ज़ी सिनेमा पर डायरेक्ट-टू-टीवी रिलीज़ और एरॉस नाओ पर ऑनलाइन स्ट्रीम होगी राणा दग्गुबाती और पुलकित सम्राट स्टारर फिल्म ‘हाथी मेरे साथी’

1 min


(प्रभु सोलोमन के निर्देशन और राणा दग्गुबाती, पुलकित सम्राट, श्रिया पिलगांवकर और ज़ोया हुसैन की मुख्य भूमिकाओं के साथ 18 सितंबर को यह फिल्म डायरेक्ट-टू-टीवी और ऑनलाइन रिलीज़ होगी)

ज़ी सिनेमा ने हमेशा सबसे बड़ी और ताजातरीन ब्लॉकबस्टर फिल्मों के साथ अपने दर्शकों को उनके घरों में ही संपूर्ण पारिवारिक मनोरंजन उपलब्ध कराया है। अब यह चैनल बहुप्रतीक्षित फिल्म ‘हाथी मेरे साथी’ की एक्सक्लूसिव डायरेक्ट-टू-टीवी रिलीज़ करने जा रहा है, जिसे दर्शक अपने घर में आराम से बैठकर एंजॉय कर सकते हैं। अपनी रिलीज़ के बाद ये फिल्म एरॉस नाओ पर स्ट्रीम की जाएगी जो दक्षिण एशिया का एक अग्रणी ओटीटी प्लैटफॉर्म है, जिसमें फिल्मों के टाइटल्स, प्रीमियम ओरिजिनल्स, म्यूज़िक वीडियोज़, शॉर्ट फॉर्म कंटैंट जैसी बहुत-सी मनोरंजन सामग्रियां शामिल हैं।

इन दिनों ज्यादातर फिल्में पहले ओटीटी पर रिलीज़ हो रही हैं, लेकिन अब इस ट्रेंड से एक कदम आगे बढ़ते हुए ज़ी सिनेमा एक ऐसी फिल्म के साथ ग्रैंड मूवी रिलीज़ का जादू जगा रहा है, जो राजेश खन्ना की पॉपुलर क्लासिक ‘हाथी मेरे साथी’ की फ्रेंचाइज़ी कही जा सकती है। अपनी रोमांचक फिल्मों के लिए मशहूर प्रभु सोलोमन द्वारा लिखी और निर्देशित की गई इस फिल्म में बाहुबली सुपरस्टार राणा दग्गुबाती, हाथियों और प्रकृति के रखवाले बने हैं, जिनके साथ टैलेंटेड पुलकित सम्राट, श्रिया पिलगांवकर, ज़ोया हुसैन और अनंत महादेवन ने भी महत्वपूर्ण भूमिकाएं निभाई हैं। यह फिल्म एरॉस मोशन पिक्चर्स ने प्रोड्यूस की है, जो 18 सितंबर को सीधे ज़ी सिनेमा पर रिलीज हो रही है, जिसके बाद यह इरॉस नाओ पर स्ट्रीम होगी।

इंसानों और जानवरों का रिश्ता भाषा, क्रियाओं और प्रतिक्रियाओं के दायरों से बहुत आगे होता है। घने जंगलों के बीच शाही हाथियों और उन्हें बचाने वाले समुदाय पर आधारित ‘हाथी मेरे साथी’ हमें ऐसी दिल छू लेने वालीं भावनाओं से रूबरू कराती है, जो इंसानों और जानवरों को एक दूसरे से जोड़ती हैं। यह फिल्म एक ऐसे इंसान की कहानी है, जो हाथियों और पर्यावरण तंत्र को बचाने के लिए संघर्ष कर रहा है। इस चैनल की ओर से की गई एक बड़ी घोषणा में बताया गया कि यह फिल्म अब डायरेक्ट-टू-टीवी रिलीज़ हो रही है और इसी के साथ ‘हाथी मेरे साथी’ के पोस्टर और ट्रेलर भी लॉन्च किए गए, जिसमें इस फिल्म का सार समाया है।

अपना अनुभव बताते हुए राणा दग्गुबाती ने कहा, “हाथी मेरे साथी के साथ हम एक बढ़िया कहानी लेकर आए हैं। यह एक ऐसे आदमी का सफर है, जिसका प्रकृति से बड़ा करीबी लगाव है, वो हाथियों का पक्का दोस्त है और उनके समुदाय का संरक्षक है। यह फिल्म इन समुदायों की कुछ गंभीर समस्याओं के प्रति ध्यान आकर्षित करती है और इस नेक पहल का समर्थन करती है। मैं इस प्रोजेक्ट का हिस्सा बनकर खुद को खुशनसीब मानता हूं। यह एक महत्वपूर्ण फिल्म है, जिसकी कहानी सभी को बताना जरूरी है। यह बहुत अच्छी बात है कि ज़ी सिनेमा पर डायरेक्ट-टू-टीवी रिलीज़ और इसके बाद एरॉस नाओ पर स्ट्रीम होने के साथ यह फिल्म देश भर के दर्शकों तक पहुंचेगी।”

