त्योहार के दिन विद्या बालन का झुमका गिरा रे

1 min


full on 24 03 वैसे तो सजना संवरना हम स्त्रियों का जन्म सिद्ध अधिकार है लेकिन खास मौकों पर जैसे दीवाली पर हम सब ब्युटी क्वीन्स को मान देने में लग जाते हैं, यही हाल बॉलीवुड की नायिकाओं का भी है। विद्या बालन ने तो यह जग जाहिर कर दिया है कि जब ट्रेडिशनल त्योहार मनाया जाता है तो वह ट्रेडिशनल साज सजावट में बॉलीवुड की सारी नायिकाओं पर भारी पड़ती है। दीपावली के त्योहार पार्टी में विद्या या तो घेरदार भारी भरकम अनारकली में नज़र आती है या फिर सिल्क की जड़ायू साड़ी में। जब विद्या से पूछती हूँ कि दिवाली के साज श्रंगार में वह किसी चीज़ को सब से ज्यादा महत्व देती है तो वह खुशी से चहकने लगती है, मैं त्योहारों के मौकों पर पारंपरिक गहने पहनने की शौकीन हूँ। यह सही है कि स्त्रियों को हीरे के गहने बहुत पसंद है लेकिन मेरे हिसाब से पारंपरिक सोने के गहने एक स्त्री का सबसे प्यारा साथी होता है। मैं तो मानती हूं कि दीपावली पर कुछ ना कुछ सोने का आभूषण खरीदना बहुत शुभ होता है। हीरे चाहे कितना भी चमचमाये लेकिन वह सोने की खूबसूरती और चमक के आगे कभी ठहर नहीं सकती है। मुझे दीपावली के मौके पर सोने का कड़ा सोने का नेकपीस सोने का चोकर्स सोने की चूडि़याँ पहनना बहुत पसंद है। सब से जयादा पसन्द है तरह-तरह के भारी भरकम झुमके। चाहे सोने के हो, हीरे के हो चाँदी के हो या नकली हो। एक बार तो दिवाली के दिन ( जब स्टार नहीं थी) मैंने मुंबई के लोकल ट्रेन में बिकने वाले पाँच रूपये के झुमके भी खरीदे।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये