अब शाहरुख़ खान को देश की चिंता होने लगी 

1 min


शाहरुख़ खान ने कहा है कि देश में असहिष्णुता बहुत हद तक बढ गई है। लोग बगैर सोचे समझें कुछ भी बोल रहे हैं, बगैर ये सोचे कि हम एक धर्मनिरपेक्ष देश है।

शाहरुख़ ने कहा,पिछले दस सालों में ये देश एक नई दिशा की तरफ बढने के लिए प्रयासरत है, हम नए इंडिया, आधुनिक भारत की बात करते हैं, तरक्की की बात करते है लेकिन सिर्फ बात ही करते रह जाते हैं। अगर यह देश अपनी धर्मनिरपेक्षता खो देता है, अपनी सोच को बेहतर नहीं बना पाता है तो यहां के युवा इसे बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं कर पाएंगे।  बतौर स्टार उनके लिए किसी भी नैतिक मुद्दे पर अपनी बात कहना मुश्किल हो जाता है। हम कितना भी विचारों की आजादी की बात कर लें लेकिन कुछ कहने पर लोग मेरे घर के बाहर आकर पत्थर फेंकने लग जाते हैं। लेकिन हां अगर कभी किसी मुद्दे पर खड़ा होना होगा, तो फिर उस पर डटा रहूंगा।

इन दिनों साहित्य और कला के क्षेत्र से जुड़े लोग लगातार अपना विरोध प्रदर्शित कर रहे हैं।

 

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये