टीना मुनीम अम्बानी

1 min


हैप्पी बर्थडे टीना मुनीम अम्बानी

मिस फोटोजेनिक ,बॉलीवुड एक्ट्रेस और अनिल अम्बानी की पत्नी टीना मुनीम का जन्म 11 फरवरी 1957 को मुम्बई में हुआ । इनकी शादी 1992 में अनिल अम्बानी से हुई  और उनसे उनके दो बेटे भी हैं।

टीना मुनीम की पहचान सिर्फ इतनी नहीं की ये अनिल अम्बानी की पत्नी है बल्कि ये अपने समय की एक बहुत ही मसहूर एक्ट्रेस भी हैं।टीना के करियर ने तब उड़न भरी जब 1975 में एक अंतर्राष्ट्रीय सौन्दर्य प्रतियोगिता में जीत हासिल करने के बाद देवानंद साहब की नज़र उन पर पड़ी और “देस-परदेस” फिल्म से 1978 में टीना ने फिल्म जगत में अपना पहला कदम रखा और फिर उनका फ़िल्मी सफ़र बड़े सुन्दर मकाम हासिल करता 1987 तक चलता रहा जब तक कि वो कॉलेज अटेंड करने कैलिफ़ोर्निया नहीं चली गयीं | इस बीच उन्होंने 30-35 फिल्मों में काम किया जिनमें संजय दत्त के साथ रॉकी सुपर हिट रही | बासु चटर्जी के साथ उन्होंने दो सुन्दर फिल्में दीं- बातों-बातों में,और मनपसंद | हालाँकि वे खुद “अधिकार” को अभिनय की दृष्टि से सबसे बेहतरीन फिल्म मानती हैं | टीना का फ़िल्मी करियर और भी बेहतर हो सकता था अगर वे समझदारी से फिल्मों का चयन करतीं मगर वे खुद को एक महत्त्वाकांक्षी अभिनेत्री नहीं मानती हैं उनकी कुछ खास फिल्मे थी जिगरवाला (1991),सात बिजलियाँ (1988),मुकद्‍दर का फैसला (1987),कामाग्नि (1987),समय की धारा (1986),भगवान दादा (1986),अधिकार (1986),इंसाफ मैं करूँगा (1985)युद्ध (1985),अलग अलग (1985),चार महारथी,बेवफाई (1985),आखिर क्यों (1985),करिश्मा (1984)

पापी पेट का सवाल है (1984),शरारा (1984),वांटेड (1984),बड़े दिलवाला (1984),आसमान (1984),पुकार (1983),सौतन (1983),दीदार-ए-यार (1982),राजपूत (1982),ये वादा रहा (1982),सुराग (1982),फिफ्‍टी,फिफ्टी (1981),खुदा कसम (1981),कातिलों के कातिल (1981),हरजाई (1981),रॉकी(1981),लूटमार (1980),कर्ज (1980),आप के दीवाने (1980),मन पसंद (1980),बातों बातों में (1979),देस परदेस (1978) आदि  ।

 शादी के बाद टीना ने फ़िल्मी दुनिया को अलविदा कह दिया और अब वो सोचल वर्क आर्ट की दुनिया से जुड़ गई है ।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये