अशोक कुमार – भूत की कहानी

1 min


मायापुरी अंक, 57, 1975

जिन दिनों बॉम्बे टॉकीज के ‘महल’ (सितारे-अशोक कुमार, मधुबाला) का निर्माण हो रहा था। स्टूडियो में भूत के आस्तित्व की बड़ी चर्चा थी। लोगों का विचार था कि बॉम्बे टॉकीज के संस्थापक स्व. हिमांशुराय का भूत रात को चक्कर लगाया करता है। काली पेंट और सफेद शर्ट में उस भूत को लोगों ने चलता फिरता देखा था। एक बार रात की शिफ्ट में शूटिंग चल रही थी। अशोक कुमार ऊपरी मंजिल पर बिछौने पर पड़े हुए थे और उन्हें उस समय चाय पीने की तीव्र इच्छा हो रही थी। स्पाट ब्वॉय को आदेश दिया एक कप स्ट्रांग चाय बनाकर ला।

लड़का चाय लेकर आ रहा था कि उसने काली पेंट और सफेद कमीज पहने एक आकृति को चलते फिरते हुए देखा उस आकृति की चाल बेअवाज थी। बड़े आहिस्ता-आहिस्ता चल रही थी लड़का यह सब देखकर डर गया और उसकी जोर से चीख निकल गई भूत भूत इस खौफ़ और घबराहट में उसके हाथ से कप गिर गया।

अशोक कुमार अपने रूम में से तुरंत बाहर निकल आए और दौड़ते हुए उस लड़के के पास पहुंचे क्या है भई क्या है?

साहब, मैंने यहां से अभी भूत को जाते हुए देखा है ? लड़का बात करते करते थर थर कांपने लगा। अशोक कुमार ने उसे हिम्मत दी। इस पर लड़का उनसे बोलने लगा।

साहब आप अगर यहां सोये तो उसमें जोखिम है। बेहतर है कि आप आर्ट विभाग में जाकर सो जाएं। वहां गौवादा काम भी कर रहे हैं और लिखा पढ़ी भी चल रही है। इस तरह आपकी रात भी आसानी से गुज़र जाएगी।

अशोक कुमार ने भी भूत की बातें सुन रखी थी इसलिए उनका मन भी भयभीत हो उठा और व ऊपरी मंजिल के कमरे से आर्ट डिपार्टमेंट में आ गए। लेकिन वहां गौवादा (बी.एन. टैगोर) कहीं दिखाई नही दिये। हां, टेबल पर उनके बनाए हुए कुछ स्कैच जरूर पड़े हुए थे।

अशोक कुमार ने थोड़ी देर वहां गौवादा की प्रतीक्षा की जब वह जल्दी लौट कर नही आए तो वह वापस अपने कमरे में आ गए और आकर सो गए और सुबह जल्दी उठकर गौबादा के पास नाश्ता करने पंहुच गए और जब वहां नाश्ता लगा दिया गया तो अशोक कुमार ने गौवादा से एकाएक कहा।

गौवादा आप रात को अपना काम छोड़कर लोगों को क्यों डराते हैं ? रात में आपने स्पॉट ब्वॉय को बहुत डरा दिया था।

गौबादा हंस पड़े बोले ओह तो आपको पता चल गया अरे भई ऐसा न करूं तो मेरी रात कैसे गुजरे लोग मानने लगे कि रात को यहां स्व हिमांशु राय का भूत नजर आता है कि मैं उनकी मान्यता को आघात पहुंचाना नही चाहता था।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये