मुझे शाहरूख खान बनाने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद’’ -शाहरूख खान

1 min


शाहरुख़ ख़ान और काजोल स्टारर फ़िल्म, ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे’ (लोग प्यार से इसे DDLJ भी कहते हैं) को आज 25 साल पूरे हो गए हैं, जिसे आदित्य चोपड़ा ने डायरेक्ट किया था। इस मौके पर रोमांस के बादशाह ने फ़िल्म के बारे में खुलकर बताते हुए कहा कि, उन्हें ऐसा नहीं लगता था कि वह पर्दे पर एक रोमांटिक हीरो की भूमिका निभा सकते हैं!

SRK कहते हैं, “उस वक़्त तक मैंने पर्दे पर जो भूमिकाएं निभाई थी, राज उसके बिल्कुल विपरीत था। DDLJ से पहले मैंने डर, बाजीगर, अंजाम जैसी फिल्मों में नेगेटिव कैरेक्टर को पर्दे पर उतारा था। इसके अलावा, मुझे हमेशा यही लगता था कि मैं किसी भी रोमांटिक किरदार को निभाने के लिए उपयुक्त नहीं हूं। इसलिए, जब यश जी और आदि ने मुझे इस किरदार के बारे में बताया और इसे पर्दे पर निभाने का अवसर दिया, तब मैं उनके साथ काम करने को लेकर काफी एक्साइटेड था, लेकिन मुझे समझ नहीं आ रहा था कि इसकी शुरुआत कैसे की जाए। मैं यह भी सोच रहा था कि, मैं इस किरदार को अच्छी तरह से निभा पाऊंगा या नहीं।”

“सच कहूं तो, मुझे हमेशा लगता है कि आदि ने मुझसे घनिष्ठता की वजह से ही मुझे इस फ़िल्म में कास्ट किया। मुझे यह कैरेक्टर सही मायने में काफी इन्डीयरिंग और स्वीट लगा – और फिर मैंने अपना योगदान देते हुए इस कैरेक्टर को जीवंत किया। यह उन भूमिकाओं में से एक है, जिसके लिए मैंने महसूस किया कि मैं अपनी असल ज़िंदगी के एक वर्जन को इसमें शामिल कर सकता हूं। इसलिए, इस कैरेक्टर में आपको कुछ अनोखापन नज़र आएगा, साथ ही इस किरदार में आप कुछ ऐसे हैबिट्स और मैनरिज़्म को भी देख सकते हैं जो असल ज़िंदगी में मेरे व्यक्तित्व का हिस्सा हैं, खास तौर पर इस कैरेक्टर का ‘सेंस ऑफ ह्यूमर’ बिल्कुल मेरे ऑफ-स्क्रीन पर्सोना की तरह ही है।”

बॉक्स ऑफिस के सारे रिकॉर्ड तोड़ने वाली फ़िल्म ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ (लोग प्यार से इसे DDLJ भी कहते हैं), आदित्य चोपड़ा द्वारा लिखित और उनके निर्देशन में बनी पहली फ़िल्म थी, जो हिंदी सिनेमा के इतिहास की सबसे बड़े ब्लॉकबस्टर फ़िल्मों में से एक है। यह अब तक की सबसे लंबे समय तक चलने वाली हिंदी फ़िल्म बन चुकी है! DDLJ 10 फ़िल्मफेयर अवार्ड्स जीतने वाली एक रिकॉर्ड-ब्रेकिंग फ़िल्म (उस समय की) है और इसी फ़िल्म ने बॉलीवुड को पूरी दुनिया में एक नई पहचान दी है।

1995 में 4 करोड़ रुपये की बजट से बनी इस ब्लॉकबस्टर फ़िल्म ने भारत में 89 करोड़ रुपये कमाए, जबकि भारत से बाहर के मार्केट में इसका कलेक्शन 13.50 करोड़ रुपये था। इस तरह, 1995 में दुनिया भर में इस फ़िल्म का कुल कलेक्शन 102.50 करोड़ रुपये था! आज के इन्फ्लेशन के हिसाब से देखा जाए, तो भारत


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये