हिंदी सिनेमा की पहली महिला संगीत निर्देशक थीं अभिनेत्री नरगिस की मां…पढ़ें नरगिस की ज़िंदगी से जुड़े अनसुने किस्से….

1 min


Actress Nargis
Nargis Dutt

इनके जन्मदिन पर जानें अभिनेत्री नरगिस को और भी करीब से

भारतीय सिनेमा में समय-समय पर ऐसे ऐसे कलाकार आए जिन्हें हमेशा-हमेशा याद किया जाएगा। जब जब इंडस्ट्री के इतिहास और इसके विकास की बात होगी तब तब इन कलाकारों का जिक्र होगा ही होगा। इन्हीं में एक नाम अभिनेत्री नरगिस का भी है।

क्या आप जानते हैं कि नरगिस के फिल्मों में आने से पहले उनका नाम बदल दिया गया था? क्या आप जानते हैं कि नरगिस फिल्मी दुनिया से कैसे जुड़ीं? नरगिस की मां जद्दनबाई कौन थीं? शायद आप ये सब नहीं जानते होंगे। लेकिन आज उनके जन्मदिन के मौके पर हम आपको उन्हीं कुछ अनसुने किस्सों के बारे में बताएंगे जो पहले आप ने नहीं सुने होंगे।

1. नरगिस नहीं था असली नाम

भले ही फिल्मों में ये अभिनेत्री नरगिस के नाम से जानी गईं लेकिन इनका असल नाम कुछ और था। इनका नरगिस नाम तो फिल्मों के लिए रखा गया था। लेकिन इनका असली नाम था फातिमा रशीद, जिनका जन्म गुलाम भारत के कलकत्ता में हुआ था। इनके पिता पंजाबी थे और मां मुस्लिम। लेकिन बाद में इनके पिता में मुस्लिम धर्म कुबूल कर लिया।

2. मां जद्दनबाई थीं फिल्म इंडस्ट्री की पहली महिला म्यूज़िक डायरेक्टर

ये बात आज की पीढ़ी बमुश्किल ही जानती होगी कि अभिनेत्री नरगिस की मां जद्दनबाई हिंदी सिनेमा की पहली फीमेल म्यूज़िक डायरेक्टर थीं। शुरुआती दौर में वो गज़ल रिकॉर्ड करती थीं। और कई रेडियो स्टेशनों को भी उन्होने गाने और गज़लें दिए। बाद में वो खुद भी एक्टिंग से जुड़ गईं। आगे चलकर उन्होने खुद की प्रोडक्शन कंपनी शुरु की। जिसने तलाश ए हक फिल्म का निर्माण किया। और उसी फिल्म से नरगिस ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की।

3. नरगिस ने 5 साल की उम्र में की थी पहली बार एक्टिंग

अभिनेत्री नरगिस ने फिल्म इंडस्ट्री में बतौर बाल कलाकार अपना पहला कदम रखा था। नरगिस केवल 5 साल की रही होंगी जब उन्होने तलाश ए हक फिल्म में एक छोटा सा किरदार निभाया। ये फिल्म 1935 में रिलीज़ हुई थी। यही उनकी पहली फिल्म थी लेकिन उनका एक्टिंग का असल करियर शुरु हुआ इस फिल्म के आने के 7 साल बाद।

4. मील का पत्थर साबित हुई बरसात

nargis_sunil_dutt

साल 1949 में आई बरसात फिल्म उनके करियर के लिए मील का पत्थर साबित हुई। इस फिल्म में उनके अपोज़िट राज कपूर थे। इस फिल्म की कहानी और स्क्रीनप्ले रामानंद सागर की देन है। ये फिल्म ज़बरदस्त हिट हुई थी। यहीं से राज कपूर और नरगिस की प्रेम कहानी की शुरुआत भी हुई।

5. राज कपूर के साथ 9 सालों तक रिलेशनशिप में थीं नरगिस

नरगिस और राज कपूर के संबंधों को लेकर अक्सर तमाम बातें होती हैं। लेकिन राजकपूर शादी शुदा थे और उन्होने अपनी पत्नी को तलाक देने से मना कर दिया था जिसके बाद नरगिस ने 9 सालों के रिश्ते को खत्म करने का फैसला किया था।

6. मदर इंडिया के दौरान बढ़ी सुनील दत्त से नज़दीकी

sunil_dutt_nargis

साल 1957 में आई मदर इंडिया…फिल्म ने कई रिकॉर्ड ब्रेक कर दिए। नरगिस की अदाकारी को सभी ने सराहा। लेकिन इस फिल्म के बाद नरगिस की निज़ी ज़िंदगी में कई बदलाव आ गए। नरगिस और सुनील दत्त एक दूसरे के इतने करीब आए कि दोनों ने शादी करने का फैसला ले लिया। और रिलीज़ के अगले ही साल यानि 1958 में दोनों ने शादी कर ली। उन्होने शादी से पहले अपना धर्म भी बदल लिया। शादी के बाद धीरे-धीरे वो फिल्मों से भी दूर हो गईं।

7. बेटे की डेब्यू मूवी की रिलीज़ से 4 दिन पहले हुई मौत

 

हिंदी फिल्म इंडस्ट्री की दिग्गज़ अभिनेत्री नरगिस को 1980 में कैंसर हो गया। जिसका इलाज न्यूयॉर्क में भी हुआ। लेकिन भारत लौटने के बाद उनकी तबीयत ज्यादा खराब हुई। और  3 मई, 1981 को उन्होने आखिरी सांस ली। उनकी मौत उनके बेटे संजय दत्त की डेब्यू फिल्म रॉकी की रिलीज़ से महज़ 4 दिन पहले हुई। जब इस फिल्म का प्रीमियर हुआ तो नरगिस के लिए एक सीट को खाली रखा गया था।

और पढ़ेंः सूर्यवंशम के 21 साल / फिल्म में रेखा ने दी थी दो अभिनेत्रियों के लिए आवाज़, पढ़ें फिल्म से जुड़े ऐसे ही अनसुने किस्से


Like it? Share with your friends!

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये