INTERVIEW: यहां मैं रानी या प्रीति किसी का भी रोल करना चाहूंगी – वानी कपूर

1 min


यशराज बैनर की खोज वानी कपूर ने इसी बैनर की फिल्म ‘शुद्ध देसी रोमांस’ से अपने कॅरियर की शुरूआत की थी। इस बीच उसे एक दक्षिण भारतीय फिल्म करने का भी अवसर मिला। खैर अब वानी आदित्य चोपड़ा के निर्देशन की फिल्म ‘बेफिक्र’  में रणवीर सिंह के अपोजिट दिखाई दे रही है। इस सप्ताह रिलीज इस फिल्म को लेकर वानी का क्या कहना है।

आदित्य चौपड़ा के निर्देशन में काम करने के बारे में क्या कहना है?

इससे पहले मैं शुद्ध देसी…..में मनीष शर्मा के साथ काम कर चुकी हूं। लेकिन आदित्य सर की बात की जाये तो ये यच है कि यशराज में काम करना अलग बात है और आदित्य सर के निर्देशन में अलग बात। आदित्य सर दूसरों से बहुत अलग हैं। मैने देखा कि सेट पर वे छोटी छोटी बातों पर भी गौर करते थे। फिल्म को लेकर उनका पैशन उनका जज़्बा कमाल का था ऐसी फिल्म का मुझे पार्ट बनने का अवसर हासिल हुआ। इस बात को लेकर मुझे अपने आपसे ही जलन हो रही थी।ranveer-singh_vaani-kaopor

रणवीर सिंह एक मस्तमौला शरारती किस्म का स्टार है। उसके साथ काम करने का अनुभव कैसा रहा?

रणवीर के बारे में कुछ कहने से पहले मैं पहले एक कहानी सुनाना चाहती हूं। मेरे स्कूल डे में एक लड़का होता था, जो मेरी बस में आता था वो हर रोज मुझे बहुत तंग करता था। जैसे वो कभी मुझे धक्का दे देता था, कभी बुरी तरह किसी बात को लेकर चिड़ा देता था। रणवीर ने सेट पर मुझे उस लड़के की याद दिला दी थी। रणवीर भी उस लड़के की तरह हर वक्त मेरे साथ कुछ न कुछ करता रहता था। उधर आदित्य सर चिल्लाते रहते थे कि अरे मत लड़ो, मत ऐसा करो, कुछ काम करो। मेरे दो अनमाल रतन वगैरह वगैरह, लेकिन मेरी और रणवीर की बनती भी है। वो वाकई  मुझे बहुत पसंद है। दरअसल वो दिल का बहुत साफ है इसलिये मैं उसकी कोई  भी बात दिल पर नहीं लेती, मुझे पता है कि वो दिल का बहुत अच्छा इन्सान है, बहुत केयरिंग है क्योंकि जब काम की बात आती है तो आपको एक अलग रणवीर नजर आने लगेगा । वो काम के प्रति बहुत ही डैडीकेटिड है ।vaani-_befikre

मौजूदा किरदार आपसे कितना मिलता जुलता है ?

भूमिका में मैं पेरिस में जन्मी पली और बड़ी हुई हूं इसलिये मॉड हूं जबकि मैं दिल्ली से हूं और सिमलेरिटी ये है कि मेरी खुद की मॉड्रन अपब्रिगिंग हुई है। मेरा परिवार पूरी तरह से आधुनिक है। हम काफी कुछ पूरा परिवार एक साथ बैठकर करते हैं,देखते हैं। जंहा तक मेरे किरदार सायरा की बात की जाये तो वो बहुत ही कूल है। वैसे भी बहुत सारी चीजें मैने सायरा से सीखी हैं आप कह सकते हैं कि ये किरदार निभाने के बाद खुद मुझमें काफी चेंजिंग आई हैं ।

पिछले दिनों खबर थी कि आपने अपनी नाक की सर्जरी करवाई है?

वो खबर मैने भी सुनी थी। अगर मुझे वो शख्स मिल जाये तो मैं उससे जरूर पूछना चाहूंगी कि यार इस खबर को सच कैसे किया जाये। सच बात तो ये है कि मेरे पास सर्जरी के लिये पैसे ही नहीं है इसलिये प्लीज आप मेरी तरफ से लिख दीजीये कि मैने कोई सर्जरी नहीं करवाई। वरना इस खबर को कोई न कोई आगे पहुंचाता ही रहेगा।vaani-kapoor_

यशराज में करते हुये क्या कभी रानी मुखर्जी से मिलने का अवसर मिला?

जी हां। उनसे मिलने के बाद पता चला कि वे कितने अच्छे स्वभाव की महिला हैं। उन्होंने ‘बेफिक्रे’ देखने के बाद स्वंय मिलकर फिल्म और मेरे काम की खुल कर तारीफ की।

यशराज बैनर की कौन कौन सी फिल्में पसंद हैं ?

मुझे बैंड बाजा बारात बहुत पसंद है। इस फिल्म का रीमेक मैने साउथ में किया था। दम लगा के हईशा मुझे पसंद है, वीर ज़ारा मुझे काफी पसंद है, ये फिल्म अगर दौबारा बनती है तो मैं इसमें से रानी, या प्रीति किसी का भी रोल करना चाहूंगी।

 

SHARE

Mayapuri