इस फिल्म के बारे में बताते हुए प्रभु सोलोमन ने कहा, “जब मैंने पहली बार इस कहानी के बारे में सुना, तो मुझे साफ हो गया था कि मुझे क्या कहना है। मैं एक ऐसा विचार प्रस्तुत करना चाहता था, जिसमें हाथियों और प्रकृति को बचाने को लेकर एक स्वस्थ चर्चा छेड़ने की क्षमता हो। ‘हाथी मेरे साथी’ इन दोनों पर्यावरण तंत्रों के बीच एक प्यारा रिश्ता दिखाने की ईमानदार पहल है और कैसे मुश्किल के वक्त दोनों एक दूसरे को बचाने के लिए टकराते हैं। मैं खुद को लकी मानता हूं कि मैं इस फिल्म के कलाकारों में शामिल हुआ, जो मेरी तरह इस फिल्म की कहानी में कुछ खास जोड़ने के लिए उत्सुक थे। ज़ी सिनेमा पर सीधे इस फिल्म की रिलीज़ और इसके बाद एरॉस नाओ पर ऑनलाइन स्ट्रीमिंग से इसे देश के अलग-अलग हिस्सों में पहुंचने में काफी मदद मिलेगी।

फिल्म की डायरेक्ट-टू-टीवी रिलीज़ को लेकर चर्चा करते हुए रुचिर तिवारी ने कहा, “इस महामारी ने निश्चित रूप से किसी भी तरह की कला की प्रस्तुति के सामान्य तरीकों को प्रभावित किया है, जिसके चलते हमने न्यू नॉर्मल में आगे बढ़ने के नए तरीके तलाश किए। फिल्मों की रिलीज़ के लिए डायरेक्ट-टू-टीवी जैसी अनोखी पहल दर्शकों को दिलचस्प कहानी दिखाने और फिल्मों को उनके फैंस तक पहुंचाने के लिए एक मंच प्रदान करने का हमारा नया तरीका है। टेलीविजन एक ऐसा माध्यम है, जो बहुत-से लोगों तक पहुंचता है, और हम भी हमेशा अपने दर्शकों को ताजातरीन और ब्लॉकबस्टर फिल्में दिखाने का प्रयास करते हैं। ‘हाथी मेरे साथी’ ऐसी ही एक विचारशील फिल्म है, जो अपनी दिलचस्प कहानी के साथ हर उम्र वर्ग को आकर्षित करती है। इसकी कहानी दर्शकों और किरदारों के बीच एक भावनात्मक रिश्ता बनाएगी। यह पहली बार है जब यह फिल्म किसी भी स्क्रीन पर दिखाई जा रही है, और अपने दर्शकों को यह फिल्म दिखाने के लिए इरॉस इंटरनेशनल के साथ साझेदारी करके हमें खुशी हो रही है।”

इस फिल्म के बारे में बात करते हुए एरॉस इंटरनेशनल मीडिया के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर कुमार आहुजा कहते हैं, “हाथी मेरे साथी एक प्रेरणादायक फिल्म है, जो एक रोचक कहानी के साथ पर्यावरण संकट से जुड़ा एक महत्वपूर्ण मुद्दा उठाती है। ये उन बेहद चुनिंदा प्रोजेक्ट्स में शामिल है, जो दर्शकों को शिक्षित करते हैं, उनका मनोरंजन करते हैं और साथ ही उन्हें प्रेरित भी करते हैं। इस फिल्म की डायरेक्ट-टू-टीवी रिलीज़ के लिए ज़ी सिनेमा के साथ साझेदारी करके हमें खुशी हो रही है। विभिन्न आयु वर्गों और देशों में फैले विविध दर्शकों के साथ इसकी लोकप्रियता फिल्म को आवश्यक पहुंच प्रदान करेगी। इसके अलावा, फिल्म एरॉस नाओ पर भी स्ट्रीम होगी, जिससे इसकी पहुंच और बढ़ेगी।”

‘हाथी मेरे साथी’ बानदेव (राणा दग्गुबाती) के धैर्य और प्रकृति के साथ उसके गहरे लगाव की दिल छू लेने वाली कहानी है। वो शख्स हाथियों और उसके साथ रहने वाले अन्य प्राणियों को बचाने के एकमात्र मकसद के साथ जंगल में अपनी जिंदगी गुजारता है। ‘हाथी मेरे साथी’ के साथ ये शानदार कहानी ज़ी सिनेमा के जरिए आपके टीवी स्क्रीन पर प्रसारित होगी।

तो आप भी फिल्म ‘हाथी मेरे साथी’ की डायरेक्ट-टू-टीवी रिलीज़ और ऑनलाइन रिलीज़ के साथ देखिए एक प्यारा रिश्ता, जो दुनिया के दायरों से परे है, 18 सितंबर को ज़ी सिनेमा और एरॉस नाओ पर।

SHARE

Mayapuri