एक्टिंग की भूख मुझ पर हावी रही – विद्या बालन

1 min


मैने अपनी जिंदगी हमेशा अपने तरीके से जी है और एक्टिंग को हमेशा ही एक पैशन के रूप में देखा है फिर चाहे वो सीरियल हो, विज्ञापन हो फिर कोई फिल्म, जिसमें मैं अपना शत प्रतिशत देती हूं। एक अभिनेत्री होने के साथ साथ मैं समाज के प्रति अपना दायित्व भी पूरा करना चाहती हूं क्योंकि समाज के प्रति हर किसी की बहुत बड़ी जिम्मेदारी है, यह कहना था बॉलीवुड अदाकारा विद्या बालन का जो मारवाह स्टूडियो के छात्रों से मिलने पंहुची। उन्होंने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा मैं आप सब को जल्दी ही मुंबई में अपने साथ काम करते हुए देखना चाहती हूं। मैं जब स्कूल में पढ़ती थी तब मुझ पर एक्टिंग की भूख बार बार हावी होती थी। मैंने फिल्मी कैरियर को इसलिए चुना क्योंकि जब मैं अपने किरदार से बोर होने लगूं तो फिल्मी किरदार को जीकर खुशी हासिल कर लेती हूं। मैं आप लोगों की तरह ट्रेंड कलाकार नहीं हूं मुझे जैसे जैसे काम मिलता गया मैं उसी तरीके से सीखती गयी।

Sujoy Ghosh, Sandeep Marwah, Vidya Balan
Sujoy Ghosh, Sandeep Marwah, Vidya Balan

फिल्म निर्देशक सुजॉय घोष ने छात्रों को बताया कि आपका बुरा वक्त भी आपको अच्छा अनुभव दे सकता है जिससे सीख कर आप एक अच्छा मुकाम हासिल कर सकते हैं बशर्ते आप में काम करने की आग हो। आज आप जहां पर वहां से जितना सीख सकें उतना सीख लें खासतौर पर निर्देशन के क्षेत्र में। आंखे खुली रखो और अपने आस पास होने वाली कहानियों या घटनाओं को फिल्मी प्लॉट का रूप दे डालो।

Sujoy Ghosh, Sandeep Marwah, Vidya Balan
Sujoy Ghosh, Sandeep Marwah, Vidya Balan

मारवाह स्टूडियो के निदेशक संदीप मारवाह ने कहा हम सब की खुशकिस्मती है कि विद्या बालन जैसी खूबसूरत और टैलेटेंड अभिनेत्री आज यहां मौजूद है और जितना चाहे इनसे ज्ञान ले लो और यह ऐसी अदाकारा है जिनको अपने चेहरे पर एक्सप्रेशन लाने के लिए ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ती। इनकी जितनी भी फिल्में है सभी में इनका किरदार किसी हीरो से कम नहीं होता।

Sandeep Marwah, Vidya Balan
Sandeep Marwah, Vidya Balan

अंत में संदीप मारवाह ने विद्या बालन व सुजॉय घोष को अंतर्राष्ट्रीय फिल्म एंड टेलीविजन क्लब की आजीवन सदस्यता से सम्मानित किया।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये