‘उड़ान’ फेम रजत बारमेचा की नई उड़ान

1 min


2010 में विक्रमादित्य मोटावणे की फिल्म ‘उड़ान’ ने कई राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार बटोरे थे. इसी फिल्म में रोहण का किरदार निभाकर अभिनेता रजत बारमेचा ने भी बतौर अभिनेता अपनी एक अलग पहचान बना ली थी. फिल्म ‘उड़ान’ तो काॅन फिल्म फेस्टिवल में भी सराही गयी थी. पर पूरे चार साल बाद अब परम गिल निर्देशित फिल्म ‘वारियर सावित्री’ में ब्रिटिश माॅडल लूसी पेंडर के साथ मेन लीड में रजत बारमेचा नजर आने वाले हैं. मजेदार बात यह है कि रजत बारमेचा को ‘इंडी फिल्म का पोस्टर ब्वाॅय’ कहलाना पसंद नहीं है. वह कहते हैं-‘‘मैं ‘इंडी फिल्म पोस्टर ब्वाॅय’तक खुद को सीमित नहीं रखना चाहता. फिल्म ‘उड़ान’ के बाद मैंने एक दो नहीं बल्कि कुल 40 पटकथाएं पढ़ी, पर उनमें से कोई भी पटकथा मुझे पसंद नहीं आयी।
8976027347_f2d166e06b_b

जब परम गिल ने मुझे ‘वारियर सावित्री’ की पटकथा सुनायी, तो मुझे लगा कि इस फिल्म में मुझे अपनी प्रतिभा को नया आयाम देने का मौका मिलेगा, इसलिए मैंने यह फिल्म की है. यह फिल्म सावित्री और सत्यवान की मैथोलाॅजिकल कहानी का माॅडर्न रूप है. मुझे इसका कांसेप्ट पसंद आया. मैंने इस फिल्म में वेगास में रहने वाले एक सीधे सादे युवक का किरदार निभाया है. इसमें एक्शन की भी भरमार है. फिल्म में नाचा गाना है तो वहीं कुछ ईरोटिक सीन भी हैं. लेकिन यदि लोगों को लगता है कि ‘उड़ान’ के बाद और ‘वारियर सावित्री’ करने से पहले मैं घर पर खाली बैठा था, तो गलत है. मैं लगतार काम कर रहा था. हाॅं! इस दौरान मैंने विज्ञापन फिल्में व स्टेज शो काफी किए.’’ रजत बारमेचा अकेले फिल्मों से नहीं जुड़े हैं. रजत का भाई विक्की बारमेचा, अनुराग कष्यप के साथ फिल्म ‘बाॅबे वेल्वेट’ में बतौर सहायक निर्देशक काम कर रहा था. जबकि उनकी बहन दक्षिण भारतीय फिल्मों में अभिनय कर रही हैं. वह कहते हैं-‘‘हम सभी अब पूरी तरह से फिल्मी परिवार बन चुके हैं. देखना यह है कि तकदीर हमें किस मुकाम तक ले जाती है।’’


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये