‘वैलेंटाइन डे’ को’ हंसी फैलाओ डे’ में बदल देना चाहिए’ दयाबेन और जेठालाल 

1 min


हमेशा हँसते और दूसरो को हंसाते रहने वाली टीवी की सबसे मशहूर जोड़ी है  ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ के  दयाबेन और जेठालाल। इनका प्यार इतना दिलचस्प है की दोनों के नाम एकसाथ जुड़ सा गया  है दया-जेठा। कोई भी परिस्थिति हो दोनों खुश रहने का जरिया तलाश ही लेते है। अपने पति के लिए अपने जान पर भी खेल जाती है दया तो अपने पत्नी के चेहरे पर मुस्कान लाने के लिए कुछ भी कर जाते है जेठालाल।

वैलेंटाइन डेके खास दिन के लिए दयाबेन यानि दिशा वकानी कहती है की “हर पति और पत्नी को दया और जेठा की तरह होना चाहिए, क्योंकि दया और जेठा कोई भी परिस्थिति हो खुश रहने का जरिया तलाश लेते है।”

वैलेंटाइन डेपर जेठालाल यानि दिलीप जोशी का कहना है कि “मेरा मनना है की दिल की बात किसी को बोलने के लिए 14 फरवरी का इन्तजार क्यों करना। जब दिल बोले, उससे अपने दिल की बात बोल दो। मेरे ख्याल से इस वैलेंटाइन डे को हो सके तो ‘हंसी फैलाओ डे’ में बदल देना चाहिए। 14 फरवरी को माता-पिता, भाई, बहन, बच्चे, पत्नी, दोस्त सबके चहरे पर हंसी दो।”


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये