Advertisement

Advertisement

मैं बहुत खुशनसीब हूं की मुझे इतने बड़े एक्टर्स के साथ काम करने का मौका मिला- उत्कर्ष शर्मा 

0 77

Advertisement

गदर में बाल कलाकार की भूमिका निभाने से लेकर जीनियस में रोमांटिक किरदार निभाने वाले उत्कर्ष शर्मा से खास बातचीत।

चाइल्ड आर्टिस्ट से लेकर जीनियस तक का सफर कैसा रहा ?

– बहुत ही रोमांचक रहा क्योंकि लोगों को अपना पैशन ढूंढ़ने में बहुत टाइम लग जाता है, मैं लक्की था कि बचपन में ही मौका मिला, ग़दर जैसी बड़ी फिल्म में काम करने का.  जैसे-जैसे बड़ा हुआ बोर्डस ख़त्म होने के बाद डैड को असिस्ट करने लगा. वीर फिल्म में 15 साल का था. मैं  तब स्कूल में पढ़ता करता था. फिर मैं फिल्म स्कूल में गया. बचपन से फिल्मों से रिलेटेड हर काम मझे पसंद था चाहे वो डायरेक्शन हो, एडिटिंग हो, राइटिंग हो, मुझे इस काम से बहुत प्यार है इसलिए अब तक बहुत मज़ा आया. और ये सफर  आगे भी बहुत रोमांचक रहेगा क्योंकि इसी फील्ड में रहना है।

आपके फादर के साथ पर्सनल और प्रोफेशनल रिलेशन में कितना डिफरेंस था ?

– ज्यादा डिफरेंस नहीं है क्योंकि पापा हर टाइम अपने काम के बारे में सोचते रहते है तो उनसे ज्यादातर फिल्मों से रिलेटेड बातें ही होती हैं. तो हमारा जो फादर सन बॉंडिंग  है वो फिल्मो के ऊपर ही है. वो हमेशा मेरे फस्र्ट गुरु रहेंगे. वो सेट पर बहुत डिमांडिंग होते है अपने एक्टर्स से, अपने क्रू से, क्योंकि मैं उन्हें सेट पर बचपन में ही देख चुका था , टीनेजर के टाइम पर भी काम किया तो एक एडल्ट की तरह मुझे पता था की वो मुझसे क्या चाहते हैं तो उनके साथ काफी अच्छा एक्सपीरियंस रहा।

आपके फादर डायरेक्टर है तो उन्हें देखकर कभी लगा की आपको भी डायरेक्शन करने चाहिए ?

– डायरेक्शन का तो अभी कुछ सोचा नहीं है, पर यूनिवर्सिटी में मैंने एक फिल्म डायरेक्ट की थी,      यू एस में जो वहाँ पर काफी फेस्टिवल्स में गयी थी. उस मूवी के जो एक्टर्स थे उनको नेटफ्लिक्स पर काफी शोज मिले हैं. तो मेरा कॉन्फिडेंस काफी बूस्ट हुआ और मैं एक डायरेक्टर का बेटा हूँ तो मैंने डायरेक्टर की लाइफ ज्यादा नज़दीक से देखी है. उन्होंने इतने एक्टर्स को लॉंच किया है. जब वो उन्हें ट्रेन्ड करते थे तो मैं हमेशा आस पास रहता था।

ग़दर,वीर और जीनियस में इतने बड़े एक्टर्स के साथ काम करके आपने क्या सीखा ?

– पहली बात तो मैं बहुत खुशनसीब हूँ की मुझे इतने बड़े एक्टर्स के साथ काम करने का मौका मिला. चाहे सनी देओल हो या अमरीश पुरी या फिर नवाज़ आप बस उन्हें देखो की वो काम कैसे कर रहे है.  और बिना बात किये भी आप उनसे बहुत कुछ सीख सकते हो जो आपको कोई स्कूल नहीं सीखा सकता. सबसे बड़ी बात है की जिन एक्टर्स के साथ मैंने काम किया है वो बहुत हम्बल रहे हैं उनकी वो चीज़ मैंने सीखी है उनसे।

बेस्ट डेब्यू अवाॅर्ड मिलने के बाद कैसे लग रहा है ?

– ये मिड डे का अवाॅर्ड था जो मुझे मिला. ये बहुत बड़ा प्लेटफार्म है और उनसे स्वीकृति मिलना स्पेशली जब आप शुरू कर रहे हो तो बहुत कॉन्फिडेंस बढ़ता है. उससे भी ज्यादा आपकी चॉइसेस पर यकीन दिलाता है. आप हमेशा सोचते हो कि मैंने जो वो काम किया था क्या ठीक था? कही न कही इन सब चीज़ो से खुद पर भरोसा बढ़ जाता है।

आपके अपकमिंग प्रोजेक्ट्स कौन से हैं?

– अभी तीन प्रोजेक्ट है जिसके बारे  में मैं अभी कुछ बता नहीं सकता. एक काफी बड़ी फिल्म है. बाकी रोमांटिक कॉमेडीज़ है जिसके बारे में  जल्दी बताऊंगा आपको।

फैन्स के लिए क्या मैसेज देना चाहेंगे ?

– फैन्स के लिए यही मैसेज है  कि उनके सपोर्ट के बिना शायद जो भी मुझे मिला है वो नहीं मिलता. उनका ही सपोर्ट, उनका प्यार आपको मोटिवेटेड रखता है. क्योंकि उनका सपोर्ट उनका प्यार न हो तो मज़ा नहीं आता. सोशल मीडिया पर अगर दो लफ्ज़ भी पॉजिटिव मिल जाते है तो एक सैटिस्फैक्शन मिलती है क्योंकि उन्ही के लिए परफॉर्म करते हैं हम तो वो खुश हो तो अच्छा लगता है।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.

Advertisement

Advertisement

Leave a Reply