उपासना सिंह

1 min


कपिल शर्मा की हॉट एंड सेक्सी बुआ या एक कामयाब अदाकारा  -उपासना सिंह

बॉलीवुड की मूवी जुदाई मे गूंगी लड़की के किरदार से लाइम लाइट मे आई उपासना सिंह को जन्मदिन की हार्दिक बधाई। इनका जन्म 29  जून, 1975 को होशियारपुर मे हुआ था। उपासना सिंह ऑन स्क्रीन एक तो एक गवार पंजाबी महिला यानि कपिल की बुआ का रोल निभाती दिखती हैं। मगर असल ज़िन्दगी मे ये एक काफी अनुभवी अदाकारा हैं। जिन्होंने पंजाब विश्वविद्यालय से ड्रामेटिक आर्ट में मास्टर डिग्री ली है।  इन्होनें मात्र 7 वर्ष की उम्र से दूरदर्शन पर प्रोग्राम देना शुरू कर दिया था। 12-13 वर्ष की उम्र में अपनी लंबी कठकाठी होने से हीरोइन का रोल भी स्टेज व अन्य कार्यक्रम में करने लगी। कॉलेज के दिनों में इनकी मां इनके लिए सबसे बड़ी प्रेरणा थी जिन्होंने इन्हे हर कदम पर सहयोग किया। और इन्होनें उनके सहयोग से हिन्दी, उर्दू, पंजाबी मे कई ड्रामों में अभिनय किया। बस वहीँ से उपासना के दिल मे फिल्मों मे हीरोइन बनने का सपना जन्म लेने लगा और देखते ही देखते वे आज दर्जनों फिल्में (हर भाषा में), दर्जनों धारवाहिकों में काम करके अपनी सफलता का डंका बजा रही है।

इन्होनें अपने फ़िल्मी करियर शुरुआत एक अभिनेत्री के रूप मे 1986 में राजश्री प्रोडक्शन की फिल्म बाबुल से की। जिसमे इनके काम को काफी सराहा गया फिर ये 1988 मे राजस्थानी फिल्म “बाई चली सासरिये” मे नजर आई और फिल्म सुपरहिट रही। निर्देशक असरानी के साथ निर्माता “केसी बोकड़िया” की फिल्म ‘अहमदाबाद नो रिक्शावालो’ एवं पंजाबी फिल्म ‘बदला जट्टी दा’ की तो सफलता का लंबा सिलसिला शुरू हो गया। ये एक ऐसी अभिनेत्री बन गई, जो तीन भाषा, तीन सुपरहिट फिल्में दी।  फिर ‘रामवती’ में डाकू की भूमिका ने इनकी सफलता के ग्राफ को आगे बढ़ा दिया। उसके बाद उपासना सिंह ने आज तक लगभग 42 भोजपुरी फिल्मों में काम किया है। इतना ही नहीं ‘फूलवती’, ‘मैं हूं गीता’ ‘गंगा का वचन’, ‘इंसाफ की देवी’ ‘खून का सिंदूर’ ने तो इन्हें लेडी अमिताभ बना दिया। इसके अलावा इन्होनें कई हिंदी फिल्में और टीवी शोज भी किये जैसे फिल्म हैं डर, जवानी ज़िंदाबाद,  लोफर, जुदाई, मैं प्रेम की दीवानी हूँ, मुझसे शादी करोगी, ऐतराज़, ओल्ड ईस गोल्ड, माय फ्रेंड गणेश, गोलमाल  रिटर्न्स और हंगामा व टीवी सीरियल हैं राजा की आएगी बरात, परी हूँ  मैं, मायका, ये मेरी लाइफ है, बानी,   सोनपरी, संतोषी और कपिल शर्मा का शो जिसमे ये बुआ बनकर आई और बहुत यश प्राप्त किया। उपासना सिंह ने अब तक पंजाबी के साथ भोजपुरी, मराठी, राजस्थानी, गुजराती सभी तरह की फिल्मों मे और कई धा‍रावाहिकों में काम करके अपनी लम्बी छोड़ी फैन फॉलोइंग बनाई है और दर्शकों को हंसा-हसाकर लोटपोट करने का इनका ये काम आज तक जारी है। और इनके जन्मदिन पर हमारी ये शुभ कामना है की आगे भी यूँ ही हंसती और हंसाती रहें ।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये