Vivek Anand Oberoi ने आय एम ऑक्सीजन मैन रिलीफ फंड में 25 लाख रुपये डोनेट किए।

1 min


Vivek Anand Oberoi
Vivek Anand Oberoi  आज बॉलीवुड के उन गिने-चुने अभिनेताओं में से एक हैं जो लगातार दो दशकों से भी अधिक समय से मानवीय कार्य कर रहे हैं। डॉ विवेक बिंद्रा के साथ उनकी नवीनतम पहल आय एम ऑक्सीजन मैन, शहर में चर्चा का विषय रहा है। कोविड -19 से पीड़ित लोगों की मदद करने के लिए हर जगह से लोग फण्ड राइजर में योगदान दे रहे हैं। लेकिन कम ही लोग जानते होंगे कि विवेक ने खुद आगे बढ़कर 25 लाख रुपये डोनेट किए हैं।
हाल ही में आय एम ऑक्सीजन मैन के लिए एक इवेंट के दौरान डॉ. विवेक बिंद्रा ने इस बात का खुलासा किया। उन्होंने खुलासा किया कि विवेक आनंद ओबेरॉय कितने उदार हैं और कैसे, बिना पलक झपकाए उन्होंने फंडराइज़र के लिए 25 लाख रुपये का योगदान दिया, लेकिन किसी को बताए बिना चुपचाप किया।
विवेक आनंद ओबेरॉय यह सुनिश्चित करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं कि इस दूसरी लहर में कोविड -19 से पीड़ित सभी लोगों को उचित चिकित्सा मिले। आय एम ऑक्सीजन मैन की इस पहल ने दिल्ली में 200 बिस्तरों वाला एक मुफ्त कोविड अस्पताल स्थापित और संचालित किया है, जो पहले ही 1000 से अधिक लोगों की जान बचा चुका है। डॉ विवेक बिंद्रा के साथ, वह यह सुनिश्चित करने की कोशिश कर रहे हैं कि भारत कोविड -19 की तीसरी लहर के लिए पूरी तरह से चिकित्सकीय रूप से सुसज्जित रहे।
आय एम ऑक्सीजन मैन पहल के अलावा, विवेक आनंद ओबेरॉय ने गरीब बच्चों के लिए सैकड़ों मुफ्त हार्ट सर्जरी को प्रायोजित किया है। उन्होंने 2.5 लाख से अधिक, वंचित बच्चों को कैंसर से बचाया है। उन्होंने 2200 से अधिक छोटी लड़कियों को बाल वेश्यावृत्ति से बचाया है, जिनमें से 50 से अधिक आज छात्रवृत्ति पर विदेश में पढ़ रही हैं।
विवेक आनंद ओबेरॉय कैंसर से जूझ रहे 3000 वंचित बच्चों को खाना खिलाने के लिए कैंसर पेशेंट्स एड एसोसिएशन के साथ काम कर रहे हैं। उनका मानना है कि उन्हें अपनी प्रतिरक्षा बनाने में मदद करने के लिए अच्छे पोषण की सख्त जरूरत है क्योंकि उन्हें कोविड संक्रमण उच्च जोखिम है।
हमें उम्मीद है कि यह शांत, नेक दिल अपने नेक लक्ष्यों को प्राप्त करेगा। हमें इन जैसे और लोगों की जरूरत है।
SHARE

Mayapuri