क्रांति प्रकाश झा और अनुरीता झा की फिल्म Mithila Makhaan अब होगी 2 अक्तूबर को रिलीज,फिल्म निर्देशक नितिन चंद्रा को राष्ट्रीय पुरस्कार से किया गया सम्मानित।

1 min


क्रांति प्रकाश झा की मैथिली फिल्म ‘मिथिला मखान’ 2 अक्टूबर को होने जा रही है रिलीज़। बिहार में बनी फिल्म ‘मिथिला मखान’ के निर्देशक नितिन चंद्रा को राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया है इस फिल्म का निर्माण नितिन चंद्रा ने किया है। नितिन ने यह फिल्म मैथिली भाषा में बनाई है। फिल्म का नाम उन्होंने मिथिला मखान रखा है।

निर्देशक नितिन चंद्रा ने इस फिल्म को लेकर कहा, ‘बिहार में 2008 के बाढ़ में मैं नेपाल बॉर्डर पर एक एनजीओ के साथ काम कर रहा था और बाढ़ से हुई त्रासदी ने मेरे मन में कई कहानियों को जन्म दिया था।’

Mithila Makhaan bags the National Award

नितिन ने आगे कहा, ‘मैंने इस समस्या को समझने के लिए एक डॉक्यूमेंट्री फिल्म भी बनाईl तब मुझे अनुभव आया कि बिहार से पलायन होने और जमीनी स्तर पर विकास नहीं होने के कई कारण है। सबसे अहम बात यह है कि आजीविका के कोई संसाधन नहीं है। उत्तर बिहार में बाढ़ का कहर होता है और इसके चलते जमीन रेत से ढंकी होती है, जिस पर खेती नहीं की जा सकती और बिहार का किसान देश के हर कोने में मजदूर बनकर काम करने के लिए मजबूर होता है।

आर्थिक रूप से कमजोर व्यक्तियों को उनके अपने गांव में नौकरी कैसे मिल सकती है, इसे लेकर मैंने 2011 में कहानी लिखीl धीरे-धीरे इस कहानी को विकसित किया और 3 से 4 साल तक इसके लिए निर्माता ढूंढता रहा लेकिन दुर्भाग्य से बिहार में पैसा लगाने वाला एक भी व्यक्ति नहीं मिलाl शुरुआती काम के लिए मेरा साथ मेरी बहन नीतू चंद्र ने दिया इसके बाद लोकेशन और कास्टिंग का काम शुरू हुआ। साथ में क्राउड फंडिंग भी शुरू की गई लेकिन फिर भी यह फिल्म बनाने के लिए पूरा नहीं थाl मैं भाग्यशाली हूं कि सिंगापुर के समीर कुमार साथ आए और फिर इस फिल्म को पूरा कर पायाl’

नितिन चंद्रा ने बताया की , ‘इस फिल्म को बनाना, अपने आप में एक बहुत बड़ी चुनौती थी क्योंकि हम टोरंटो की गलियों में सर्दियों में शूट कर रहे थे, वहां शूट करने का मतलब है दिन में तापमान का -35 डिग्री से लेकर -10 डिग्री तक होना। हमने किसी तरह टोरंटो की गलियों में और मेट्रो के अंदर गोरिल्ला अंदाज में शूटिंग कीl मैं मेरे कैमरामैन का भी आभारी हूं, जिन्होंने इतनी विपरीत परिस्थितियों में फिल्म की शूटिंग की .

हमने फिल्म की शूटिंग नियाग्रा फॉल्स पर भी कीl जबकि आगे की शूटिंग के लिए जब हम मई में बिहार पहुंचे तो वहां का तापमान 45 डिग्री था और भीषण गर्मी पड़ रही थीl फिल्म की शूटिंग नेपाल के कुछ भाग में की गई हैl वहीं बिहार के दरभंगा, पटना, सहरसा, सुपौल, मधुबनी और कटिहार में भी शूटिंग की गई है। नीतू चंद्रा के कारण फिल्म में हरिहरन, सोनू निगम और सुरेश वाडकर ने मैथिली में गाने गाए हैं।’

 

View this post on Instagram

 

Poster 3

A post shared by Nitin Chandra (@nitinchandrabihar) on Sep 6, 2020 at 1:03pm PDT


Like it? Share with your friends!

Niharika jain

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये