दर्शकों को डराने में नाकाम ‘द पास्ट’

1 min


थ्रिलर हॉरर फिल्मों की श्रंखला में निर्देशक गगन पुरी की हॉरर फिल्म ‘द पास्ट’ एक साधारण फिल्म है जिसमें अभी तक इस तरह की रिलीज हजारों फिल्मों की तरह वही जानी पहचानी कहानी और किरदार दिखाई देते हैं।

फिल्म की कहानी

वेदिता प्रताप सिंह एक नॉवल राइटर है जिसे प्रकाशक युवराज पाराशर अपने बंगले पर नया नॉवल लिखने के लिये भेज देता है। वेदिता वहां अपनी छोटी बहन के साथ जाकर सैटल हो जाती है। लेकिन कुछ दिन बाद उसे बंगले में कुछ अटपटा सा लगने लगता है। उसे लगता है कि जैसे वहां कोई और भी है जो बंगले में उनके साथ रह रहा है। एक दिन एक औरत उस दिखाई देती है जो असल में एक आत्मा है जो बाद में उसके भीतर आ जाती है। इसके बाद शुरू होता नई नई घटनाओं का दौर। वेदिता की छोटी बहन, वेदिका की एक सहेली की हेल्प लेती है। बाद में आत्माओं के जानकार राजेश शर्मा वेदिता को उस आत्मा से निजात दिलाते हैं।

गगन पुरी द्धारा निर्देशित कहने को तो हॉरर फिल्म हैं लेकिन इसे देखते हुये डर कम और हंसी ज्यादा आती है। फिल्म में एक भी सीन ऐसा नहीं जिससे पहले भी कितनी ही बार दर्शक रूबरू न हो चुका हो। वही कहानी वही जानी पहचानी आत्मा और तकरीबन वही जाना पहचाना कथित बैकग्राउंड डरावना म्यूजिक। फिल्म में अगर कुछ नया है तो वो है फिल्म के आर्टिस्ट वेदिता प्रताप सिंह, युवराज पराशर  तथा राजेश शर्मा आदि, जो दर्शक को डराने में पूरी तरह से नाकाम रहे हैं।

बेशक कहने को तो ये फिल्म हॉरर थ्रिलर जॉनर की है, लेकिन वो दर्शक को डराने में पूरी तरह नाकाम साबित होती है।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए  www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज Facebook, Twitter और Instagram पर जा सकते हैं.

 


Like it? Share with your friends!

Shyam Sharma

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये