा अलीशा बेरी

1 min


tara-alisha-berry.gif?fit=650%2C450&ssl=1

मॉडल और अभिनेत्री नंदनी सेन की बेटी तारा अलीशा बेरी की स्कूलिंग हुई बंगलौर में और बाकी पढ़ाई मुबंई में हुई। डैडी की सलाह पर कैलीफोर्निया से डायरेक्शन और स्क्रिप्टिंग की पढ़ाई करने के बाद भी जब उसे लगा कि डायरेक्शन उसके बस की बात नहीं। इसके बाद उसने एक्टिंग में ही आना ठीक समझा। विक्रम भट्ट की फिल्म ‘लव गेम्स’ के लिये तारा से हुई मुलाकात में फिल्म के अलावा भी कुछ और बातों का सिलसिला चला, जो इस प्रकार है।

परिचय

मैं बेसिकली मुंबई से हूं। मेरी बचपन से ही एक्टिंग करने की इच्छा थी लेकिन पापा का कहना था कि मैं डायरेक्शन में जाऊं। इसके लिये मैंने कैलीफोर्निया में दो साल की प्रोड्क्शन और स्क्रिप्टिंग का कोर्स किया, लेकिन इतना सब करने के बाद मुझे महसुस हुआ कि मैं कभी भी प्रोड्क्शन या डायरेक्शन के लायक नही बन सकती। मेरी स्कूलिंग बंगलौर में हुई थी। मेरी मम्मी नंदनी सेन उन दिनों मशहूर मॉडल थी, लेकिन मेरे पैदा होने के बाद उन्होंने मॉडलिंग छोड़ दी और वे भी फिल्मों और धारावाहिकों में अभिनय करने लगी। मेरी पहली फिल्म सुनील वौरा की ‘मस्तराम’ थी उसमें मैंने मस्तराम की बीवी का रोल किया था। उसका मुझे काफी अच्छा रिस्पांस मिला। उसके बाद मैंने अनुराग बासु के साथ रविन्द्रनाथ टैगोर की कहानियों पर आधारित धारावाहिक ‘चोखेर बाली’ में राधिका आप्टे के साथ काम किया। फिर फिल्म ‘द परफेक्ट गर्ल’ की, और अब ‘लव गेम्स’ आपके सामने है।

224

तीन फिल्मों का कॉन्ट्रेक्ट

मेरा विक्रम भट्ट से मिलना हुआ। मैं उनसे मिलने के बाद घर आ गई। दो तीन दिन तक उनकी कोई कॉल नहीं आई, जबकि वो बात ऐसे कर रहे थे जैसे अभी सब कुछ शुरू होने जा रहा है। करीब दो सप्ताह बाद मुकेश भट्ट अंकल के यहां से फोन आया और उन्होंने मुझे ये फिल्म ऑफर की, विक्रम सर ने मुझे नरेशन दी। इसके बाद मेरे साथ जो एग्रीमेंट हुआ वो तीन फिल्मों का था। इसलिये मैं अपने आपको काफी लकी मानती हूं।

225a7f2838dcaa1fe1221aaaaabc7d3c6f21413d-tc-img-preview

भूमिका

फिल्म में दो लोग रमोना और सैम जिस कपल के साथ लव गेम खेल रहे हैं। एक और कपल जिसमें मैं हूं, वहां सैम को मुझसे प्यार हो जाता है। इसके बाद क्या होता है। यही लवगेम है। मेरा किरदार अलीशी का है जो एक रिलेशनशिप में है वो अपने भीतर की ताकत को लव के तहत वापस पाती है। वो एक ऐसी मैच्यौर ओरत है जो अपने दर्द को अपने भीतर समेटे रहती है। मुझसे पर्सनली ये भूमिका बिल्कुल अलग है क्योंकि वो मेरी तरह न तो हंसमुख है और न ही मिलनसार। वो बहुत कम लोगों के साथ खुलना पसंद करती हैं। मेरे लिये ये भूमिका निभाना काफी चैलेंजिंग रहा। मैं ही नहीं बल्कि गौरव, पत्रलेखा और मैंने यानि हम तीनों ने पहले से ही काफी मेहनत की थी। भट्ट साहब और विक्रम सर ने हमारे साथ काफी वर्कशॉप किया। चाहे म्यूजिक सेशन हो या सिक्रप्ट सेशन हमें सारे सेशंस में इन्वॉल्व किया गया। इस तरह शूटिंग के दौरान केपटाउन पहुंचने तक हम अपनी अपनी भूमिकाओं में पूरी तरह घुस चुके थे।

Tara-alisha-beery

फिल्म में अपोजिट कलाकार

हमारे अलावा फिल्म में हिरेन तेजवानी मेरे अपोजिट हैं। वे थोड़े वक्त के लिये ही थे, लेकिन काफी सीनियर और बहुत अच्छे इंसान हैं उनसे मैंने काफी कुछ सीखा।

फिर एक लव स्टोरी

नहीं इसका मेरी पहली फिल्म से कोई लेना देना नहीं। मेरी पहली फिल्म की कहानी एक कॉलेज गोइंग लड़की की थी जिसे प्यार हो जाता है, जबकि यहां दो ओरतें और एक मर्द की कहानी है लेकिन इसे ट्रायंगल लव स्टोरी नहीं कहा जा सकता। यहां पत्रलेखा यानि रमोना और सैम यानि गौरव दूसरों के साथ लवगेम खेलते हैं लेकिन जब सैम को किसी और से यानि अलीशा से प्यार हो जाता है तो फिर क्या होता है। यहां रमोना हो, अलीशा हो या सैम हो, यहां कोई हीरो या विलन नहीं हैं यहां आपको तीनों रीयल किरदार नजर आयेंगे।

6ntxcxlrsqkxnmac.D.0.Tara-Alisha-Berry-Gaurav-Arora-Film-Love-Games-Photo

आगे दो फिल्में

फिलहाल उनके बारे में कोई बात नहीं की जा सकती। उन फिल्मों की अनाउंसमेंन्ट भट्ट कैंप अपने हिसाब से करेगा।

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये