टकलों की ब्रिगेड

0 258

Advertisement

अली पीटर जॉन

पहले जिन विषयों को लोग नजरअंदाज करते थे आज उन्हीं विषयों को  फिल्मों में कंटेंट कहा जाता है। पहले  फिल्ममेकर्स ऐसा मानते थे कि फिल्म बनाने का एक ही फार्मूला है और यही कारण है कि साल में 800 फिल्में बनती थी और  सभी फिल्में एक ही जैसी होती थी।  क्रिटिक्स हर बार फिल्म पर नकारात्मक टिप्पणी करते थे पर क्रिटिक्स की ओपिनियन की परवाह कौन करता था? फिल्मेकर्स अपने ही फॉर्मूला पर चिपके रहते थे । पर फिर  इंडस्ट्री में रिवॉल्यूशन आया जब पा, पीकू, क्वीन, पिंक, सुपर30 और कई सारी बायोपिक्स बॉक्स ऑफिस पर सफल होने लगी। इन फिल्मों की सफलता ने कई एक्टर्स को भी प्रोत्साहित किया कि वह अपने एक ही किरदार से निकलकर कुछ अलग करने की कोशिश करें जो जीवन की सच्चाई से जुड़ा हुआ किरदार हो, जिसमें एक सामान्य इंसान की कहानी हो।

एक अभिनेता जिसने लगातार अलग-अलग किरदार निभाए है जो ना तो कोई बड़ा या छोटा स्टार हिम्मत भी कर पाता निभाने का तो वो है आयुष्मान खुराना जिसने एक स्पर्म डोनर से लेकर महिलाओं की आवाज निकालने वाले मर्द का किरदार निभाया है। और वह जल्दी अपनी अगली फिल्म में एक युवा इंसान का किरदार निभाने वाले हैं जो समय से पहले ही गंजा हो जाता है। मुझे यह पूरा विश्वास है कि  आयुष्मान की यह फिल्म भी बाकी फिल्मों की तरह एक अवॉर्ड  विनिंग फिल्म होगी।

यह सुनने में थोड़ा अजीब लगेगा पर यह सच है कि आज के फिल्म इंडस्ट्री के दो सबसे ज्यादा डिमांड में रहने वाले सितारे अपनी फिल्मों में गंजे इंसान का किरदार निभा रहे हैं।

आयुष्मान अपनी आने वाली फिल्म बाला में एक युवा लड़के का किरदार निभा रहे हैं  जिसका समय से पहले बाल झड़ने लगते हैं और वो इस डर में जीने लगता है कि कहीं वह पूरी तरीके से गंजा ना हो जाए। वही फिल्म इंडस्ट्री के नए देशभक्त अक्षय कुमार की  हालिया रिलीज फिल्म हाउसफुल 4 में अक्षय को गंजा देखा गया है।  पर आयुष्मान के असल कंपटीशन उजड़ा चमन के सन्नी सिंह को माना जा रहा है क्योंकि इन दोनों ने न सिर्फ अपनी फिल्मों में एक ही किरदार निभाया है बल्कि यह दोनों फिल्में एक ही  सप्ताह के भीतर रिलीज होने वाली है। उजड़ा चमन पिछले शुक्रवार को रिलीज हुई है और बाला इस शुक्रवार को रिलीज होने वाली है।

पहला किस्सा जो मुझसे गंजेपन से याद आ रहा है वह है बी आर चोपड़ा की फिल्म चाणक्य और चंद्रगुप्त का। बीआर चोपड़ा चाणक्य और चंद्रगुप्त बनाने की योजना बना रहे थे जिसमें वह दिलीप कुमार को चाणक्य और धर्मेंद्र को चंद्रगुप्त के किरदार में देखना चाहते थे। चाणक्य के किरदार के लिए दिलीप कुमार  को गंजा होना पड़ता और दिलीप कुमार ऐसा करने में बिल्कुल भी इंटरेस्टेड नहीं थे जबकि दिलीप कुमार कुमार अपने हर किरदार के लिए पूरी जी जान लगा देते थे पर वह इसके लिए गंजा होना नहीं चाहते थे। बी आर चोपड़ा इसके लिए उस वक्त के बेस्ट मेकअप मैन सरोश मोदी को लंदन भेजने वाले थे एक स्पेशल विग लेकर आने के लिए,जिसका उस समय में 100000 दाम था पर दुर्भाग्यवश यह फिल्म बन नहीं पाई।

कुछ पुराने एक्टर्स जो असल में गंजे थे और उन्हें इससे कोई दिक्कत नहीं थी वो थे मोतीलाल जिन्होंने अपने अंतिम दो फिल्मों में एक गंजे इंसान का किरदार भी निभाया है, छोटी-छोटी बातें और वक्त जिसके डायरेक्टर थे यश चोपड़ा। डेविड अब्राहम और कन्हैयालाल भी असल जीवन में गंजे थे।

इंडस्ट्री में रिवॉल्यूशन

राजकुमार अपने स्टाइलिश एक्टिंग की वजह से जाने जाते थे पर बहुत कम लोगों को पता है कि वह असल ज़िंदगी में बिल्कुल टकले थे पर उन्होंने कभी कोई गंजे इंसान का किरदार नहीं निभाया। हर फिल्म में वो दुनिया भर के महंगे महंगे विग्स पहनते थे। उनके विग के बारे में एक बहुत ही इंटरेस्टिंग कहानी भी है। एक बार फिरोज खान और राजकुमार में झगड़ा हो गया फाइव स्टार होटल में।  दरअसल हुआ यह था कि फिरोज खान को पता था कि राजकुमार हमेशा विग पहनते हैं असल जीवन में और अपने फिल्मों में भी, तो फिरोज खान ने पूरी पब्लिक के सामने राजकुमार का विग उतार के फेंक दिया और पूरी जनता आश्चर्यचकित हो गई।

