बॉलीवुड के कुछ ऐसे सुपरस्टार जिन्हें पहले ज़रूरत है कोरोना वैक्सीन की

1 min


Dilip kumar

ढलती शाम के सितारे जिन्हें  पहले ज़रूरत है कोरोना वैक्सीन की !
– शरद राय

किसको वैक्सीन पहले दी जाएगी?

Lata Mangeskar

आजकल कोविड -19 के मुकाबले के लिए जंहा पूरी दुनियां में वैक्सीन पहले ले आने की होड़ है, वहीं बहस का एक मुद्दा यह भी बना हुआ है कि किसको वैक्सीन पहले दी जाएगी?  हम बॉलीवुड के पत्रकार भी इस माथापच्ची से बाज़ नहीं आते। लिहाज़ा हमने तफतीश किया कि वे कौन से सितारे हैं जिनको आज सबसे पहले वैक्सीन दिए जाने की ज़रूरत है। आइए, पर्दे की मुहर बन चुके उन सितारों पर एक नज़र आप भी दौड़ाइए:

दिलीप  कुमार : इनके बारे में  बताने की ज़रूरत है क्या?  हिंदी फिल्मों के शहंशाह दिलीप साहब सिनेमा की धरोहर जैसे हैं। 98 साल (11 दिसम्बर 1922) पूरा कर रहा यह सुप्रीमो सितारा अंतरिक्ष की आकाश गंगा में रहकर रोशनी बिखेरने की  वजाय धरती पर हमारे साथ हैं, यही हमारा सौभाग्य है। मुम्बई में पालिहिल में रहते हैं वह, पर शान भारत की हैं।उनके आवास की ओर निगाहें बड़े फख्र से उठती हैं। लेकिन, खुद उनकी स्थिति कैसी है यह देखकर दुख होता है। वह किसी को पहचानते तक नहीं।जहां बैठे हैं, बैठे रहते हैं। उनकी पत्नी अभिनेत्री सायरा बानो जी पूरे मन क्रम से उनका ध्यान रखती हैं। इस अवस्था मे, उनकी सुरक्षा के लिए क्या किया जाना चाहिए, सायरा जी कर रही हैं। परिवार में कोरोना से एक हादसा भी हो चुका है। शायद बॉलीवुड में इस समय कोरोना वैक्सीन की ज़रूरत सबसे पहले किसको दिए जाने की है बताने की ज़रूरत नहीं है।

लता मंगेशकर : आवाज की इस सम्राज्ञी का जोड़ दुनिया भर में कोई है, अगर यह पूछा जाए तो आपका भी जवाब होगा कोई नहीं है। पैडर रोड के अपने घर (प्रभु कुंज में ) 91 वर्षीय लता जी एक अकेली ज़िन्दगी जीती हैं। वह  2009 में जेल फ़िल्म का गाना गाने के बाद से एक तरह खुद को  रिटायर घोषितकर चुकी हैं। यह ईश्वर की कृपा है कि लता जी स्वस्थ हैं लेकिन, उम्र एक ऐसा फैक्टर है कि कोरोना से बचने का संदेश देने वाली लताजी को भी कोरोना का टीका  लगाया जाना जरूरी है।

चंद्रशेखर : इसी गत 7 जुलाई को हिंदी सिनेमा के इस लीजेंड ने 97 साल पूरे किए हैं। फ़िल्म ’सुरंग’ से पर्दे पर नायक बनकर उतरे इस अभिनेता ने 112 फिल्मों में काम किया है। वह रामानंद सागर की ’ रामायण’ के सुमंत भी रहे हैं। सन 2000 मे फिल्म ’खौफ’ करने के बाद से वह रिटायर लाइफ जी रहे हैं। उनके पुत्र अशोक शेखर जो फिल्मों के निर्माता हैं, पिता के लिए कोरोना- वैक्सीन की  कोई भी कीमत चुकाने के लिए तैयार हैं।

Shashi kala

शशिकला : 4 अगस्त 1932 को पैदा हुई शशिकला 88 वर्ष की हैं पर्दे पर अपने विशेष तेवरों  के लिए मशहूर इस एक्ट्रेस की पिछली फिल्म 2005 में आई थी ’पद्मश्री लालू प्रसाद यादव’। शशिकला को कॉपी करने वाली खलनायिकाओं की इनदिनों  टीवी सीरियलों में भरमार  है।

रमेश  देव: 90  पार के अभी नेताओं के लिए लोग अब कहते हैं कि वे खत्म हो चुके हैं। लेकिन उनका सिनेमा को दिया गया योगदान याद किया जाए तो आज के अभिनेताओं के लिए किसी माइल स्टोन से कम नही हैं। हिंदी- मराठी फिल्मों  में बतौर एक्टर काम कर चुके रमेश देव मराठी फिल्मों के निर्माता बन गए हैं । बतौर अभिनेता वह 2013 में फ़िल्म ’चंडी’ में दिखाई दिए थे।

कामिनी  कौशल : 24 फरबरी 1927 को लाहौर (पाकिस्तान) में पैदा हुई कामिनी कौशल आज 93 वर्ष की हो चुकी हैं और आजकल पुणे में रहती हैं। उनकी पिछली फिल्म शाहरूख- दीपिका अभिनीत 2013 में आयी थी ’चेन्नई एक्सप्रेस’। वह चिल्ड्रेन फ़िल्म सोसाइटी से जुड़ी रही हैं और बच्चों के लिए कई फिल्में बना चुकी हैं। पिछले दिनों उनके अस्वस्थ रहने की चर्चा रही थी।

सुलोचना: पर्दे की इस भाव पूर्ण मां को निरूपा राय के समकक्ष देखा जाता है। वह 92 साल की हो चुकी हैं और मुम्बई में प्रभादेवी में रहती हैं। संजय खान की फ़िल्म ’काला धंधा गोरे लोग’ करने के बाद से वह  पर्दे से दूरी रखने लगी थी। आजकल स्वास्थ खराब रहता है  और उनको भी बॉलीवुड की धरोहर के रूप में स्थान दिया जाता है।

कोरोना के इस संक्रमण काल मे इन फिल्मी विभूतियों की देखभाल करना और उनको सुरक्षित रखना हमारा फ़र्ज़ है। हम चाहेंगे कि जब भी वैक्सीन आए इनको पहले दिया जाना चाहिए।

SHARE

Mayapuri