ऋचा चड्ढा और अली फज़ल की पहली फिल्म ‘गर्ल्स विल बी गर्ल्स’ की स्क्रिप्ट इस साल गोथम वीक के लिए चुनी गई एकमात्र भारतीय फिल्म है।

1 min


गोथम वीक एक प्रतिष्ठित वैश्विक फिल्म बाजार है जहां स्थापित और उभरते फिल्म निर्माताओं को फिल्म फाइनेंसरों, फेसिवल क्यूरेटर, बिक्री एजेंटों और निर्माताओं के साथ नेटवर्क करने का अवसर मिलता है। यह वार्षिक कार्यक्रम फिल्मों, टेलीविजन और ऑडियो के कुछ बेहतरीन कहानीकारों को एक साथ लाता है जिसे नेटफ्लिक्स, अमेज़ॅन स्टूडियो, ऑडिबल, सैगइंडी और वार्नरमीडिया प्रायोजित किया है। द गोथम प्रोजेक्ट वीक वर्चुअली  इस वर्ष 19-24 सितंबर के बीच आयोजित किया जाएगा। इस संस्करण के लिए दुनिया भर से पंद्रह अंतरराष्ट्रीय फिल्म स्क्रिप्ट का चयन किया गया है, जिनमें से एक ‘गर्ल्स विल बी गर्ल्स’ है।

‘गर्ल्स विल बी गर्ल्स’ पुशिंग बटन स्टूडियो (ऋचा चड्ढा और अली फजल), क्रॉलिंग एंजेल फिल्म्स (संजय गुलाटी और पूजा चौहान) और डोल्से वीटा फिल्म्स (क्लेयर चेसग्ने) के बीच एक इंडो-फ्रेंच सह-प्रोडक्शन है। टीम ने हाल ही में एक वीडियो/टीज़र देहरादून में शूट किया था, जिससे उन्हें उम्मीद है कि गोथम वीक और उसके बाद धन राशि जमा करने में मदद मिलेगी।

स्क्रिप्ट इस साल की शुरुआत में बेर्लीनेल स्क्रिप्ट स्टेशन पर थी और यह जेरूसलम फिल्म लैब के लिए चुनी गई एकमात्र भारतीय प्रोजेक्ट भी है जो अगस्त के अंत में होना है।

रिचा कहती है, “हमें उम्मीद है कि गोथम वीक में इस रोमांचक फिल्म को बनाने में हमारे साथ जुड़ने के लिए समान विचारधारा वाले निवेशक और सहयोगी मिल सकेंगे। यह एक नई और नारीवादी कहानी है, और मेरा मानना है कि शुची भारतीय सिनेमा में एक नई आवाज है।”

सूचि कहती है, “’गर्ल्स विल बी गर्ल्स’ लैंगिक शक्ति की गतिशीलता और महिला कामुकता से संबंधित हैं और मैंने हमेशा सोचा है कि कहानी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिध्वनित होगी इसलिए मैं इस चयन के बारे में वास्तव में खुश हूं। मुझे उम्मीद है कि गोथम वीक हमारे लिए एक लॉन्चपैड होगा फंड जुटाते में और ज्यादातर महिला क्रू साथ लेकर चलने में- मुझे उम्मीद है कि लोग हमारे पास पहुंचेंगे।”

SHARE

Mayapuri