इंडस्ट्री में रिवॉल्यूशन

अमरीश पुरी के अच्छे खासे बाल थे जब वो थिएटर में थे पर उस वक्त वो हिंदी फिल्मों में छोटे मोटे एक्टर ही थे। राकेश कुमार जो निर्देशक थे उन्होंने एक बार अमरीश पुरी को यह सुझाव दिया कि वो टकले हो जाएं और अमरीमश पुरी ने उनके सुझाव को मान लिया। यह सुझाव उनके जीवन को बदल देने वाला सुझाव था क्योंकि इसके बाद अमरीश पुरी ना सिर्फ बॉलीवुड बल्कि हॉलीवुड में भी नंबर वन विलेन बन गए।
अमरीश पुरी की सफलता की वजह से प्रेम चोपड़ा  जैसे अनुभवी स्टार भी गंजे हो गए और दूसरे यंग एक्टर तेज सप्रू भी पूरी तरीके से  गंजे हो गए।

इंडस्ट्री में रिवॉल्यूशन

एक एक्टर जो इंडस्ट्री में गंजेपन के साथ ही आए थे वो है अनुपम खेर। अनुपम अपने जवानी के दिनों में ही गंजे हो गए थे जब वह सिर्फ 23 साल के थे। महेश भट्ट की फिल्म ‘सारांश’ में एक गंजे वृद्ध इंसान का किरदार निभा कर अनुपम काफी फेमस हुए थे। अनुपम खेर को बहुत कम विग के साथ देखा गया है। अनुपम खेर और अमरीश पुरी ने गंजेपन को स्टाइल स्टेटमेंट बनाया है। अनुपम  आज भी गंजे कैरेक्टर निभाते हैं जैसे वो अभी हॉलीवुड में टीवी सीरियल कर रहे हैं।

इंडस्ट्री में रिवॉल्यूशन

रोशन के परिवार में ही गंजापन है।  इस परिवार के हेड म्यूजिक डायरेक्टर रोशन पूरी तरीके से टकले थे। उनके बड़े बेटे राकेश रोशन जब भी हीरो और विलेन का किरदार निभाते थे उन्हें विग पहनना पड़ता था। पर जब से उन्होंने प्रोडक्शन और डायरेक्शन की कमान संभाली है उन्होंने अपनी विग उतार फेंकी है और वो अपने  ओरिजिनल लुक में रहते हैं। उनके भाई म्यूजिक डायरेक्टर राजेश रोशन 20 वर्ष की उम्र में ही गंजे हो गए थे । यह हैरत की बात है कि रितिक रोशन के बाल सही कैसे हैं ।  रितिक रोशन के फैन्स उनके बाल के लिए भी प्रार्थना करते हैं क्योंकि इसकी वजह से ऋतिक ग्रीक गॉड लगते हैं।

एक इंसान जिनके गंजे सर को लोग याद रखते है वो हैं एम.बी शेट्टी जिनको सिर्फ ‘शेट्टी’ के नाम से जाना जाता है। वो एक फाइट डायरेक्टर थे और उन्होंने धर्मेंद्र, अमिताभ बच्चन के फिल्मों में विलेन का किरदार भी निभाया है। उनके बेटे हैं रोहित शेट्टी।

इंडस्ट्री में रिवॉल्यूशन

अनजान जो कवि थे और जिनको 22 साल लग गये खुद को एक गीतकार के रूप में स्थापित करने में वो 21 वर्ष की उम्र में ही गंजे हो गए थे. इतिहास ने खुद को दोहराया और उनका बेटा समीर जो एक सफल गीतकार है वह भी अपने पिता की तरह 22 साल की उम्र में ही गंजे हो गए।
और यदि आपको लगता है कि सिर्फ अभिनेता ही गंजे हुए हैं तो आप यह जानकर आश्चर्यचकित होंगे कि उस वक्त की अभिनेत्रियां भी विधवा का किरदार निभाने के लिए गंजी हुई है। ‘बाबुल’ फिल्म जो रवि चोपड़ा की अंतिम फिल्म थी, इस फिल्म में विधवाओं  का किरदार निभा रही सभी महिलाएं गंजी हुई थी जिसमें खूबसूरत अभिनेत्री सारिका भी थीं।

इंडस्ट्री में रिवॉल्यूशन

परसिस खंबाटा जेम्स बॉन्ड की फिल्म के लिए गंजी हुई थी। अगर बेस्ट और मोस्ट नेचुरल बाल्ड वूमेन का खिताब  किसी को मिलना चाहिए तो वो तनुजा को मिलना चाहिए जिन्होंने एक मराठी फिल्म के लिए विग पहनने से इंकार कर दिया था क्योंकि वह चाहती थी कि वो इस किरदार को रियल रखने के लिए असल में गंजी हो। इस फिल्म के निर्देशक थे नितीश भारद्वाज नितीश भारद्वाज निर्देशक के नितीश भारद्वाज जिन्होंने महाभारत सीरियल में कृष्ण का किरदार निभाया था। आज की जनरेशन में गंजा होना एक नया हेयर स्टाइल या ये कहे कि फैशन ट्रेंड बन चुका है।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.

Advertisement

Advertisement

Leave a Reply